सर्वाधिक पढ़ी गईं

बढ़ते कोरोना संक्रमण पर केंद्र का बड़ा फैसला; महाराष्ट्र, केरल समेत 7 राज्यों में भेज रही हाई लेवल टीम; दिये ये सुझाव

देश के कई राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले के चलते केंद्र सरकार ने मल्टी-डिसिपिलनरी हाई लेवल सेंट्रल टीम्स को भेजा है.

February 24, 2021 3:37 PM
Centre Rushes Multi-disciplinary High Level Central teams to States and UTs witnessing recent surge in cases and advises specific measures to be takenकेंद्र सरकार ने कोरोना की रोकथाम के लिए अपनाए जा रहे उपायों में किसी प्रकार की ढील होने पर भयावह स्थिति की आशंका जताई है. (File Photo- IE)

Covid-19 Cases in India: देश के कई राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले के चलते केंद्र सरकार ने मल्टी-डिसिपिलनरी हाई लेवल सेंट्रल टीम्स को भेजा है. इसके अलावा स्वास्थ्य सचिव ने 7 राज्यों/यूनियन टेरीटरीज को जरूरी उपाय अपनाने की सलाह दी है. जानकारी के मुताबिक केंद्र सरकार ने हाई लेवल टीमों को महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, गुजरात, पंजाब, कर्नाटक, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और जम्मू व कश्मीर में भेजा है. तीन सदस्यीय इस टीम का नेतृत्व हेल्थ मिनिस्ट्री में संयुक्त सचिव स्तर के अधिकारी कर रहे हैं.

ये टीमें राज्यों व यूनियन टेरीटरीज की सरकारों को कोरोना से निपटने और स्थिति को संभालने में मदद करेंगी. ये टीमें स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के कारणों का भी पता लगाएगी. इसके अलावा ये टीमें कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को थामनों के लिए स्थानीय हेल्थ अथॉरिटीज के साथ मिलकर काम करेंगी. इसके अलावा राज्यों व यूनियन टेरीटरीज को सलाह दी गई है कि वे नियमित तौर पर जिले स्तर के अधिकारियों के साथ मिलकर स्थिति का रिव्यू करें ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि कोविड को लेकर जो प्रबंध किए गए हैं, वे बेहतर हैं.

सिंपटोमैटिक निगेटिव्स का RT-PCR टेस्ट की सलाह

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने सात राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखकर कोरोना संक्रमण की चेन रोकने के लिए एग्रेसिव उपाय अपनाने को कहा गया है. इसके अलावा केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने आरटी-पीसीआर टेस्टिंग बढ़ाने को कहा है ताकि कोरोना संक्रमित लोगों का पहचान कर उन्हें बाकी लोगों से अलग किया जा सके. इन राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को सलाह दी गई है कि वे प्रभावित जिलों में आरटी-पीसीआर टेस्ट और रैपिड एंटीजन टेस्ट्स बढ़ाएं और एंटीजन टेस्ट्स में सिंपटोमैटिक निगेटिव्स का अनिवार्य रूप से आरटी-पीसीआर टेस्ट किया जाए. कोरोना पॉजिटिव निकलने पर संक्रमित लोगों को आइसोलेट/हॉस्पिटलाइज्ड किया जाएगा और उनके संपर्क में आए हुए लोगों को बिना देरी के टेस्टिंग की जाएगी.

यह भी पढ़ें- सिर्फ 5,000 रुपये निवेश कर पा सकते हैं शानदार रिटर्न? इस स्कीम में 9 मार्च तक है मौका

ढील देने पर केंद्र ने भयावह स्थिति की जताई आशंका

केंद्र सरकार ने इन राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से कहा कि संक्रमण की रोकथाम के लिए अगर किसी प्रकार की ढील की गई तो स्थिति भयावह हो सकती है क्योंकि कुछ देशों में नए स्ट्रेन आए हैं जो स्थिति को बिगाड़ सकते हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने 10 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को अलग से पत्र लिखकर इन टीमों को स्टेट विजिट्स पर डीब्रीफ के लिए समय उपलब्ध कराने को कहा है. टीम फील्ड अथॉरिटीज से मिलकर स्थिति का जायजा लेती है और चुनौतियों से निपटने में आने वाली परेशानियों को समझती है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. बढ़ते कोरोना संक्रमण पर केंद्र का बड़ा फैसला; महाराष्ट्र, केरल समेत 7 राज्यों में भेज रही हाई लेवल टीम; दिये ये सुझाव

Go to Top