सर्वाधिक पढ़ी गईं

भारत में क्यों घट रहे हैं कोरोना वायरस के मामले, एक्सपर्ट्स ने बताए कारण

देश में कोरोना वायरस के मामलों में पिछले महीने से कुछ गिरावट देखी गई है.

Updated: Oct 20, 2020 7:43 PM
coronavirus covid 19 cases declining in india know reason from expertsदेश में कोरोना वायरस के मामलों में पिछले महीने से कुछ गिरावट देखी गई है.

देश में कोरोना वायरस के मामलों में पिछले महीने से कुछ गिरावट देखी गई है. यह गिरावट सफर करने के प्रतिबंधों में ढील और दूसरे कामों के वापस सामान्य होना शुरू करने के बावजूद है. इससे ज्यादा रोचक है कि सरकार द्वारा नियुक्त वैज्ञानिक समिति जो भारत में कोरोना वायरस के ग्रोथ के ट्रेंड को देख रही है, उसने यह कहा कि पिछले महीने यह बीमारी अपने सबसे ऊंचे स्तर पर थी. समिति ने इस बारे में जानकारी नहीं दी कि कोरोना के मामलों में गिरावट किस वजह से आ रही है. इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, समिति के दो सदस्यों की इस पर कुछ प्रतिक्रियाएं सामने आई हैं.

लोगों की दूसरों को संक्रमित करने की क्षमता कम हुई

रिपोर्ट के मुताबिक, समिति के सदस्य प्रोफेसर मनिंद्रा अग्रवाल ने कहा कि आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु क्षेत्र में कुछ केस स्टडी की गई हैं. जरनल से संकेत मिला कि कोविड-19 से संक्रमित 70 फीसदी लोग अब संक्रमण को दूसरे लोगों को नहीं पहुंचा रहे हैं. वायरस लोगों की एक छोटी संख्या के जरिए फैल रहा था जिन्हें सुपर स्प्रेडर भी कहते हैं. अग्रवाल ने कहा कि ये लोग सामान्य तौर पर प्रकोप के शुरुआती चरणों में संक्रमित होते हैं और यह संभावना है कि लोग पहले संक्रमित हो गए थे और अब ये इम्यून बन गए हैं. बहुत थोड़े लोग बचे हैं जो दूसरों को वायरस का संक्रमण करेंगे. अग्रवाल ने कहा कि भारत के कोरोना वायरस के गिरते मामलों के पीछे यह एक संभावित कारण हो सकता है.

बता दें कि सुपर स्प्रेडर लोगों की बड़ी संख्या को संक्रमित कर सकते हैं. अग्रवाल ने बताया कि सुपर स्प्रेडर एक दिन में बहुत लोगों से बातचीत करते हैं, इसलिए ट्रांसमिशन की संभावना कम होती है. जब वह संक्रमण को फैला पाने की क्षमता नहीं रखते हैं, तो पॉजिटिव केस की नई संख्या घटती है.

कृषि कानून को लेकर बड़ा सर्वे, आधे से अधिक किसानों को नहीं पता क्यों कर रहे विरोध-समर्थन

लोगों का आपस में मिलना कम हुआ

कमेटी के दूसरे सदस्य प्रोफेसर गगनदीप कांग जो संक्रमित बीमारियों पर विशेषज्ञ और वेल्लोर के क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज में प्रोफेसर हैं, उन्होंने बताया कि प्रतिबंधों के लागू होने के साथ, लोग केवल उन लोगों से बाचचीत कर रहे हैं, जो उनके करीबी हैं. क्योंकि अनजान लोगों के साथ बहुत ज्यादा संवाद नहीं हो रहा है (उदाहरण के लिए, ट्रेन और बसों में), तो ट्रांसमिशन छोटे समूह में ही है.

कांग ने आगे कहा कि अभी भी बहुत सी चीजें साफ नहीं है और कारण को बताने के लिए ज्यादा डेटा की जरूरत है. उन्होंने कहा कि यूरोपीय देशों में इसे कुछ समय पहले अनुभव किया गया था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. भारत में क्यों घट रहे हैं कोरोना वायरस के मामले, एक्सपर्ट्स ने बताए कारण

Go to Top