सर्वाधिक पढ़ी गईं

तमिलनाडु तट से कल शाम तक टकरा सकता है चक्रवात ‘निवार’, पुडुचेरी में धारा 144; बचाव, राहत पर सरकार मुस्तैद

तमिलनाडु और पुडुचेरी में कल यानी 25 नवंबर को चक्रवाती तूफान टकराने की आशंका को लेकर केंद्र से लेकर राज्य सरकार सभी आवश्यक तैयारियां कर रही हैं.

November 24, 2020 3:38 PM
CYCLONE storm NIVAR WILL CROSS TAMILNADU AND PUDUCHERRY TOMORROW AND MAY HAEVY RAINFALL PM MODI TALKED TO STATE CMचक्रवाती तूफान निवार कल शाम तमिलनाडु और पुडुचेरी में पहुंच सकता है.

तमिलनाडु और पुडुचेरी तट से कल यानी 25 नवंबर को चक्रवाती तूफान ‘निवार’ के टकराने की आशंका को लेकर केंद्र से लेकर राज्य सरकार सभी आवश्यक तैयारियां कर रही हैं. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने इसे लेकर ट्वीट किया है कि चक्रवाती तूफान ‘निवार’ बुधवार शाम तमिलनाडु और पुडुचेरी में पहुंच सकता है. इसे लेकर पीएम मोदी ने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ईके पलानीस्वामी और पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणस्वामी से बातचीत किया. पीएम मोदी ने प्रभावित क्षेत्र में रहने वाले लोगों की सुरक्षा की कामना करते हुए हरसंभव सहयोग का आश्वासन दिया है.

तमिलाडु की राजधानी चेन्नई के कुछ हिस्सों में बारिश शुरू भी हो चुकी है.

110 किमी/घंटे की रफ्तार से गुजरेगा निवार

मौसम विज्ञान विभाग के ट्वीट के मुताबिक चक्रवाती तूफान ‘निवार’ बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पश्चिम और पुडुचेरी से 410 किमी दक्षिण-पूर्व व चेन्नई से 450 किमी दक्षिण-पूर्व में पिछले तीन घंटे से लगातार स्थिर बना हुआ है. अगले 24 घंटे में इसके चक्रवाती तूफान बनने की संभावना है और कल शाम को यह 100-110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से कराईकल और मामल्लपुरम के बीच तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटों से गुजरने का पूर्वानुमान है.
इस चक्रवाती तूफान के कारण 24-26 नंवबर तक तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में बादलों की गरज के साथ बारिश होने की संभावना है. इसके अलावा दक्षिणी तट आंध्र प्रदेश, रायलसीमा पर 25-26 नवंबर को और तेलंगाना में 26 नवंबर को बारिश होने की संभावना है. तमिलनाडु और पुडुचेरी में के उत्तरी इलाकों में भारी बारिश होने की आशंका है.

आवश्यक वस्तुओं के भंडार की सलाह

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने इसे लेकर एक समीक्षा बैठक की और अपने कैबिनेट सहयोगियों एवं अधिकारियों को पूरी तरह सतर्क रहने और मौसम प्रणाली के कारण हो सकने वाले नुकसान को न्यूनतम करने के लिए जरूरी कदम उठाने को कहा है. मुख्यमंत्री ने कहा है कि एनडीआरएफ के छह दल कुड्डालोर और दो दल चेन्नई में तैनात होने चाहिए. राजस्व मंत्री आर बी उदयकुमार ने कहा है कि निचले इलाकों में रह रहे लोगों को तत्काल राहत शिविरों में चले जाना चाहिए और जिन इलाकों में भारी बारिश होने की आशंका है, वहां लोगों को आवश्यक वस्तुओं का भंडार रखना चाहिए.

अगले आदेश तक परिवहन प्रभावित

निवार को लेकर तमिलनाडु सरकार ने सोमवार को हालात की समीक्षा की और जिला प्रशासनों को सतर्क रहने को कहा है. इसके अलावा अगला आदेश आने तक जिलों के भीतर और एक जिले से दूसरे जिले तक बस सेवाएं निलंबित हो चुकी है. कुछ जिलों में ट्रेन सेवा भी आंशिक और पूर्ण रूप से रद्द कर दी गई है.

पुडुचेरी में धारा 144 लागू

चक्रवाती तूफान की आशंका को देखते हुए पुडुचेरी में डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट ने आज रात 9 बजे से 26 नवंबर की सुबह 6 बजे तक धारा 144 लागू कर दिया है. यह आदेश पूरे पुडुचेरी में लागू होगा. सभी दुकानें बंद रहेंगी. सिर्फ मिल्क स्टेशंस, पेट्रोल स्टेशंस और फॉर्मेसीखुली रहेंगी.

NDRF के 30 दल करेंगे मदद

चक्रवाती तूफान निवार के मद्देनजर राहत राहत और बचाव कार्य शुरू करने के लिए एनडीआरएफ के 30 दलों को तैयार किया गया है. एनडीआरएफ के एक दल में करीब 35 से 45 जवान होते है. जवानों की संख्या प्रभावित क्षेत्रों में काम को देखते हुए निर्धारित की जाती है. इनके पास पेड़ व खंभों को काटने की मशीनें, सामान्य दवाएं और प्रभावितों की मदद के लिए अन्य संसाधन होते हैं. इन दलों को प्रभावित क्षेत्रों से स्थानीय लोगों को निकालने में सहायता पहुंचाने समेत राहत और बचाव कार्यों के लिए स्थानीय अधिकारियों के साथ समन्वय करते हुए तैनात किया जाएगा.

कैबिनेट सचिव राजीव गौबा की अध्यक्षता वाली राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति ने तूफान के मद्देनजर अनेक उपायों पर विचार करने को कहा है. इसके अलावा संबंधित राज्य सरकारों समेत अनेक पक्षों को प्रभावित क्षेत्रों में किसी की जान नहीं जाने देने और सामान्य स्थिति जल्द बहाल करने का निर्देश दिया है.

मछुआरों को पानी में नहीं जाने की सलाह

आंध्र प्रदेश के आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कहा कि बंगाल की खाड़ी में गहरे दबाव का क्षेत्र तूफान में बदल सकता है और 25 नवंबर को उत्तर तमिलनाडु तथा दक्षिण आंध्र के बीच तटीय क्षेत्र को पार कर सकता है. इसे लेकर राज्य आपदा प्रबंधन आयुक्त के कन्ना बाबू ने कहा कि समुद्र में लहरें तेज होंगी और मछुआरों को तीन दिन तक पानी में नहीं जाना चाहिए. आईएमडी ने 24-26 नवंबर तक तटों से दूर रहने को कहा है और कहा है कि जो लोग समुद्र में चले गए हैं, वे वापस चलें आएं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. तमिलनाडु तट से कल शाम तक टकरा सकता है चक्रवात ‘निवार’, पुडुचेरी में धारा 144; बचाव, राहत पर सरकार मुस्तैद

Go to Top