CoWin पोर्टल में जुड़ा नया फीचर, वैक्सीन लगवाने के लिए मिलेगा सिक्योरिटी कोड, जानिए क्या है यह अहम बदलाव

बिना वैक्सीन की डोज लगवाए कुछ लोगों को वैक्सीनेशन प्रमाणपत्र जारी होने की शिकायत को दूर करने के लिए CoWIN में एक नया फीचर जोड़ा गया है.

We have been having detailed technical discussions regarding certification, with the builders of the CoWin app and the NHS app, about both apps.
We have been having detailed technical discussions regarding certification, with the builders of the CoWin app and the NHS app, about both apps.

भारत में दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन कार्यक्रम चल रहा है. वैक्सीन की डोज लगवाने के लिए लोगों को Cowin Portal पर रजिस्ट्रेशन कराना होता है. कुछ यूजर्स ने शिकायत की थी कि इस पर रजिस्ट्रेशन कराने के बाद अगर उन्होंने किसी कारणवश टीका नहीं लगवा पाया तो भी उनका वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट मिल गया. इस शिकायत को दूर करने के लिए कोविन पोर्टल में नया फीचर जोड़ा गया है. अब जो भी शख्स कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराएगा और वैक्सीनेशन के लिए एक स्लॉट सेलेक्ट किया है, उन्हें एक चार अंकों का सिक्योरिटी कोड मिलेगा. वैक्सीनेशन केंद्र पर वैक्सीन की डोज लगवाने के लिए उन्हें यह सिक्योरिटी कोड पेश करना होगा.

Vaccination Drive: नजदीकी वैक्सीनेशन केंद्र पर खाली स्लॉट्स की मिलेगी जानकारी, यहां सेट कर सकते हैं एलर्ट

इस कारण Cowin में जोड़ा गया नया फीचर

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक यह शिकायत आई थी कि कुछ लोग कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने के बाद अगर किसी कारणवश वैक्सीन की डोज नहीं लगवा पाया तो भी उन्हें वैक्सीनेशन प्रमाणपत्र जारी हो गया. उन्हें इससे जुड़ा एसएमएमस मिल गया. मंत्रालय ने इस शिकायत की जांच करवाई तो पता चला कि वैक्सीन लगाने वाले ने गलती से रजिस्टर्ड नागरिकों को वैक्सीनेटेड पर मार्क कर दिया जिसकी वजह से यह समस्या हुई.

नए फीचर से इस तरह सुलझेगी समस्या

बिना वैक्सीन डोज लगाए कोरोना वैक्सीनेशन प्रमाणपत्र जारी होने की समस्या को हल करने के लिए नया फीचर जोड़ा गया है. शनिवार 8 मई से जो लोग कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करेंगे, उन्हें चार अंकों का एक सिक्योरिटी कोड मिलेगा. वैक्सीनेशन केंद्र पर वैक्सीन लगाने वाले से यह चार अंकों का कोड मांगा जाएगा औ फिर उसे कोविन पोर्टल पर भरा जाएगा, उसके बाद ही आगे की प्रक्रिया शुरू होगी. इस प्रकार बिना वैक्सीनेशन डोज के प्रमाणपत्र जारी होने की गलती नहीं हो सकेगी.
यह फीचर उसी प्रकार का है जैसे ओला के जरिए कैब बुकिंग करने पर चार अंकों का कोड जेनेरेट होता है जो कैबचालक को पता नहीं होता है. बिना कोड बताए यात्रा नहीं शुरू होती है. इसी प्रकार कुछ ई-कॉमर्स कंपनियां भी अपने ग्राहकों को वन टाइम पिन भेजती हैं जिसे डिलीवरी के समय बताना होता है. इससे गलत शख्स को डिलीवरी नहीं हो पाती है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Financial Express Telegram Financial Express is now on Telegram. Click here to join our channel and stay updated with the latest Biz news and updates.

TRENDING NOW

Business News