मुख्य समाचार:
  1. सरकार ने एथेनाल की कीमतें 25% बढ़ाई, चीनी मिलों को किसानों का बकाया चुकाने में मिलेगी मदद

सरकार ने एथेनाल की कीमतें 25% बढ़ाई, चीनी मिलों को किसानों का बकाया चुकाने में मिलेगी मदद

दूसरी ओर सरकार ने किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) सुनिश्चित करने के लिए नई खरीद नीति को भी मंजूरी दे दी है.

September 12, 2018 5:52 PM
Cabinet approves hike in ethanol price by 25%, new procurement policy, Minimum Support Price, MSP, farmers, Cabinet, Modi Govtदूसरी ओर सरकार ने किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) सुनिश्चित करने के लिए नई खरीद नीति को भी मंजूरी दे दी है.

मोदी सरकार ने एथेनॉल की कीमतों में 25 फीसदी बढ़ोतरी कर दी. बुधवार को पीएम मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में यह फैसला किया गया. सरकार के इस कदम से चीनी मिलों को बड़ा बूस्ट मिलेगा और वह गन्ने से एथेनॉल का उत्पादन बढ़ाने पर फोकस बढ़ा सकती हैं. माना जा रहा है कि एथेनॉल की अच्छी कीमत मिलने के चलते चीनी मिलें अपना उत्पादन चीनी से एथेनॉल की तरफ शिफ्ट कर सकती हैं. हाल ही में चीनी के अधिक उत्पादन से कीमतों में आई गिरावट से मिलों को झटका लगा था.

धर्मेंद्र प्रधान ने बताया कि कैबिनेट कमिटी आॅन इकोनॉमिक अफेयर्स (CCEA) ने सरकार ने एथेनॉल की कीमतों में 25 फीसदी की बढ़ोतरी को मंजूरी दे दी. सरकार एथेनॉल उत्पादन को प्रोत्साहन देगी.

धर्मेंद्र प्रधान ने बताया कि 100 फीसदी गन्ने के रस से तैयार एथेनॉल की खरीद कीमत 47.13 रुपये से बढ़ाकर 59.13 रुपये प्रति लीटर कर दी. वहीं, B-हैवी मोलॉसिस से बनाए गए एथेनॉल की कीमत मौजूदा 47.13 रुपये से बढ़ाकर 52.43 रुपये प्रति लीटर कर दी. जबकि C-हैवी मोलॉसिस से तैयार एथेनॉल की कीमत में 43.46 रुपये बढ़ाकर 43.70 रुपये प्रति लीटर कर दी गई.

उन्होंने बताया कि इस फैसले से चीनी मिलों को किसानों का बकाया चुकाने में मदद मिलेगी, अकेले उत्तर प्रदेश में चीनी मिलों पर गन्ना किसानों का 13 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा बकाया है. बता दें, गन्ने के रस से सीधे तैयार किए गए एथेनॉल को पेट्रोल में मिलाया जाता है.

किसानों के लिए नई खरीद नीति

दूसरी ओर सरकार ने किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) सुनिश्चित करने के लिए नई खरीद नीति को भी मंजूरी दे दी है.

Go to Top