सर्वाधिक पढ़ी गईं

बजट 2019: ऐतिहासिक बजट के लिए मनमोहन सिंह ने दिया था सबसे लंबा भाषण

बजट स्पीच कितनी लंबी होगी, यह बजट की घोषणाओं के साथ-साथ और भी चीजों पर भी निर्भर करता है.

Updated: Jun 06, 2019 4:28 PM
budget, budget 2019, union budget 2019, indian union budget 2019,budget 2019 for agriculture, budget 2019 for farmers, budget 2019 for common man,finance minister, finance minister piyush goyal, arun jaitley, narendra modi government announces interim budget,आम बजट 2019, बजट 2019, यूनियन बजट, अंतरिम बजट 2019, अंतरिम बजट, पीयूष गोयल, अंतरिम वित्त मंत्री पीयूष गोयल, लोक सभा, वित्त मंत्री, वित्त वर्ष 2019—20, फरवरी, बजट में क्या मिला, किसानों को बजट से क्या मिला, किसानों को फायदा, बजट की घौषणा, बजट से उम्मीद, farmers budget, agriculture budget, कृषि बजट budget, india budget, budget date,budget 2019 date,budget 2019 india,budget 2018,union budget, low budget, interim budget,interim, budget news, indian budget, what is budget, budget meaning, union budget 2019, budget expectations, budget time,government budget,budget 2019 expectations,budget 2019 news,interim budget 2019,budget session live updates, budget 2019 time of speech, what time budget today, budget time, tomorrow budget expectations,budget 2019 date & time, budget speech time, finance minister of india, capital finance,finance meaning, finance budget, finance bill, Budget session of parliament, budgetमनमोहन सिंह ही वह वित्‍त मंत्री रहे, जिन्‍होंने भारतीय इतिहास का सबसे लंबा बजट भाषण दिया. (Image-Indian Express)

Budget 2019: यूं तो बजट बेहद नीरस विषय माना जाता है और इसमें कम लोग ही रुचि लेते हैं. हालांकि इसके बाद भी इसमें कुछ रोचक बातें होती है. बजट को रोचक बनाने के लिए कई बार वित्त मंत्री शेर-ओ-शायरी या किसी खास किस्से का सहारा लेते हैं. साथ ही उनकी हाजिर जवाबी भी खासी चर्चा में रहती है. बजट स्पीच कितनी लंबी होगी, यह बजट की घोषणाओं के साथ-साथ और भी चीजों पर भी निर्भर करता है.

अगर अब तक के सबसे लंबे बजट भाषणों (शब्‍दों के हिसाब से) की बात की जाए तो इस मामले में बाजी मारी है पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने. मनमोहन सिंह ही वह वित्‍त मंत्री रहे, जिन्‍होंने भारतीय इतिहास का सबसे लंबा बजट भाषण दिया. वहीं अब तक का सबसे छोटा मात्र 800 शब्दों का बजट भाषण 1977 में एचएम पटेल ने दिया था. आइए आपको बताते हैं भारत के इतिहास के अब तक के 10 सबसे लंबे बजट भाषणों के बारे में-

मनमोहन सिंह

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नाम सबसे लंबा बजट भाषण देने का रिकॉर्ड है. जुलाई 1991 में वित्त मंत्री के तौर पर दिया गया उनका बजट भाषण 18,650 शब्दों का था. यह उनका वित्त मंत्री के तौर पर पहला बजट था.

सबसे बड़ा आर्थिक बदलाव, मनमोहन सिंह के बजट ने बदल दी देश की दिशा

अरुण जेटली

सबसे लंबे बजट भाषण देने वालों में अरुण जेटली दूसरे नंबर के साथ-साथ तीसरे, चौथे और पांचवें नंबर पर भी हैं. उनका 2017 में दिया गया बजट भाषण 18604 शब्दों का रहा. वहीं 2015 में जेटली का बजट भाषण 18122 शब्दों, 2018 में 17991 शब्दों और 2014 में 16528 शब्दों का रहा.

 

एनडी तिवारी

छठे सबसे लंबे बजट भाषण का रिकॉर्ड एनडी तिवारी के नाम है. फरवरी 1988 में दिया गया उनका बजट भाषण 16,419 शब्दों का था.

इंदिरा गांधी ने पेश किया था बजट, फैक्ट्री कामगारों के लिए हुए थे अहम एलान

वीपी सिंह

इतिहास के सातवें सबसे लंबे बजट भाषण का रिकॉर्ड पूर्व पीएम वीपी सिंह के नाम है. राजीव गांधी सरकार में वित्त मंत्री के तौर पर वर्ष 1986 में उन्होंने 16,110 शब्दों का बजट भाषण दिया.

यशवंत सिन्‍हा

आठवां और नौवां सबसे लंबा बजट भाषण देने का रिकॉर्ड वरिष्ठ भाजपा नेता यशवंत सिन्हा के नाम है. फरवरी 2002 में उन्होंने 16,029 शब्दों और जून 1998 में 15,589 शब्दों का बजट भाषण दिया था.

आजादी के 53 साल बाद तक शाम 5 बजे पेश होता था बजट, एनडीए सरकार ने बदली परंपरा

आरके षनमुखम

10वां सबसे लंबा बजट भाषण देश के पहले वित्त मंत्री आरके षनमुखम ने दिया था. 1948 में उनकी ओर से पेश बजट 15,508 शब्दों का रहा था.

जब प्रधानमंत्री के हाथ में आई इकोनॉमी की डोर

टाइम के हिसाब से सबसे लंबा भाषण जसवंत सिंह का

टाइम के हिसाब से सबसे लंबे बजट भाषणों की बात करें तो यह रिकॉर्ड जसवंत सिंह के नाम है. 2003 में उनके द्वारा पेश किया गया बजट 2 घंटे 13 मिनट का था. इसके बाद अरुण जेटली का नाम है, जिन्होंने 2014 में 2 घंटे 10 मिनट का बजट भाषण दिया.

पैराग्राफ के हिसाब से प्रणब दा का बजट भाषण सबसे लंबा

अगर पैराग्राफ की संख्या के आधार पर देखें तो अब तक का सबसे लंबा बजट भाषण पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के नाम है. वित्त मंत्री के तौर पर प्रणब दा ने 202 पैराग्राफ का बजट भाषण दिया था. उनके बाद इस मामले में दूसरे नंबर पर वर्तमान वित्त मंत्री अरुण जेटली हैं. जेटली का एक बजट भाषण 190 पैराग्राफ का था. इसके बाद 173 पैराग्राफ का बजट भाषण पी चिदंबरम का था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. बजट 2021
  3. बजट 2019: ऐतिहासिक बजट के लिए मनमोहन सिंह ने दिया था सबसे लंबा भाषण

Go to Top