सर्वाधिक पढ़ी गईं

CBSE के 10वीं के रिजल्ट में होगी देरी, बोर्ड ने अंक-तालिका भेजने की डेडलाइन बढ़ाई, अब 30 जून तक पूरा होगा काम

CBSE ने पहले 10वीं की अंक-तालिका 11 जून तक बोर्ड को सबमिट करने और नतीजे 20 जून तक घोषित करने का एलान किया था.

Updated: May 18, 2021 5:41 PM
CBSE extends deadline for calculating class 10 board marks in view of covid 19 situation and lockdownकेंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने स्कूलों के लिए कक्षा 10वीं के अंकों की गणना और बोर्ड को सब्मिट करने के लिए समयसीमा को 30 जून तक के लिए बढ़ा दिया है.

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने 0वीं कक्षा की अंक-तालिका तैयार करके जमा करने के लिए स्कूलों को दी गई डेडलाइन बढ़ा दी है. अब उन्हें इस काम के लिए 30 जून तक का वक्त दिया गया है. बोर्ड ने इससे पहले यह सारा काम 11 जून तक पूरा करने को कहा था. तब 10वीं के नतीजों का एलान 20 जून तक करने की बात भी कही गई थी. जाहिर है जब अंक-तालिका बनाने की डेडलाइन 30 जून कर दी गई है, तो नतीजे उसके बाद ही आएंगे. CBSE ने यह फैसला कई राज्यों में कोरोना महामारी की दूसरी लहर के कारण लागू लॉकडाउन और अध्यापकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उठाया है.

अध्यापकों की सुरक्षा और स्वास्थ्य को बताया प्राथमिकता

CBSE में कंट्रोलर ऑफ एग्जामिनेशन्स संयम भारद्वाज ने कहा कि सीबीएसई अध्यापकों की सुरक्षा और स्वास्थ्य को सबसे ज्यादा प्राथमिकता देता. उन्होंने आगे कहा कि महामारी की स्थिति को देखते हुए, महामारी की स्थिति, राज्यों में लॉकडाउन और अध्यापकों और मान्यता दिए गए स्कूलों के दूसरे स्टाफ कर्मचारियों की सुरक्षा को देखते हुए, बोर्ड ने तारीखों को बढ़ाने का फैसला किया है.

उन्होंने आगे कहा कि अंकों को बोर्ड को 30 जून तक सब्मिट करना होगा. बाकी कामों के लिए, रिजल्ट कमेटियां सीबीएसई द्वारा दी गई स्कीम के आधार पर अपना खुद का शेड्यूल बना सकती हैं. सीबीएसई ने इस महीने की शुरुआत में कक्षा 10वीं की बोर्ड परीक्षाओं की गणना के लिए पॉलिसी का एलान किया था, जिन्हें देश में कोविड-19 महामारी की स्थिति को देखते हुए रद्द कर दिया गया है.

COVID-19 Vaccination: कोरोना से रिकवर लोगों को 9 माह बाद लगेगी वैक्सीन! सरकारी पैनल का सुझाव

पॉलिसी के मुताबिक, जहां हर साल की तरह, हर विषय के 20 अंक आंतरिक आकलन के लिए होंगे, वहीं 80 अंकों को को छात्रों के पूरे साल में हुए अलग-अलग टेस्ट और परीक्षाओं के आधार पर कैलकुलेट किया जाएगा. बोर्ड ने स्कूलों से एक रिजल्ट कमेटी बनाने के लिए कहा था, जिसमें नतीजों को तय करने के लिए प्रिंसिपल और सात अध्यापक शामिल होंगे. स्कूल से पांच अध्यापक गणित, सामाजिक विज्ञान, विज्ञान और दो भाषाओं से होने चाहिए और स्कूल द्वारा पड़ोसी स्कूल से दो अध्यापकों को कमेटी के एक्सटर्नल मेंबर्स के तौर पर चुना जाना चाहिए.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. CBSE के 10वीं के रिजल्ट में होगी देरी, बोर्ड ने अंक-तालिका भेजने की डेडलाइन बढ़ाई, अब 30 जून तक पूरा होगा काम
Tags:CBSE

Go to Top