सर्वाधिक पढ़ी गईं

Covid-19 Update: कोरोना की बेलगाम बढ़त जारी, एक दिन में 3.86 लाख से ज्यादा नए मामले, 18+ के लिए अधिकांश राज्यों में टीके नहीं

Covid Vaccination Update: महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, गुजरात, राजस्थान, पंजाब, झारखंड, बिहार, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और जम्मू-कश्मीर समेत कई राज्यों ने साफ कर दिया है कि उन्हें अब तक 18 साल से ज्यादा के लोगों को लगाने के लिए कोरोना के टीके नहीं मिले हैं

Updated: Apr 30, 2021 12:51 PM
In fact, it may still not be too late to reverse the process. This is the time to stand by the states, not move away.In fact, it may still not be too late to reverse the process. This is the time to stand by the states, not move away.

Covid Updates: देश भर में कोरोना महामारी की दूसरी लहर बहुत खतरनाक साबित हो रही है. केंद्रीय हेल्थ मिनिस्ट्री द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 3.86 लाख से अधिक नए कोरोना केसेज सामने आए हैं. इसके अलावा मरने वालों का आंकड़ा भी बढ़ रहा है. पिछले 24 घंटे में 3498 लोगों की कोरोना के चलते मौत हो चुकी है. इस बीच, देश में एलान के मुताबिक कोविड-19 के टीकाकरण का तीसरा चरण 1 मई से शुरू होना मुश्किल लग रहा है. क्योंकि ज्यादातर राज्यों के पास पर्याप्त टीके उपलब्ध नहीं हैं.

महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश, पंजाब और बिहार समेत कई राज्यों ने साफ कहा है कि वे 1 मई से तीसरे चरण का वैक्सीनेशन शुरू कर पाएंगे. तीसरे चरण में 18 से 44 वर्ष के लोगों को वैक्सीन लगाए जाने का एलान किया गया था. इसके लिए रजिस्ट्रेशन तो शुरू कर दिया गया है, लेकिन जब राज्यों को टीके ही नहीं मिले हैं, तो वे लोगों को लगाएंगे कहां से. जाहिर है कि तेजी से फैलती महामारी से निपटने की कोशिशों को टीके की कमी से बड़ा झटका लग सकता है.

25-30 लाख डोज मिलने पर ही महाराष्ट्र में लगेगी युवाओं को वैक्सीन

1 मई से तीसरे चरण का वैक्सीनेशन कार्यक्रम शुरू होने वाला है. हालांकि महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि जब तक वैक्सीन की 25-30 लाख डोज (वायल्स) नहीं मिल जाती है, तीसरे चरण का वैक्सीनेशन नहीं शुरू हो पाएगा. टोपे के मुताबिक इतना अगर स्टॉक मिल जाता है तो यह वैक्सीनेशन ड्राइव शुरू करने के लिए कम से कम पांच दिन तक पर्याप्त होगा. टोपे ने कहा कि अगर वैक्सीन मिलती है तो महाराष्ट्र के पास हर दिन 8 लाख लोगों को वैक्सीन लगाने का इंफ्रास्ट्रक्चर है. टोपे ने कहा कि महाराष्ट्र में वैक्सीन खराब होने की दर बहुत ही कम  सिर्फ 1 फीसदी ही है जो डिस्ट्रिब्यूटर्स और स्टॉफ के सावधानीपूर्वक मैनेजमेंट के चलते संभव हो पाया है.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने स्प्ष्ट रूप से कह दिया है कि राज्य सरकार वैक्सीन डोज के लिए पूरी खरीद राशि एक चेक में ही भुगतान कर देगी लेकिन इसके लिए वैक्सीन की सप्लाई सुनिश्चित की जानी चाहिए. मुंबई में तो हालात इतने खराब हैं कि वैक्सीन न होने के चलते शुक्रवार यानी आज से अगले तीन दिन के लिए टीकाकरण का कार्यक्रम पूरी तरह बंद करना पड़ा है.

महाराष्ट्र समेत कई राज्यों ने तीसरे चरण के लिए जताई असमर्थता

महाराष्ट्र के अलावा मध्य प्रदेश, गुजरात, राजस्थान, पंजाब, झारखंड, बिहार, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और जम्मू-कश्मीर भी कह चुके हैं कि वे 1 मई से 18+ का वैक्सीनेशन शुरू नहीं कर पाएंगे, क्योंकि वैक्सीन नहीं है, न ही जल्दी मिलने की उम्मीद है. उत्तर प्रदेश ने 50-50 लाख वैक्सीन के लिए सीरम इंस्टीट्यूट और कोवीशील्ड के लिए आर्डर कर दिया है लेकिन प्रदेश सरकार के मुताबिक युवाओं के लिए पर्याप्त वैक्सीन नहीं है जिसके चलते 4 करोड़ वैक्सीन के लिए ग्लोबल टेंडर निकाले जाएंगे.

उत्तर प्रदेश सरकार ने विदेशों से Covid Vaccine मंगाने का लिया फैसला, 4 करोड़ वैक्सीन के लिए जारी होगा ग्लोबल टेंडर

24 घंटे में 3.86 लाख से अधिक कोरोना केसेज

देश भर में पिछले 24 घंटे में 3,86,452 केसेज आए हैं और अब तक 1,87,62,976 केसेज आ चुके हैं जिसमें से 1,53,84,418 लोग ठीक हो चुके हैं. पिछले 24 घंटे में 2,97,540 लोग कोरोना को हरा चुके हैं. देश में अब कोरोना के 31,70,228 एक्टिव केसेज हैं. कोरोना संक्रमण के चलते देश भर में अब तक 2,08,330 लोगों की मौत हो चुकी है जिसमें से 3498 लोगों की पिछले 24 घंटे में मौत हुई है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Covid-19 Update: कोरोना की बेलगाम बढ़त जारी, एक दिन में 3.86 लाख से ज्यादा नए मामले, 18+ के लिए अधिकांश राज्यों में टीके नहीं

Go to Top