मुख्य समाचार:

Budget 2020: विकास दर को रफ्तार देने के लिए RBI गवर्नर ने दिए सुझाव, बजट में वित्त मंत्री करेंगी बड़ा एलान!

नरेंद्र मोदी सरकार 1 फरवरी को अपने दूसरे कार्यकाल का दूसरा बजट पेश करने जा रही है.

January 25, 2020 4:28 PM
Budget 2020 RBI governor shaktikanta das give suggestions for budget to finance minister nirmala sitharaman and modi government नरेंद्र मोदी सरकार 1 फरवरी को अपने दूसरे कार्यकाल का दूसरा बजट पेश करने जा रही है.

Budget 2020: आम बजट पेश होने के एक हफ्ता पहले भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को खपत मांग और सकल आर्थिक वृद्धि की गति बढ़ाने के लिये संरचनात्मक और ज्यादा वित्तीय उपायों की आवश्यकता पर जोर दिया. दास ने कहा कि इन उद्देश्यों को पाने के लिए मौद्रिक नीति की अपनी सीमाएं हैं. नरेंद्र मोदी सरकार अगले शनिवार यानी 1 फरवरी को अपने दूसरे कार्यकाल का दूसरा बजट पेश करने जा रही है.

आम बजट ऐसे समय पेश किया जा रहा है जबकि सरकार के अग्रिम अनुमान के अनुसार चालू वित्त वर्ष में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की सांकेतिक वृद्धि दर घटकर 48 साल के निचले स्तर 7.5 फीसदी पर आ जाएगी. वहीं वास्तविक वृद्धि दर 11 साल के निचले स्तर पांच फीसदी पर रहने का अनुमान है.

शक्तिकांत दास ने क्या कहा ?

दास ने सेंट स्टीफंस कॉलेज के विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि मौद्रिक नीति की अपनी सीमाएं हैं. मांग बढ़ाने और वृद्धि को प्रोत्साहन के लिए संरचनात्मक सुधार और राजकोषीय उपाय जारी रहने चाहिए. दास इसी कॉलेज के छात्र रहे हैं.

सितंबर तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर छह साल के निचले स्तर 4.5 फीसदी पर आ गई है. दास के इस बयान को इसी परिप्रेक्ष्य में देखा जा रहा है. बता दें कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में तिमाही दर तिमाही आधार पर वृद्धि दर नीचे आ रही है. उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति में कमी के मद्देनजर केंद्रीय बैंक ने फरवरी से अक्टूबर, 2019 के दौरान चार बार नीतिगत दर को 1.35 फीसदी घटाकर 5.15 फीसदी पर ला दिया है. यह रेपो दर का नौ साल का निचला स्तर है.

Budget 2020: इंश्योरेंस सेक्टर की वित्त मंत्री से उम्मीदें, सेक्शन 80C के तहत छूट सीमा बढ़ाने की मांग

संरचनात्मक सुधार की जरूरत: दास

दास ने कुछ ऐसे क्षेत्रों का भी उल्लेख किया जहां संरचनात्मक सुधार जरूरी हैं. उन्होंने कहा कि अगर इन सुधारों को तेजी से आगे बढ़ाया जाता है तो ये वृद्धि को आगे बढ़ाने में सहायक हो सकते हैं. उन्होंने वैश्विक मूल्य श्रृंखला के तहत खाद्य प्रसंस्करण उद्योग, पर्यटन, ई-कॉमर्स और स्टार्टअप्स को प्राथमिकता देने की वकालत की. दास ने कहा कि राज्य निवेश बढ़ाकर महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं.

इन सब स्थितियों की वजह से रिजर्व बैंक ने फरवरी से दिसंबर के बीच अपने वृद्धि दर के अनुमान को 2.9 फीसदी घटाकर पांच फीसदी कर दिया है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. बजट 2020
  3. Budget 2020: विकास दर को रफ्तार देने के लिए RBI गवर्नर ने दिए सुझाव, बजट में वित्त मंत्री करेंगी बड़ा एलान!

Go to Top