मुख्य समाचार:
  1. ‘वायु’ पर रेड अलर्ट! 170km/घंटे की रफ्तार से आएगा तूफान, गुजरात में 3 लाख लोगों को हटाया

‘वायु’ पर रेड अलर्ट! 170km/घंटे की रफ्तार से आएगा तूफान, गुजरात में 3 लाख लोगों को हटाया

Cyclone Vaayu: चक्रवाती तूफान के कारण बृहस्पतिवार सुबह 145 से 170 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से धूल भरी आंधी चलेगी.

June 12, 2019 2:14 PM
cyclone vaayu will hit gujarat mumbai goa kerala and karnata weather to be effected as heavy rainमदद करने के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की टीमें गुजरात पहुंचनी शुरू हो गई है.

Cyclone VAAYU: अरब सागर के मध्य पूर्वी क्षेत्र में पिछले दो दिनों से बने हवा के कम दबाव की स्थिति गहराने के कारण उत्पन्न चक्रवात ‘वायु’ बेहद गंभीर रूप ले चुका है. चक्रवात ‘वायु’ के ‘बेहद गंभीर चक्रवाती तूफान’ में बदल जाने के कारण महाराष्ट्र में मुंबई और पड़ोस के कुछ तटीय इलाकों में बुधवार सुबह तेज हवाएं चलीं. भारत मौसम विभाग (IMD)  ने यह जानकारी दी.  मौसम विभाग  ने चक्रवात की गंभीर स्थिति को अपडेट करते हुए कहा है कि चक्रवात पड़ोसी राज्य गुजरात के सौराष्ट्र और कच्छ क्षेत्रों की ओर लगातार बढ़ रहा है.

आईएमडी ने कहा, ‘‘चक्रवात वायु बेहद गंभीर चक्रवाती तूफान में बदल गया है. इसके कारण गुरूवार यानी 13 जून को सुबह 145 से 170 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से धूल भरी आंधी चलेगी.’’

3 लाख लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया

भारतीय वायु सेना के एक अधिकारी ने बताया कि पश्चिमी तट पर रह रहे लोगों को एहतियाती तौर पर निकालने में आईएएफ की मदद करने के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) की टीमें गुजरात पहुंचनी शुरू हो गई है. गुजरात में हाई अलर्ट के चलमे अबतक 3 लाख लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया गया है. आईएमडी ने बताया कि चक्रवाती तूफान के कारण अरब सागर में तेज लहरें उठ रही हैं जो तटीय इलाकों की ओर बढ़ रही हैं. एक अधिकारी ने पूर्व में बताया था कि भारतीय तटरक्षक बल, नौसेना, सेना और वायु सेना की इकाइयों को आपात स्थिति के लिए तैयार रखा गया है और निगरानी विमान और हेलीकॉप्टर हवाई सुरक्षा के लिए अभियान चला रहे हैं.

कैसा होगा तूफान

मौसम विभाग ने कहा कि उत्तर की ओर बढ़ता ‘वायु’ 13 जून को सुबह गुजरात के तटीय इलाकों में पोरबंदर से महुवा, वेरावल और दीव क्षेत्र को प्रभावित करेगा. इसके बाद तूफानी हवाओं की गति धीरे धीरे मंद पड़ना शुरु हो जायेगी. तटीय क्षेत्रों में मछुआरों को अगले कुछ दिनों तक समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है. साथ ही बंदरगाहों को खतरे के संकेत और सूचना जारी करने को कहा गया है.

बुलेटिन के अनुसार चक्रवात के दौरान कच्छ, देवभूमि द्वारका, पोरबंदर, जूनागढ़, दीव, गीर सोमनाथ, अमरेली और भावनगर जिलों के तटीय क्षेत्र में एक से डेढ़ मीटर ऊंची समुद्री लहरें उठने की आशंका है. उल्लेखनीय है कि गत मई में चक्रवात ‘फेनी’ ने ओडिशा तट पर तबाही मचाई थी. इसमें लगभग 60 लोगों की मौत हुई थी.

cyclone vaayu will hit gujarat mumbai goa kerala and karnata weather to be effected as heavy rain

इन राज्यों पर पड़ेगा असर

मौसम की जानकारी देने वाली कंपनी स्काइमेट का कहना है कि पूर्व-मध्य और उसके आसपास के दक्षिण-पूर्वी अरब सागर के भागों पर बना डीप डिप्रेशन मंगलवार को चक्रवात वायु में बदल चुका है. स्काइमेट के अनुसार, इस समय विंड बैंड्स और व्यवस्थित हो रहे हैं. यहां तक कि, संभावित ट्रॉपिकल तूफान भी अनुकूल स्थिति से अत्यधिक अनुकूल मौसम स्थितियों की तरफ बढ़ रहा है.

मौसम विभाग IMD ने कहा कि ‘वायु’ तूफान का असर कोंकण और गोवा में भी देखने को मिलेगा. 14 जून तक गोवा में भारी बारिश होने की वार्निंग जारी की गई है. महाराष्ट्र और गोवा के अलावा कर्नाटक, केरल में में भारी बारिश की संभावना है. तटीय क्षेत्रों जैसे लक्षद्वीप, कर्नाटक, केरल, गुजरात और मुबंई में मछुआरों को IMD ने अगले कुछ दिनों तक समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है.

हालांकि राजस्थान, मध्य प्रदेश, विदर्भ और दक्षिण हरियाणा और उत्तर प्रदेश में अगले दो दिन हीट वेव चलने की जानकारी IMD द्वारा दी गई है.

(सोर्स – PTI,  स्काइमेट, IMD)

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop