मुख्य समाचार:

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में केजरीवाल का 5T प्लान, मरीजों के लिए तैयार किए 30,000 बेड

अरविंद केजरीवाल ने राजधानी में कोरोना को रोकने के लिए 5 मुख्य बिंदु बनाए हैं जिन्हें उन्होंने 5T प्लान नाम दिया है.

April 7, 2020 4:04 PM
coronavirus crisis delhi chief minister arvind kejriwal introduces 5T plan for battling pandemic testing tracing tracking teamwork treatment includedअरविंद केजरीवाल ने राजधानी में कोरोना को रोकने के लिए 5 मुख्य बिंदु बनाए हैं जिन्हें उन्होंने 5T प्लान नाम दिया है. (Image: ANI)

दिल्ली में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं और इनकी संख्या 500 के पार चली गई है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राजधानी में कोरोना को रोकने के लिए 5 मुख्य बिंदु बनाए हैं जिन्हें उन्होंने 5T प्लान नाम दिया है. केजरीवाल ने बताया कि कोरोना को रोकने के लिए उन्होंने कई एक्सपर्ट से बातचीत करने के बाद ये 5T प्लान बनाया है. ये 5T- टेस्टिंग, ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट, टीमवर्क और ट्रैकिंग हैं. इसके तहत कोरोना से संक्रमित लोगों के इलाज के लिए लगभग 30 हजार बेड तैयार किए गए हैं. केजरीवाल ने कहा कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि अगर हम कोरोना से तीन कदम आगे रहेंगे तो हम उससे जीत जाएंगे.

1. टेस्टिंग

दिल्ली सीएम केजरीवाल ने सबसे पहले टेस्टिंग के बारे में बात की. उन्होंने कहा कि दक्षिण कोरिया ने बड़े पैमाने पर टेस्टिंग कर हर एक व्यक्ति की पहचान की है. उनकी तरह ही बड़े पैमाने पर टेस्टिंग करने जा रहे हैं. दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली में हॉटस्पॉट क्षेत्रों में कोविड19 के लिए 1 लाख रैंडम टेस्ट किये जाएंगे. कोविड19 मरीजों के लिए अभी 2,950 बेड रिजर्व किये गए हैं. दिल्ली में अगर कोरोनावायरस के मामले बढ़ते हैं तो सरकार 12,000 होटल रूम को टेकओवर करेगी.

2. ट्रेसिंग

दूसरा T ट्रेसिंग है. ट्रेसिंग दिल्ली के अंदर बहुत अच्छे स्तर पर चल रही है. उन्होंने बताया कि वे इसमें पुलिस की मदद ले रहे हैं. उन्होंने पुलिस को 27,702 लोगों के फोन नंबर दिए हैं ये जिससे वे इस बात को पता करें कि वे लोग जो सेल्फ क्वारंटाइन में हैं, वे लोग घर में रह रहे हैं या नहीं.

3. ट्रीटमेंट

केजरीवाल ने बताया कि तीसरा T ट्रीटमेंट है, अभी तक दिल्ली में 525 केस है इस समय उन्होंने लगभग 3000 बेड की क्षमता तैयार कर ली है. LNJP अस्पताल, GBP अस्पताल और राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल को उन्होंने पूरी तरह से कोरोना अस्पताल घोषित कर दिया है. इस तरह से 2450 बेड सरकारी और 400 बेड निजी अस्पताल में है. उन्होंने बताया कि अगर दिल्ली में 30,000 एक्टिव मरीज होंगे, तो उन्होंने उसके लिए पूरी व्यवस्था की है.

30,000 एक्टिव केस में उनके पास 8000 बेड होंगे, उन अस्पतालों की पहचान कर ली गई है. जरूरत पड़ने पर होटलों में 12,000 कमरे भी ले लिए जाएंगे. जिन लोगों को हृदय,लीवर,कैंसर, मधुमेह की बीमारी और 50 साल से ज्यादा उम्र के मरीजों को अस्पतालों में रखा जाएगा. 50 साल से कम आयु के और छोटे लक्षणों वाले मरीजों को सभी चिकित्सा सुविधाओं के साथ होटल और धर्मशालाओं में रखा जाएगा. गंभीर मरीजों के लिए 8000 बेड की व्यवस्था की जाएगी.

COVID-19 CII सर्वे: लॉकडाउन के बाद 30% लोगों की जा सकती है नौकरी, बिगड़ेगी कंपनियों के मुनाफे की गणित

4. टीमवर्क

सीएम केजरीवाल ने बताया कि चौथा T टीमवर्क है. उन्होंने कहा कि उन्हें खुशी है कि आज सभी सरकारें टीम की तरह काम कर रही है. उन्होंने कहा कि उनकी इस टीम का अहम हिस्सा डॉक्टर और नर्स हैं उन्हें हमें बचना है और हमारे देश के लोग हमारे टीम का सबसे बड़ा हिस्सा है. उन्होंने बताया कि वे खुश हैं कि जिनके पास पैसा है वो मदद करने के लिए सामने आ रहे हैं.

5. ट्रैकिंग

पांचवा T ट्रैकिंग और मॉनिटरिंग है. केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के अंदर 24 घंटे में हर चीज जो उन्होंने प्लान बनाया है वो उस हिसाब से चल रही है या नहीं, इसे ट्रैक करना उनकी जिम्मेदारी है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. कोरोना के खिलाफ लड़ाई में केजरीवाल का 5T प्लान, मरीजों के लिए तैयार किए 30,000 बेड

Go to Top