सर्वाधिक पढ़ी गईं

ग्रामीण इलाकों में 44% लोग कोविड-19 वैक्सीन के लिए पैसे देने को तैयार, 51% ने कोरोना वायरस को बताया चीन की साजिश: सर्वे

Covid-19 Pandemic: ग्रामीण भारत में करीब 44 फीसदी लोग कोविड-19 वैक्सीन के लिए भुगतान करने को तैयार हैं.

Updated: Dec 22, 2020 9:57 PM
Covid-19 44 percent people living in rural areas ready to pay for vaccine 51 percent consider coronavirus as conspiracy of chinaग्रामीण भारत में करीब 44 फीसदी लोग कोविड-19 वैक्सीन के लिए भुगतान करने को तैयार हैं. (Representational Image, Credit: PTI)

Covid-19 Pandemic: ग्रामीण भारत में करीब 44 फीसदी लोग कोविड-19 वैक्सीन के लिए भुगतान करने को तैयार हैं. जबकि भारत के गांवों में आधी से ज्यादा आबादी का मानना है कि कोरोना वायरस संकट चीन द्वारा एक साजिश है. मंगलवार को जारी एक सर्वे में यह बात सामने आई है. गांव कनेक्शन द्वारा किए गए सर्वे में 16 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश के 60 जिलों से 6,040 ग्रामीण लोग शामिल हुए.

18 फीसदी ने बताया सरकार की असफलता

सर्वे में 36 फीसदी लोगों ने कहा कि वे इसके लिए भुगतान नहीं करना चाहते हैं. बाकी 20 फीसदी ने कहा कि वैक्सीन के लिए भुगतान करने के बारे में उन्हें अभी फैसला लेना है. जो लोग भुगतान करने के लिए तैयार हैं, उनमें दो-तिहाई लोगों ने कहा कि वे वैक्सीन की दो डोज के लिए 500 रुपये तक का भुगतान कर सकते हैं, जब भी वह उपलब्ध हो.

इस बीच कम से कम 51 फीसदी ग्रामीण लोगों ने कोरोना वायरस संकट को चीन द्वारा साजिश कहा और करीब 18 फीसदी ने इसे सरकार की असफलता के तौर पर देखा. करीब 20 फीसदी ने कहा कि वे इसे भगवान का काम समझते हैं, 22 फीसदी ने महामारी के लिए लोगों की लापरवाही को जिम्मेदार ठहराया और 18 फीसदी लोगों ने कोई विचार साझा नहीं किया.

उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड समेत देश भर के कई राज्य शामिल

सर्वे को ग्रामीण मीडिया प्लेटफॉर्म के सर्वेक्षण करने वालों ने 1 दिसंबर और 10 दिसंबर के बीच किया. इसमें कहा गया है कि राज्यों का चुनाव, देश के सभी क्षेत्रों को कवर करते हुए, केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के डेटा के मुताबिक, कोविड-19 के प्रसार पर आधारित था. गांव कनेक्शन ने कहा कि सर्वे में 5 फीसदी गलती का मार्जिन और 95 फीसदी आत्मविश्वास का स्तर है. उत्तरी जोन में जिन राज्यों को कवर किया गया, उनमें उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, जम्मू-कश्मीर, हरियाणा शामिल हैं.

दक्षिण जोन के राज्यों में केरल, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक शामिल हैं. पश्चिम जोन के राज्यों में महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश शामिल हैं, जबकि पूर्वी-उत्तरपूर्वी जोन में ओडिशा, असम, पश्चिम बंगाल, अरुणाचल प्रदेश शामिल हैं. जवाब देने वाले लोगों में से करीब एक चौथाई ने कहा कि उनके घर में से कम से कम एक व्यक्ति का कोविड-19 टेस्टिंग के लिए सैंपल लिया गया था. ऐसे घरों का सबसे ज्यादा अनुपात पूर्वी और उत्तर-पूर्वी जोन में था, जबकि उत्तरी जोन में यह सबसे कम था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. ग्रामीण इलाकों में 44% लोग कोविड-19 वैक्सीन के लिए पैसे देने को तैयार, 51% ने कोरोना वायरस को बताया चीन की साजिश: सर्वे

Go to Top