सर्वाधिक पढ़ी गईं

महाराष्ट्र में धीमा पड़ा टीकाकरण तो आएगी कोरोना की तीसरी लहर, स्वास्थ्य विशेषज्ञों की बड़ी चेतावनी

महाराष्ट्र में वर्तमान में जारी टीकाकरण के धीमा होने से राज्य में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर आने की संभावना है.

Updated: Apr 28, 2021 9:37 PM
covid-19 vaccination need to be fastrack slowdown can cause third wave in maharashtra says expertsमहाराष्ट्र में वर्तमान में जारी टीकाकरण के धीमा होने से राज्य में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर आने की संभावना है.

Big Warning By Health Experts: महाराष्ट्र में वर्तमान में जारी टीकाकरण के धीमा होने से राज्य में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर आने की आशंका है. स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने बुधवार को यह बड़ी चेतावनी दी है. आज महाराष्ट्र सरकार ने कहा कि वह 1 मई से 18-44 साल के लोगों के लिए टीकाकरण अभियान नहीं शुरू कर रही है. इसकी वजह राज्य सरकार ने पर्याप्त डोज उपलब्ध नहीं होना बताया है. स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने पहले ही महाराष्ट्र में वैक्सीन की अपर्याप्त सप्लाई पर चिंता जाहिर की है. इस बीच मौजूदा लाभार्थियों के लिए भी डोज की किल्लत की खबरें आ रही हैं. इससे टीकाकरण अभियान धीमा हुआ है. कोरोना की तीसरी लहर की यह आशंका सारे देश के लिए चिंता की बात है, क्योंकि इस महामारी की दूसरी लहर भी महाराष्ट्र से शुरू हुई है.

दो-तिहाई आबादी का टीकाकरण जरूरी

राज्य के स्वास्थ्य विभाग से एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कोविड-19 को सही तौर पर केवल तभी हराया जा सकता है, जब टीकाकरण अभियान के तहत योग्य लोगों के दो-तिहाई को डोज मिल जाती है. उन्होंने आगे कहा कि महाराष्ट्र में टीकाकरण के लिए योग्य 9 करोड़ लोगों में से हमने अब तक 1.50 करोड़ से ज्यादा लोगों को कवर किया है, जो बहुत कम हैं.

उन्होंने टीकाकरण अभियान को तेज करने पर जोर दिया, जो 16 जनवरी को स्वास्थ्यकर्मियों के साथ शुरू हुआ था और बाद में इसे फ्रंटलाइन वर्कर्स और 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को शामिल किया गया था. उन्होंने चेतावनी दी कि अगर हम टीकाकरण की गति को तेज नहीं करते हैं, तो जल्द ही या बाद में लोग नौकरियों और काम के लिए बाहर निकलेंगे और इससे कोविड-19 की तीसरी लहर को बुलावा मिल सकता है.

Maruti Shutdown: मारुति के सभी प्लांट्स में 1 मई से काम बंद, पहले जून में होना था मेंटेनेन्स के लिए शटडाउन

नियमों में ढील ने लोगों को लापरवाह बनाया

स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि दिसंबर में नियमों में ढील ने लोगों को लापरवाह बना दिया और इससे फरवरी में कोविड-19 की दूसरी लहर को बुलावा मिला. हम अभी भी उससे पीड़ित हैं. उन्होंने कहा कि अगर हम जल्दी अपनी आबादी के बड़े हिस्से का टीकाकरण नहीं करते हैं, तो हम तीसरी लहर को आमंत्रण देंगे.

अप्रैल में अब तक राज्य में कोरोना के 15,53,922 नए मामले सामने आ चुके हैं और 11,281 लोगों की मौतें हुई हैं. टोपे ने बुधवार को कहा कि महाराष्ट्र सरकार को 20 मई से पहले भारत बायोटेक या सीरम इंस्टीट्यूट से वैक्सीन मिलने की उम्मीद है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. महाराष्ट्र में धीमा पड़ा टीकाकरण तो आएगी कोरोना की तीसरी लहर, स्वास्थ्य विशेषज्ञों की बड़ी चेतावनी

Go to Top