सर्वाधिक पढ़ी गईं

भारत बायोटेक का Covaxin को लेकर बड़ा एलान, साइड इफेक्ट आने पर मिलेगा मुआवजा

भारत बायोटेक ने कहा कि कंपनी उसकी वैक्सीन लेने के बाद किसी गंभीर साइड इफेक्ट आने की स्थिति में मुआवजे का भुगतान करेगी.

Updated: Jan 16, 2021 4:47 PM
bharat biotech says will give compensation if covaxin causes side effectsभारत बायोटेक ने कहा कि कंपनी उसकी वैक्सीन लेने के बाद किसी गंभीर साइड इफेक्ट आने की स्थिति में मुआवजे का भुगतान करेगी.

Covid-19 Vaccine: भारत बायोटेक (Bharat Biotech) ने शनिवार को कहा कि कंपनी उसकी वैक्सीन लेने के बाद किसी गंभीर साइड इफेक्ट आने की स्थिति में मुआवजे का भुगतान करेगी. कंपनी को सरकार से 55 लाख डोज की सप्लाई की खरीदारी के लिए ऑर्डर मिला है. वैक्सीन लेने वाले लोगों द्वारा साइन किए गए कंसेंट फॉर्म में भारत बायोटेक ने कहा कि किसी बुरी घटना या गंभीर बुरी घटना की स्थिति में, आपको सरकारी नामित और प्रमाणित सेंटर या अस्पतालों में मेडिकल तौर पर स्टैंडर्ड केयर उपलब्ध कराई जाएगी.

कंसेंट फॉर्म में किया गया शामिल

कंसेंट फॉर्म में कहा गया है कि गंभीर बुरी घटना के लिए मुआवजा स्पॉनसर (BBIL) द्वारा भुगतान किया जाएगा, अगर SAE को वैक्सीन से संबंधित पाया गया. वैक्सीन बनाने वाली कंपनी ने कहा कि फेज 1 और फेज 2 क्लीनिकल ट्रायल कोवैक्सीन ने कोविड-19 के खिलाफ एंटीबॉडी का उत्पादन करने की क्षमता दिखाई है. हालांकि, वैक्सीन की क्लीनिकल क्षमता को अभी भी स्थापित किया जाना है और इसको फेड-3 क्लीनिकल ट्रायल में स्टडी किया जा रहा है.

कंसेंट फॉर्म में कहा गया है कि इसलिए इस बात को मानना महत्वपूर्ण है कि वैक्सीन मिलने का मतलब यह नहीं है कि कोविड-19 से जुड़ी दूसरी सावधानियों का पालन करने की जरूरत नहीं है. इंडस्ट्री के जानकार के मुताबिक, कंपनी का दायित्व है कि वह गंभीर साइड इफेक्ट की स्थिति में लोगों को मुआवजे का भुगतान करें क्योंकि वैक्सीन उस समय लगाई जा रही है, जब वह क्लीनिकल ट्रायल मोड में है.

Covid19 Vaccination Process: को-विन पर रजिस्टर्ड लोगों को लगाई जाएगी वैक्सीन, एसएमएस के जरिए तय होगा टीका लगाने का दिन

भारत में दुनिया का सबसे बड़ा कोरोना टीकाकरण अभियान शुरू

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को दुनिया का सबसे बड़ा कोरोना टीकाकरण अभियान लाॅन्च किया है. देशभर के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 3,000 से अधिक केंद्रों पर फ्रंटलाइन वर्कर्स के टीकाकरण के साथ इस अभियान की शुरुआत हुई है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मानकों के अनुसार, प्रत्येक केंद्र पर अधिकतम 100 लोगों को ही टीका लगाया जाएगा. इन जगहों पर वैक्सीन के पर्याप्त डोज उपलब्ध हैं. कोविड-19 महामारी, वैक्सीन और उसके डिजिटल प्लेटफॉर्म से संबंधित सवालों के जवाब के लिए 1075 नंबर से कॉल सेंटर शुरू पहले ही शुरू किया जा चुका है. प्रधानमंत्री मोदी ने इस दौरान कोविन (Co-Win) ऐप भी लाॅन्च किया.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. भारत बायोटेक का Covaxin को लेकर बड़ा एलान, साइड इफेक्ट आने पर मिलेगा मुआवजा
Tags:Vaccine

Go to Top