सर्वाधिक पढ़ी गईं

Ayodhya Ram Mandir: राम मंदिर के लिए ‘पिंक सैंडस्टोन’ के खनन की विशेष अनुमति मांगेगी राजस्थान सरकार

Ram Mandir: राम मंदिर में ग्राउंड फ्लोर का काम 40-45 फीसदी तक पूरा हो चुका है.

November 19, 2020 3:32 PM
ayodhya Ram Mandir Rajasthan will seek clearance under the Forest and Wildlife Acts for Bansi Paharpur block to mine pink sandstoneराम मंदिर पिंक सैंडस्टोन से बन रहा है.

Ayodhya Ram Mandir: अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कार्य जोरों पर है. इस मंदिर के निर्माण में गुलाबी रंग के विशेष बलुई पत्थर के लिए राजस्थान सरकार केंद्र सरकार की मंजूरी लेगी. राज्य सरकार को भरतपुर के बंध बरेठा वाइल्डलाइफ सैंक्चुरी में बांसी पहाड़पुर ब्लॉक के लिए फॉरेस्ट एंड वाइल्डलाइफ एक्ट्स के तहत क्लियरेंस चाहिए. इस क्लियरेंस के बाद ही यहां खनन हो सकेगा. केंद्र सरकार का क्लियरेंस मिलने पर यहां से विशेष गुलाबी रंग का बलुई पत्थर (पिंक सैंडस्टोन) निकाला जा सकेगा. चूंकि इसका इस्तेमाल अयोध्या में बन रहे राम मंदिर में होगा, इसलिए राज्य सरकार ने इसे ‘हाइएस्ट प्रॉयोरिटी’ के तहत रखा है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, 1989 के बाद से अब तक 1.1 लाख क्यूबिक फुट से अधिक पिंक सैंडस्टोन अयोध्या मंगाया जा चुका है क्योंकि राम मंदिर का निर्माण इसी से हो रहा है. 2016 में इस पूरे क्षेत्र में खनन को प्रतिबंधित कर दिया गया था. हालांकि अवैध तरीके से यह लगातार जारी रहा और पत्थरों की बिक्री ग्रे मार्केट में होती रही. इस साल 7 सितंबर को भरतपुर प्रशासन ने अवैध रूप से खनन किए गए बलुई पत्थरों से भरे 25 ट्रक पकड़े थे.

परिवेश पोर्टल पर आवेदन का आदेश

अयोध्या में विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के क्षेत्रीय प्रवक्ता शरद शर्मा का कहना है कि राज्य को पिंक सैंडस्टोन की आपूर्ति रोकनी नहीं चाहिए क्योंकि राम मंदिर का निर्माण राष्ट्रहित (नेशंस इंटेरेस्ट) में हो रहा है. उन्होंने कहा कि बांसी पहाड़पुर में खनन को वैध करने के लिए जो भी कदम उठाया जाएगा, विहिप उसका स्वागत करेगी. इसके अलावा राजस्थान के संयुक्त सचिव (खनन) ओपी केसरा ने 23 अक्टूबर को निदेशक (खनन) से बांसी पहाड़पुर ब्लॉक को डिनोटिफॉइ करने के लिए पूछा है और केंद्रीय मंत्रालय के परिवेश पोर्टल पर आवेदन करने को कहा है.

इन सबके बीच भरतपुर जिले के डीएम नाथमल डिडेल का कहना है कि पिंक सैंडस्टोन के प्रयोग का कोई खास कारण नहीं लिखा गया है. ई-नोटिफिकेशन एप्लीकेशन फाइल होने के बाद राज्य के वन विभाग इसके क्लियरेंस पर विचार करेगा.

40-45% काम हो चुका है पूरा

अयोध्या के राम मंदिर में ग्राउंड फ्लोर का काम 40-45 फीसदी तक पूरा हो चुका है. 1.1 लाख क्यूबिर फुट सैंडस्टोन पहले ही आ चुके थे और उनसे काम चल रहा है. अब जल्द ही 3.5-4 लाख क्यूबिक फुट सैंडस्टोन की जरूरत पड़ेगी. मंदिर के आर्किटेक्ट्स के मुताबिक पिंक सैंडस्टोन की अपनी खूबी है और इसे अन्य वैराइटी के साथ मिलाने पर सुंदरता कम होगी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Ayodhya Ram Mandir: राम मंदिर के लिए ‘पिंक सैंडस्टोन’ के खनन की विशेष अनुमति मांगेगी राजस्थान सरकार

Go to Top