एक्सपर्ट मान रहे हैं कि पिछले दिनों 3 बड़े राज्यों में BJP के चुनाव हारने के बाद इस अंतरिम बजट की अहमियत बढ़ गई है. वित्त मंत्री अरुण जेटली कह चुके हैं कि इस बार का अंतरिम ​बजट केवल वोट आॅन अकाउंट न रहकर उससे ज्यादा हो सकता है. ऐसे में इस बात की काफी उम्मीद है कि इस बजट में आम जनता के लिए बड़ी घोषणाएं हों. इन घोषणाओं में जिसके कयास सबसे ज्यादा लगाए जा रहे हैं, वह है टैक्स फ्री इनकम की लिमिट को बढ़ाया जाना. बजट 2019: टैक्सपेयर्स को मिलेगी राहत! 5 लाख रु तक की इनकम हो सकती है टैक्स फ्री - The Financial Express
सर्वाधिक पढ़ी गईं

बजट 2019: टैक्सपेयर्स को मिलेगी राहत! 5 लाख रु तक की इनकम हो सकती है टैक्स फ्री

Budget 2019: आज मोदी सरकार के कार्यकाल का आखिरी बजट पेश होने वाला है.

Updated: Feb 01, 2019 8:14 AM
budget 2019, modi government can give big relief to salaried class, income upto 5 lakh rupee can be tax freeBudget 2019: वित्त मंत्री अरुण जेटली कह चुके हैं कि इस बार का अंतरिम ​बजट केवल वोट आॅन अकाउंट न रहकर उससे ज्यादा हो सकता है.

Budget 2019: आज मोदी सरकार के कार्यकाल का आखिरी बजट पेश होने वाला है. अंतरिम बजट 2019 को वित्त मंत्री अरुण जेटली की गैर-मौजूदगी में अंतरिम वित्त मंत्री का कार्यभार संभाल रहे रेल मंत्री पीयूष गोयल पेश करने वाले हैं.

एक्सपर्ट मान रहे हैं कि पिछले दिनों 3 बड़े राज्यों में BJP के चुनाव हारने के बाद इस अंतरिम बजट की अहमियत बढ़ गई है. वित्त मंत्री अरुण जेटली कह चुके हैं कि इस बार का अंतरिम ​बजट केवल वोट आॅन अकाउंट न रहकर उससे ज्यादा हो सकता है. ऐसे में इस बात की काफी उम्मीद है कि इस बजट में आम जनता के लिए बड़ी घोषणाएं हों. इन घोषणाओं में जिसके कयास सबसे ज्यादा लगाए जा रहे हैं, वह है टैक्स फ्री इनकम की लिमिट को बढ़ाया जाना.

उम्मीद की जा रही है कि सरकार सैलरीड मिडिल क्लास को राहत देते हुए टैक्स फ्री इनकम की लिमिट को 2.5 लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर सकती है. पिछली बार 2014 में टैक्स फ्री इनकम की लिमिट बढ़ाई गई थी.

Budget 2019 Live: मोदी सरकार की असल परीक्षा! ​पीयूष गोयल पेश करेंगे अंतरिम बजट

HDFC बैंक में चीफ इकोनॉमिस्ट अभीक बरुआ के मुताबिक, अगर इतिहास में झांकें तो कुछ अंतरिम बजटों में इनडायरेक्ट टैक्स रेट को बदला गया लेकिन डायरेक्ट टैक्सेज के साथ कोई छेड़खानी नहीं की गई. लेकिन इस बार GST मौजूद है और कस्टम ड्यूटी को छोड़कर बाकी सभी इनडायरेक्ट टैक्स GST में समाहित हो चुके हैं. साथ ही GST को लेकर फैसले GST काउंसिल लेती है. इसलिए बजट में इनडायरेक्ट टैक्स में बदलाव को लेकर कुछ खास नहीं हो सकता. इसलिए हो सकता है कि सरकार डायरेक्ट टैक्स के मोर्चे पर कोई बदलाव कर दे. ऐसे में टैक्स फ्री इनकम की लिमिट को बढ़ाकर 5 लाख रुपये किए जाने की उम्मीद है.

bankbazaar.com के सीईओ आदिल शेट्टी का कहना है कि टैक्सपेयर्स के लिए टैक्स छूट की सीमा 2.5 लाख रुपये से बढ़ाई जानी चाहिए. पिछले बजट में सरकार ने 2.5 लाख से 5 लाख रुपये की इनकम पर टैक्स स्लैब 10 फीसदी से घटकर 5 फीसदी किया था. इसके बाद 5 लाख से 10 लाख के इनकम स्लैब में टैक्स रेट 5 फीसदी से सीधे 20 फीसदी है.

आम आदमी पर कैसे असर डालता है बजट? डिटेल में समझिए

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. बजट 2021
  3. बजट 2019: टैक्सपेयर्स को मिलेगी राहत! 5 लाख रु तक की इनकम हो सकती है टैक्स फ्री

Go to Top