सर्वाधिक पढ़ी गईं

दिल्ली-NCR में वैक्सीन की भारी किल्लत, CoWin पर स्लॉट मिलने के बाद भी वापस लौटाए जा रहे लोग

टीकाकरण को लेकर लोगों को हो रही परेशानी के मामले भी सामने आ रहे हैं.

Updated: May 11, 2021 5:21 PM
covid-19 vaccination vaccine shortage in delhi NCR people are being returned back after getting slotटीकाकरण को लेकर लोगों को हो रही परेशानी के मामले भी सामने आ रहे हैं.

देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर का कहर जारी है. इस बीच कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान भी जारी है. लोगों का टीकाकरण कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सबसे अहम हथियार है. देश में इस समय 18 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों को टीका लगाया जा रहा है. लेकिन इस बीच टीकाकरण को लेकर लोगों को हो रही परेशानी के मामले भी सामने आ रहे हैं. दिल्ली-एनसीआर में कई जगह वैक्सीन की किल्लत है. और कोविन प्लेटफॉर्म के जरिए रजिस्ट्रेशन और अप्वॉइंटमेंट लेने के बाद भी लोगों को वैक्सीनेशन सेंटर से वापस लौटाया जा रहा है. इनमें 45 साल से ज्यादा उम्र के उन लोगों को ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, जिन्हें वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है और दूसरी डोज बाकी रह गई है.

अस्पतालों में स्टॉक की कमी

ऐसा ही एक मामला राजधानी दिल्ली के शाहदरा जिले में आने वाले सरकारी अस्पताल ईएसआई होस्पिटल, झिलमिल कॉलोनी का है. यहां अप्वॉइंटमेंट लेने के बाद भी टीका लगवाने के लिए आए लोगों को वापस लौटाया जा रहा है. यह मैंने निजी तौर पर अनुभव किया है. मेरे माता-पिता के लिए मैंने उनकी वैक्सीन की दूसरी डोज के लिए आज यानी मंगलवार को घर के सबसे नजदीकी इस अस्पताल में दोपहर 1 बजे से 3 बजे के स्लॉट में अप्वॉइंटमेंट लिया था. ( जिसका स्क्रीनशॉट नीचे दिया गया है) मेरे माता-पिता विजेंद्र वधवा और साधना वधवा समय पर दोपहर 1 बजे अस्पताल पहुंचे. उनके साथ कई दूसरे लोग भी मौजूद थे, जिन्होंने भी अपनी वैक्सीन की दूसरी डोज के लिए इसी स्लॉट में अप्वॉइंटमेंट ली थी. उन्हें अस्पताल के गार्ड द्वारा सूचित किया गया कि वे वापस लौट जाएं क्योंकि वैक्सीन का स्टॉक खत्म हो गया है.

जब उन्होंने विरोध किया और कहा कि वे इसे लेकर अस्पताल के किसी डॉक्टर से बात करना चाहते हैं क्योंकि उन्होंने पहले से अप्वॉइंटमेंट बुक की है. तो पहले उन्हें अस्पताल के गेट के अंदर जाने से मना किया गया. और बाद में, इसका विरोध करने पर अंदर जाने दिया गया, लेकिन अस्पताल का कोई डॉक्टर वैक्सीनेशन सेंटर पर मौजूद नहीं मिला. उन्हें गार्ड ने आगे बताया कि यहां सुबह 8 बजे आने पर ही उन्हें टीका मिल सकता है. क्योंकि टीका रोजाना सुबह-सुबह ही खत्म हो जाता है. उसने इसके पीछे बिना अप्वॉइंटमेंट लिए वॉक-इन के जरिए आए लोगों की भीड़ और पर्याप्त वैक्सीन की कमी को बताया.

दिल्ली सीएम केजरीवाल ने केंद्र से सभी कंपनियों को वैक्सीन का फॉर्मूला देने का किया अनुरोध, महाराष्ट्र में 18+ का रुक सकता है वैक्सीनेशन

टीकाकरण के बेहतर प्रबंधन की जरूरत

इसमें मुख्य सवाल यह उठता है कि लोगों को अप्वॉइंटमेंट दी क्यों जाती है, अगर सेंटर पर पर्याप्त वैक्सीन उपलब्ध नहीं है. क्या ऐसा नहीं होना चाहिए कि दिन में सेंटर पर जितनी वैक्सीन उपलब्ध हैं, उसके मुताबिक लोगों को अप्वॉइंटमेंट मिले. क्या है कोविन प्लेटफॉर्म की अव्यवस्था है या अस्पताल की. देश में अलग-अलग राज्यों और शहरों से ऐसी खबरें आ रही हैं. ऐसे में सरकार को टीकाकरण अभियान के प्रबंधन को बेहतर करने की जरूरत है, जिससे लोगों को आसानी से टीका लग सके. टीकाकरण महामारी को खत्म करने के लिए हमारे पास मौजूद एकमात्र हथियार है. ऐसे में तमाम केंद्र और राज्य की सरकारों को इस पर ध्यान देने की जरूरत है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. दिल्ली-NCR में वैक्सीन की भारी किल्लत, CoWin पर स्लॉट मिलने के बाद भी वापस लौटाए जा रहे लोग

Go to Top