मुख्य समाचार:

दोहरी मार! जनवरी में खुदरा महंगाई 6 साल के टॉप पर, दिसंबर में औद्योगिक उत्पादन 0.3% घटा

जनवरी 2020 में खुदरा मुद्रास्फीति बढ़कर 7.59 फीसदी पर जा पहुंची.

February 13, 2020 12:15 AM
CPI: Retail Inflation increased in january, reaches to near 6 year high of 7.59 percentImage: PTI

खुदरा महंगाई के मोर्चे पर एक बार फिर झटका लगा है. जनवरी 2020 में खुदरा मुद्रास्फीति बढ़कर 7.59 फीसदी पर जा पहुंची. यह लगभग 6 साल का उच्च स्तर है. इसकी वजह सब्जी, दालें और मांस, मछली जैसे खाने-पीने का सामान महंगा होना रहा. इससे पहले मई 2014 में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति 8.33 फीसदी थी. दिसंबर 2019 में खुदरा महंगाई 7.35 फीसदी के स्तर पर थी. पिछले साल जनवरी माह में यह 1.97 फीसदी दर्ज की गई थी.

जनवरी में खाद्य महंगाई 13.63 फीसदी दर्ज की गई, जो जनवरी 2019 में (-)2.24 फीसदी थी. हालांकि दिसंबर 2019 के 14.19 फीसदी के स्तर से यह कम रही है. सब्जियों की महंगाई पिछले माह 50.19 फीसदी दर्ज की गई. दालों व अन्य संबंधित उत्पादों की खुदरा महंगाई 16.71 फीसदी रही. अनाज व संबंधित उत्पादों की महंगाई जनवरी में 5.25 फीसदी दर्ज की गई.

मांस और मछली जैसे अधिक प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थों की महंगाई दर आलोच्य महीने में बढ़कर 10.50 फीसदी रही, जबकि अंडे के मूल्य में 10.41 फीसदी का उछाल आया. आंकड़े के अनुसार खाद्य और पेय पदार्थ श्रेणी में महंगाई दर 11.79 फीसदी रही.

औद्योगिक उत्पादन घटा

औद्योगि​क उत्पादन के मोर्चे पर भी दिसंबर में एक बार फिर मार झेलनी पड़ी है. दिसंबर 2019 में औद्योगिक उत्पादन 0.3 फीसदी घट गया. इसकी वजह मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में सुस्ती रही. एक साल पहले दिसंबर 2018 में इसमें 2.5 फीसदी की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई थी.  राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय के आंकड़ों के मुताबिक, मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर का उत्पादन दिसंबर में 1.2 फीसदी घट गया, जबकि दिसंबर 2018 में इसमें 2.9 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई थी. बिजली उत्पादन दिसंबर में 0.1 फीसदी घटा, जो दिसंबर 2018 में 4.5 फीसदी बढ़ा था. हालांकि खनन सेक्टर का उत्पादन 5.4 फीसदी बढ़ा, जो दिसंबर 2018 में 1 फीसदी घटा था. दिसंबर माह के आंकड़ों के अनुसार पूंजीगत वस्तुओं का उत्पादन 18.2 फीसदी घट गया. एक साल पहले इसी महीने में यह 4.2 फीसदी बढ़ा था.

अप्रैल-सितंबर का आंकड़ा

मौजूदा वित्त वर्ष की अप्रैल-सितंबर अवधि में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर 0.5 फीसदी कम रही, जबकि 2018-19 की समान अवधि में इसमें 4.7 फीसदी का इजाफा हुआ था. पिछले साल अगस्त, सितंबर और अक्टूबर लगातार तीन माह गिरावट में रहने के बाद नवंबर में औद्योगिक उत्पादन 1.8 फीसदी बढ़ा था. अगस्त 2019 में इसमें 1.4 फीसदी की गिरावट आई थी, जबकि सितंबर में यह 4.6 फीसदी और अक्टूबर में 4 फीसदी नीचे आया था.

Input: PTI

 

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. दोहरी मार! जनवरी में खुदरा महंगाई 6 साल के टॉप पर, दिसंबर में औद्योगिक उत्पादन 0.3% घटा

Go to Top