सर्वाधिक पढ़ी गईं

अक्टूबर में कोर सेक्टर में 5.8% की गिरावट, स्लोडाउन और गहराने के संकेत

देश में बुनियादी क्षेत्र के आठ उद्योगों का उत्पादन अक्टूबर में 5.8 फीसदी घट गया है जो आर्थिक नरमी के गहराने की ओर इशारा करता है.

Updated: Nov 29, 2019 6:37 PM
bad news for indian economy core sector output down in octoberRepresentational Image

देश में बुनियादी क्षेत्र के आठ उद्योगों का उत्पादन अक्टूबर में 5.8 फीसदी घट गया है जो आर्थिक नरमी के गहराने की ओर इशारा करता है. इस संबंध में शुक्रवार को सरकार ने आधिकारिक आंकड़े जारी किए हैं. आठ प्रमुख उद्योगों में से छह में अक्टूबर में गिरावट दर्ज की गयी. देश में कोयला उत्पादन अक्टूबर में 17.6 फीसदी, कच्चा तेल उत्पादन 5.1 फीसदी और प्राकृतिक गैस का उत्पादन 5.7 फीसदी गिरा है. इस दौरान सीमेंट उत्पादन 7.7 फीसदी, स्टील 1.6 फीसदी और बिजली उत्पादन 12.4 फीसदी गिर गया.

सिर्फ उवर्रक क्षेत्र में बढ़ोतरी

समीक्षावधि में सिर्फ उवर्रक क्षेत्र में सालाना आधार पर 11.8 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई. वहीं रिफाइनरी उत्पादों की वृद्धि दर घटकर 0.4 फीसदी पर आ गई जो पिछले साल इसी महीने में 1.3 फीसदी थी.

अक्टूबर 2018 में बुनियादी क्षेत्र के इन आठ उद्योगों के उत्पादन में 4.8 फीसदी की बढ़त देखी गई. इस साल अप्रैल-अक्टूबर अवधि में बुनियादी क्षेत्र के आठ उद्योगों की वृद्धि दर गिरकर 0.2 फीसदी रही जो पिछले साल इसी अवधि में 5.4 फीसदी थी. पिछले महीने सितंबर में बुनियादी क्षेत्र के आठ उद्योगों का उत्पादन सालाना आधार पर 5.1 फीसदी गिरा था जो एक दशक का सबसे सुस्त प्रदर्शन था.

Q2 GDP: देश की अर्थव्यवस्था हुई और सुस्त, सितंबर तिमाही में ग्रोथ रेट घटकर 4.5% पर

दूसरी तिमाही में GDP में भी गिरावट

देश की आर्थिक ​विकास दर (GDP) चालू वित्त वर्ष 2019-20 की दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) में घटकर 4.5 फीसदी पर आ गई है. यह पिछली 26 तिमाही में सबसे कम है. एक साल पहले 2018-19 की इसी तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर 7 फीसदी थी. वहीं चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में यह 5 फीसदी थी. राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) के शुक्रवार को जारी जीडीपी आंकड़ों के अनुसार चालू वित्त वर्ष 2019-20 की जुलाई-सितंबर के दौरान स्थिर मूल्य (2011-12) पर जीडीपी 35.99 लाख करोड़ रुपये रहा जो पिछले साल इसी अवधि में 34.43 लाख करोड़ रुपये था. वहीं, भारत का राजस्व घाटा मौजूदा वित्त वर्ष के पहले 7 महीनों यानी अप्रैल से अक्टूबर के दौरान ही पूरे साल के बजट लक्ष्य को पार कर गया है. इस दौरान भारत सरकार का राजस्व घाटा 7.2 लाख करोड़ रहा है जो लक्ष्य का 102 फीसदी है.

 

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. अक्टूबर में कोर सेक्टर में 5.8% की गिरावट, स्लोडाउन और गहराने के संकेत

Go to Top