सर्वाधिक पढ़ी गईं

Covid-19 vaccine: तेज हो सकता है कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम, Sputnik-V के इमरजेंसी यूज को डॉ रेड्डी ने किया आवेदन

Covid-19 vaccine: डॉ रेड्डी लेबोरेटरीज ने ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DGCI) से रुस की कोरोना वैक्सीन Sputnik-V के आपातकालीन प्रयोग की मंजूरी मांगा है.

Updated: Feb 20, 2021 4:34 PM
Covid-19 vaccine Dr Reddy Laboratories seeks emergency use approval for Sputnik V covid 19 vaccination programmeकोरोना वायरस से लड़ने में Sputnik-V कोवीशील्ड और कोवैक्सीन से अधिक प्रभावी है. (File Photo)

Covid-19 vaccine: भारत में दुनिया का सबसे बड़ा Covid 19 Vaccination Drive 16 जनवरी से शुरू हो चुका है. अब तक 1 करोड़ से अधिक हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को इसके टीके लगाए जा चुके हैं. ऐसे समय में टीकाकरण की गति और तेज हो सकती है, अगर एक और टीके के प्रयोग की मंजूरी मिल जाती है. इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक डॉ रेड्डी लेबोरेटरीज ने ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DGCI) से रुस की कोरोना वैक्सीन Sputnik-V के आपातकालीन प्रयोग की मंजूरी मांगा है. इस समय देश में दो कोरोना वैक्सीन Covishield और Covaxin के जरिए देश भर में टीकाकरण कार्यक्रम चलाया जा रहा है.
Sputnik-V के तीसरे चरण का ट्रॉयल अभी बाकी है. हालांकि यह जानना जरूरी है कि इससे पहले डीडीसीआई ने हैदराबाद स्थित भारत बॉयोटेक द्वारा निर्मित स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सीन को तीसरे चरण के ह्यूमन ट्रॉयल्स के परिणामों के बिना ही आपातकालीन प्रयोग की मंजूरी दी थी. वर्तमान में भारत में चल रहे टीकाकरण में कोवैक्सीन के भी डोज लगाए जा रहे हैं.

यह भी पढ़ें- एक महीने में ही 14 रुपये महंगा हो गया प्याज, अगले महीने राहत की उम्मीद

तीसरे चरण का ट्रॉयल 21 फरवरी से शुरू होने की संभावना

रुस के गमेलेया नेशनल रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबॉयोलॉजी ने कोरोना वायरस के खिलाफ एक वैक्सीन तैयार किया है जिसका नाम प्रथम सोवियत सैटेलाइट के नाम पर रखा गया है. Sputnik V उन पहली वैक्सीनों में है जिसे कोरोना वायरस के खिलाफ यूरेशियन देशों में आपातकालीन प्रयोग को मंजूरी मिली. रुस की अथॉरिटीज के साथ मिलकर डॉ रेड्डी देश में इस वैक्सीन का 1500 से अधिक लोगों पर परीक्षण कर रही है. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक तीसरे चरण का ट्राॉयल 21 फरवरी से शुरू होने की संभावना है.

कोवीशील्ड और कोवैक्सीन से अधिक प्रभावी Sputnik V

कोरोना वायरस से लड़ने में रसियन वैक्सीन कोवीशील्ड और कोवैक्सीन से अधिक प्रभावी है. साइंटिफिक जर्नल लैसेंट में प्रकाशित अंतरिम परिणामों के मुताबिक Sputnik V 91.6 फीसदी प्रभावी है जो बाकी दोनों वैक्सीन की तुलना में बहुत अधिक है. कोवीशील्ड 53-79 फीसदी तक प्रभावी है जबकि कोवैक्सीन कितनी प्रभावी है, इसकी जानकारी उपलब्ध नहीं है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Covid-19 vaccine: तेज हो सकता है कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम, Sputnik-V के इमरजेंसी यूज को डॉ रेड्डी ने किया आवेदन

Go to Top