मुख्य समाचार:

CBSE, ICSE ने 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं को किया रद्द, स्कूल एग्जाम के आधार पर होगा आकलन

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने 10वीं और 12वीं की बची हुई परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला किया है.

Updated: Jun 25, 2020 4:49 PM
CBSE cancles remaining board exams for 10th and 12th class evaluation process based on school examsकेंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने 10वीं और 12वीं की बची हुई परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला किया है.

cbse 12th exam news: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने 10वीं और 12वीं की बची हुई परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला किया है. कक्षा 12वीं के छात्रों का आकलन स्कूल की आखिरी परीक्षाओं के आधार पर किया जाएगा. इसके लिए स्कीम को तैयार किया गया है. अगर छात्र बोर्ड द्वारा दिए गए अंकों से संतुष्ट नहीं होते हैं, तो वे बाद में प्रदर्शन को बेहतर करने के लिए बोर्ड की परीक्षा में भाग ले सकते हैं. जो छात्र बोर्ड की परीक्षाओं में प्रदर्शन बेहतर करने के लिए बैठते हैं, उनका वह अंतिम माना जाएगा. ICSE बोर्ड ने भी कक्षा 10वीं और 12वीं की परीक्षा को रद्द करने का फैसला किया है.

12वीं के छात्र स्थिति ठीक होने के बाद दे सकते हैं परीक्षा

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने सुप्रीम कोर्ट में यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि जैसे स्थिति ठीक होगी, हम उन छात्रों के लिए CBSE 12वीं की परीक्षाओं का संचालन करेंगे, जो इसका चुनाव करते हैं. केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में यह भी बताया कि कक्षा 10वीं की परीक्षा को बिना दोबारा एग्जाम लेने के प्रावधान के साथ रद्द किया जाता है. इसका आकन स्कूल की आखिरी तीन परीक्षाओं में प्रदर्शन के आधार पर होगा.

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र, CBSE को कक्षा 12वीं की परीक्षाओं को लेकर नया नोटिफिकेशन जारी करने और राज्य की बोर्ड परीक्षाओं को लेकर सफाई देने के लिए कहा है. अदालत कल मामले की सुनवाई को जारी रखेगी. सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने अदालत को बताया कि ICSE बोर्ड ने भी कक्षा 10वीं और 12वीं की परीक्षा को रद्द करने का फैसला किया है.

हालांकि, ICSE ने छात्रों के लिए बाद में परीक्षा देने के विकल्प पर सहमति नहीं दी है. उन्होंने कोर्ट को बताया कि दिल्ली, महाराष्ट्र और तमिलनाडु ने परीक्षाओं का संचालन करने में असमर्थता को जाहिर किया है.

CBSE 12वीं कक्षा के छात्रों को बिना परीक्षा लिए कर सकता है पास, स्पेशल मार्किंग स्कीम लाने की योजना

1 से 15 जुलाई तक होनी थी परीक्षाएं

बता दें कि केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने एलान किया था कि ये परीक्षाएं 1 जुलाई से 15 जुलाई तक होंगी. इससे पहले CBSE ने एलान किया था कि वह लॉकडाउन लागू होने के समय बची हुईं लगभग 90 बची हुई परीक्षाओं में से 29 विषयों के लिए पेपर लेगा. कक्षा 10 के लिए केवल उत्तर-पूर्वी दिल्ली के छात्रों के लिए परीक्षाएं होंगी जो दंगों की वजह से नहीं हो पाईं थीं.

12वीं कक्षा के लिए CBSE जिन विषयों की परीक्षाएं को लेना है, उनमें बिजनेस स्टडीज, भूगोल, हिंदी (कोर), हिंदी (इलेक्टिव), होम साइंस, सोशोलॉजी, कंप्यूटर साइंस, इंफॉर्मेशन प्रैक्टिस, इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी और बायो-टेक्नोलॉजी शामिल हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. करियर
  3. CBSE, ICSE ने 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं को किया रद्द, स्कूल एग्जाम के आधार पर होगा आकलन
Tags:CBSE

Go to Top