सर्वाधिक पढ़ी गईं

Cyclone Yaas के चलते ओडिशा में लैंडफाल शुरू, 5.8 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर किया गया शिफ्ट

Cyclone Yaas Latest Updates: साइक्लोन Yaas के चलते आज बुधवार 26 मई को ओडिशा में लैंडफाल शुरू हो गया.

Updated: May 26, 2021 12:26 PM
Cyclone Yaas begins landfall with wind speed of 130-140 kmphओडिशा के भद्रक जिले में स्थित धर्मा पोर्ट पर आज सुबह 9 बजे चक्रवाती तूफान के चलते लैंडफाल शुरू हो गया. (Image- PTI)

चक्रवात ताउते के बाद अब यास को लेकर एलर्ट जारी किया गया है. इस साइक्लोन के चलते आज बुधवार 26 मई को ओडिशा में लैंडफाल शुरू हो गया. ऑफिशियल्स द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक ओडिशा के भद्रक जिले में स्थित धर्मा पोर्ट पर आज सुबह 9 बजे चक्रवाती तूफान के चलते लैंडफाल शुरू हो गया. ऑफिशियल्स द्वारा प्राप्त जानकारी के मुताबिक बालासोर से करीब 50 किमी दूर बहंगा ब्लॉक के पास बहंगा के दक्षिण और धमरा के उत्तर में स्थित तट पर लैंडफाल शुरू हुआ है.
डॉप्लर रडार डेटा के मुताबिक लैंडफाल के दौरान हवा 130-140 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से बह रही थी और कभी-कभी 155 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से झोंका आया. भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने इससे पहले अनुमान लगाया था कि लैंडफाल के दौरान हवा 155-165 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से बहेगी और इसमें 185 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से झोंके आएंगे.

COVID-19 in India: 1 दिन में कोरोना के 2.08 लाख केस, 4157 मौतें; डेथ रेट घटकर 1.13 फीसदी

आईएमडी के डीजी मृत्युंजय मोहपात्रा के मुताबिक कल सुबह तक साइक्लोनम झारखंड पहुंच जाएगा. यास के चलते पिछले 24 घंटे से ओडिशा में भारी बारिश हो रही है. उत्तर ओडिशा और कोस्टल ओडिशा में आज अत्यधिक भारी बारिश जारी रहने का अनुमान है. पश्चिम बांगाल मं भारी बारिश जारी रह सकती है. झारखंड में भी भारी बारिश का अनुमान है. इसके अलावा कल और परसों बिहार, पश्चिम बंगाल के सब-हिमालयन इलाकों में और सिक्किम में आज और परसों भारी बारिश हो सकती है. असम और मेघालय में आज भारी बारिश हो सकती है.

5.8 लाख लोगों को किया गया शिप्ट

ओडिशा के स्पेशल रिलीफ कमिश्नर पीके जेना ने बताया कि लैंडफाल प्रॉसेस शुरू हो चुका है और इसमें तीन-चार घंटे तक यह प्रक्रिया जारी रहेगा. जेना के मुताबिक इसका सबसे अधिक असर बालासोर और भद्रक जिले में रहेगा. उन्होंने जानकारी दी कि 5.80 लाख लोगों को सुरक्षित ठिकानों पर पहुंचा दिया गया है. जेना ने जानकारी दी कि अनुमान से कुछ घंटे बाद लैंडफाल प्रॉसेस शुरू हुआ और सिस्टम की चाल भी 15-16 किमी प्रति घंटे से घटकर 12 किमी प्रति घंटे रह गई है.

रात 2 बजे के बाद और मजबूत नहीं हुआ तूफान

जेना ने जानकारी दी कि साइक्लोन रात 2 बजे के बाद से और मजबूत (इंटेंसिफाई) नहीं हुआ है. हवाएं 165 किमी प्रति घंटे की बजाय 130-140 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से बह रही थी. इसके अलावा कुछ पेड़ों के उखड़ने के अलावा किसी बड़े नुकसान की कोई जानकारी सामने नहीं आई है.
पश्चिम बंगाल की बात करें तो कोलकाता ऑफिशियल्स के मुताबिक पूर्वी मिदनापुर और साउथ 24 परगना में तूफान के चलते तटीय और निचले इलाकों में पानी भर चुका है. तटीय इलाकों में नदियों में पानी का स्तर खतरनाक स्तर तक बढ़ गया है. ईस्ट मिदनापुर के दीघा के कोस्टल रिजॉर्ट टाउन में अधिकतम 90 किमी प्रति घंटे, साउथ 24 परगना के फ्रेजरगंज में 68 किमी प्रति घंटे और कोलकाता में अधिकतम 62 किमी प्रति घंटे की अधिकतम स्पीड से हवा बह रही थी. दक्षिण बंगाल के कुछ इलाकों में मंगलवार की रात अच्छी मात्रा में बारिश हुई है. भुबनेश्वर स्थित रीजनल मीटियरोलॉजिकल सेंटर के वैज्ञानिक उमाशंकर दाश ने बताया कि ओडिशा के कुछ इलाकों में भी अच्छी बारिश हुई है. मौसम विभाग के अधिकारियों के मुताबिक हाई स्टॉर्म के पीछे फुल-मून एक्टिविटी भी एक वजह है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Cyclone Yaas के चलते ओडिशा में लैंडफाल शुरू, 5.8 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर किया गया शिफ्ट

Go to Top