मुख्य समाचार:

ई-सिगरेट देशभर में बैन, नियम तोड़ने पर जाना होगा जेल; कैबिनेट का बड़ा फैसला

कैबिनेट ने ई-सिगरेट पर पाबंदी का फैसला लिया है.

September 18, 2019 3:45 PM
e cigarette ban, cabinet, कैबिनेट ने ई-सिगरेट पर पाबंदी का फैसला लिया, cabinet approves ban on e cigarette, FM Nirmala Sitharamanकैबिनेट ने ई-सिगरेट के इंपोर्ट, प्रोडक्शन और बिक्री पर बैन लगा दिया है.

अब देशभर में ई-सिगरेट बैन हो जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आज हुई बैठक ने कैबिनेट ने ई-सिगरेट पर पाबंदी का फैसला लिया है. वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि केंद्रीय कैबिनेट ने इस बैन को मंजूरी दी है. कैबिनेट ने ई-सिगरेट के इंपोर्ट, प्रोडक्शन और बिक्री पर बैन लगा दिया है. इसके साथ ई-सिगरेट के प्रमोशन पर भी रोक लगाई गई है. बता दें कि हाल ही में ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स द्वारा प्रोहिबिशन आफ ई सिगरेट को जांचा गया था, जिसके बाद इसमें बदलाव का सुझाव आया था. हेल्‍थ मिनिस्‍ट्री ने भी इस पर प्रतिबंध की वकालत की थी.

बिक्री और मैन्युफैक्चरिंग दोनों पर पाबंदी

वित्त मंत्री ने क‍हा कि इसकी बिक्री और मैन्युफैक्चरिंग दोनों पर पाबंदी है. कानून तोड़ने वाले को कड़ी सजा होगी. इस अध्यादेश में हेल्थ मिनिस्ट्री ने पहली बार नियमों के उल्लंघन पर 1 साल तक की जेल और 1 लाख रुपये का जुर्माना का प्रस्ताव दिया है. वहीं एक से अधिक बार नियम तोड़ने पर मिनिस्ट्री ने 5 लाख रुपये जुर्माना और 3 साल तक जेल की सिफारिश की है. बता दें कि ई-सिगरेट पर प्रतिबंध लगाना अपने दूसरे कार्यकाल में मोदी सरकार के पहले 100 दिनों के एजेंडे की प्राथमिकताओं में था.

देश में मौजूद सैंकड़ों ब्रांड

ई-सिगरेट्स दरअसल गैर-लाइसेंस वाले प्रोडक्ट्स हैं, जो अवैध रूप से भारत में बेचे जाते हैं. इसे एक ऐसे प्रोडक्ट के रूप में बेचा जाता है जो लोगों को स्मोकिंग छोड़ने में मदद करते हैं. यही वजह है कि युवाओं के बीच ई-सिगरेट का चलन तेजी से बढ़ रहा है. एक रिपोर्ट के अनुसार ई सिगरेट की आदत से व्यक्ति को डिप्रेशन होने की संभावना दोगुनी हो जाती है. जो लोग ई सिगरेट का सेवन करते हैं, उन्हे हार्ट अटैक का खतरा भी बढ़ जाता है. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक देश में ई-सिगरेट के 400 से ज्यादा ब्रांड मौजूद हैं.

न्यूयॉर्क में बैन हुई फ्लेवर्ड ई-सिगरेट

न्यूयॉर्क के डोमेस्टिक गवर्नर ने टीनेजर्स और यूथ के बीच इस सिगरेट से बढ़ रही फेफड़ों से जुड़ी बीमारियों की बढ़ती संख्या पर चिंता जाहिर करते हुए ई-सिगरेट को पूरी तरह बैन कर दिया है. यूनाइटेड स्टेड में मिशिगन के बाद न्यूयॉर्क सिटी दूसरा ऐसा स्टेट बन चुका है, जहां फ्लेवर्ड ई-सिगरेट पर बैन लगाया जा चुका है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. ई-सिगरेट देशभर में बैन, नियम तोड़ने पर जाना होगा जेल; कैबिनेट का बड़ा फैसला

Go to Top