सर्वाधिक पढ़ी गईं

कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट के फैसला का किया स्वागत, केजरीवाल ने शांति की अपील की

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर कांग्रेस ने कहा कि वह उच्चतम न्यायालय के फैसले का सम्मान करती है, वो लोगों से शांति एवं सामाजिक सौहार्द्र बनाए रखने की अपील करती है.

November 9, 2019 2:42 PM

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर कांग्रेस ने कहा कि वह उच्चतम न्यायालय के फैसले का सम्मान करती है, वो लोगों से शांति एवं सामाजिक सौहार्द्र बनाए रखने की अपील करती है. पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस राम मंदिर निर्माण के पक्ष में है. उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय का फैसला किसी एक व्यक्ति, समूह, समुदायों या राजनीतिक दलों की जीत या हार का मामला नहीं हो सकता.

अयोध्या मामले पर उच्चतम न्यायालय के निर्णय के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को कहा कि सभी समुदायों, पक्षों एवं नागरिकों को इसका सम्मान करना चाहिए और सौहार्द एवं भाईचारे को मजबूत करना चाहिए. प्रियंका ने ट्वीट कर कहा कि अयोध्या मुद्दे पर भारत की सर्वोच्च अदालत ने फैसला दिया है. सभी पक्षों, समुदायों और नागरिकों को इस फैसले का सम्मान करते हुए हमारी सदियों से चली आ रही मेलजोल की संस्कृति को बनाए रखना चाहिए. उन्होंमे कहा कि हम सबको एक होकर आपसी सौहार्द और भाईचारे को मजबूत करना होगा.

;

अरविंद केजरीवाल ने फैसले का स्वागत किया

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरंविंद केजरीवाल ने राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद मामले पर उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि इससे कई दशकों से जारी विवाद खत्म हुआ और साथ ही उन्होंने लोगों से शांति एवं सौहार्द बनाए रखने की अपील की. केजरीवाल ने ट्वीट किया कि सभी पक्षों की दलीलें सुनने के बाद उच्चतम न्यायालय की पीठ के पांचों न्यायाधीशों ने एकमत से आज अपना निर्णय दिया. हम उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हैं. कई दशकों के विवाद पर आज उच्चतम न्यायालय ने निर्णय दिया. वर्षों पुराना विवाद आज खत्म हुआ. मेरी सभी लोगों से अपील है कि शांति एवं सौहार्द बनाए रखें.

मोहन भागवत ने संयम रखने की अपील की

अयोध्या मामले पर उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने शनिवार को कहा कि दशकों तक चली लंबी न्यायिक प्रक्रिया के बाद यह विधिसम्मत और अंतिम निर्णय हुआ है और अब अतीत की बातों को भुलाकर सभी को मिलकर भव्य राममंदिर का निर्माण करना है. उन्होंने हालांकि काशी और मथुरा के सवाल पर सीधे जवाब नहीं देते हुए कहा कि आंदोलन करना संघ का काम नहीं है. उन्होंने देशवासियों से संयम बनाये रखने की अपील करते हुए कहा कि इस निर्णय को जय, पराजय की दृष्टि से नहीं देखना चाहिये. संघ प्रमुख ने कहा कि संपूर्ण देशवासियों से अनुरोध है कि विधि और संविधान की मर्यादा में रहकर संयमित और सात्विक रीति से अपने आनंद को अभिव्यक्त करें.

बीजेपी नेता उमा भारती ने कहा कि लाल कृष्ण आडवाणी का मंदिर की खातिर समर्पण ही भाजपा की सफलता का मूल है, पार्टी सत्ता में एक और बार आने जा रही है.

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती ने इस फैसले का सम्मान करते हुये कहा कि अब इस संबंध में सौहार्दपूर्ण वातावरण में आगे का काम होना चाहिए. मायावती ने शनिवार दोपहर को फैसले के बाद ट्वीट किया कि परमपूज्य बाबा साहेब डॉ. भीमराव आम्बेडकर के धर्मनिरपेक्ष संविधान के तहत माननीय उच्चतम न्यायालाय द्वारा रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद के सम्बंध में आज आम सहमति से दिए गए ऐतिहासिक फैसले का सभी को सम्मान करते हुए अब इस पर सौहार्दपूर्ण वातावरण में आगे काम करनी चाहिए, ऐसी अपील और सलाह है.

केंद्र में भाजपा के गठबंधन सहयोगी और केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने शनिवार को दावा किया कि अयोध्या विवाद पर फैसले से एक सदी से ज्यादा वक्त से चले आ रहे विवाद का अंत हो गया.

न्यायालय के फैसले को किसी की हार-जीत के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए: मोदी

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट के फैसला का किया स्वागत, केजरीवाल ने शांति की अपील की

Go to Top