मुख्य समाचार:

भारत में 34 हुए कोरोना वायरस के मामले, PM मोदी ने बैठक में समीक्षा की

देश में तीन और मामलों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि के साथ इसके मरीजों की संख्या बढ़कर अब 34 हो गई है.

Published: March 7, 2020 8:33 PM
coronavirus outbreak in india total thirty four confirmed cars prime minister narendra modi reviews in meetingदेश में तीन और मामलों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि के साथ इसके मरीजों की संख्या बढ़कर अब 34 हो गई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को देश में तीन और मामलों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि करते हुए बताया है कि इसके मरीजों की संख्या बढ़कर अब 34 हो गई है. मंत्रालय द्वारा जारी बयान के मुताबिक भारत में कोरोना वायरस के तीन नये मामले सामने आए हैं. इसके साथ ही इसके मरीजों की कुल संख्या 34 हो गई है. बयान के मुताबिक नये मामलों में दो मरीज लद्दाख और एक तमिलनाडु से है. लद्दाख के दोनों मरीज हाल ही में ईरान और तमिलनाडु का मरीज ओमान की यात्रा से लौटा है.

सभी मरीजों की स्थिति स्थिर

मंत्रालय ने सभी मरीजों की स्थिति को स्थिर बताया है. मंत्रालय से जानकारी के अनुसार भूटान में जिन दो अमेरिकी नागरिकों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है, उनके संपर्क में आए 150 से ज्यादा लोगों को एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम के तहत निगरानी में रखा गया है. इन लोगों ने भारत में भी विभिन्न स्थानों पर भ्रमण किया था.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को देश में कोरोना वायरस से उत्पन्न स्थिति की स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय सहित अन्य संबद्ध मंत्रालयों के साथ उच्च स्तरीय बैठक कर समीक्षा की और अधिकारियों को वायरस के और अधिक फैलने की स्थिति में संदिग्धों एवं मरीजों को अलग रखने के उपयुक्त स्थानों की पहचान कर इनकी उचित देखभाल के लिये सभी जरूरी उपाय करने के निर्देश दिए.

मंत्रालय द्वारा जारी बयान के मुताबिक बैठक में मोदी ने विशेषज्ञों की राय के हवाले से कहा कि लोगों को बड़े पैमाने पर भीड़ में एकत्र होने से यथासंभव बचने का परामर्श देना चाहए. साथ ही लोगों को इस बात से अवगत भी कराना चाहिए कि इस स्थिति में उन्हें क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए.

PM मोदी ने कोरोना वायरस को लेकर अफवाह से बचने का दिया सुझाव, परेशानी होने पर तुरंत डॉक्टर के पास जाने की दी सलाह

पीएम मोदी ने जागरुकता पर दिया जोर

प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सभी विभागों के अब तक के प्रयासों की सराहना करते हुए इस बात की जरूरत पर बल दिया कि कोरोना वायरस के संकट को देखते हुए भारत को इससे निपटने की पुख्ता कार्ययोजना बनानी होगी. उन्होंने कहा कि सभी विभागों को आपसी सामंजस्य से काम करना चाहिए और इसके संक्रमण से बचाव को लेकर जनजागरुकता भी करनी चाहिए.

मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए दुनिया भर में विकसित किए गए अब तक के सबसे बेहतर उपायों की पहचान कर इन्हें अपनाना चाहिए. इसके अलावा उन्होंने उपयुक्त कार्ययोजना को लागू करने की जरूरत पर बल देते हुये कहा कि त्वरित कार्रवाई ही संक्रमण को काबू में करने का व्यवहारिक उपाय है.

बैठक में मोदी ने संदिग्ध मामलों के शीघ्र सेंपल परीक्षण की व्यवस्था करने और ईरान में मौजूद भारतीय नागरिकों की स्वदेश वापसी यथाशीघ्र सुनिश्चित करने का भी निर्देश दिया. बता दें कि ईरान में अब तक 145 लोगों की कोरोना वायरस के संक्रमण से मौत हो गई है. बैठक में मौजूद स्वास्थ्य सचिव प्रीति सूदन ने मौजूदा स्थिति और इससे निपटने के लिए सभी संबद्ध मंत्रालयों द्वारा अब तक किए गए उपायों की विस्तार से जानकारी दी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. भारत में 34 हुए कोरोना वायरस के मामले, PM मोदी ने बैठक में समीक्षा की

Go to Top