मुख्य समाचार:

अटल बिहारी वाजपेयी की वह योजना जिसने पूरे भारत को जोड़ दिया

आज 93 साल की उम्र में दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया. शाम 5:05 मिनट पर अटल बिहारी वाजपेयी ने आखिरी सांस ली.

August 17, 2018 7:26 PM
atal bihari vajpayee, atal bihari vajpayee latest news, atal bihari vajpayee age, atal bihari vajpayee aiims, vajpayee now, vajpayee news, atal bihari vajpayee death news, vajpayee health, swarnim chaturbhuj yojna, swarnim chaturbhuj map, swarnim chaturbhuj yojna kya hai, golden quadrilateral highway, golden quadrilateral route, golden quadrilateral map, अटल बिहारी वाजपेयी16 अगस्त को 93 साल की उम्र में दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया. शाम 5:05 मिनट पर अटल बिहारी वाजपेयी ने आखिरी सांस ली.  (PTI Image)

अटल बिहारी वाजपेयी. भारत के पूर्व प्रधानमंत्री. पिछले कुछ दिनों से बहुत बीमार चल रहे थे. 16 अगस्त को 93 साल की उम्र में दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया. शाम 5:05 मिनट पर अटल बिहारी वाजपेयी ने आखिरी सांस ली थी. पंडित जवाहर लाल नेहरू के बाद अटल पहले ऐसे प्रधानमंत्री बने जो लगातार दो बार प्रधानमंत्री बने. वाजपेयी की कुछ उपलब्धियां ऐसी रही जिसके लिए वह आज भी लोगों के बीच लोकप्रिय हैं. इनमें से परमाणु परीक्षण, स्वर्णिम चतुर्भुज योजना आदि महत्वपूर्ण रही. आइये जानते हैं स्वर्णिम चतुर्भुज योजना के बारे में जिसने भारत के चार सबसे बड़े शहरों को जोड़ा.

शिक्षा से संचार तक, अटल बिहारी वाजपेयी के 5 बड़े रिफॉर्म

स्वर्णिम चतुर्भुज योजना

  • स्वर्णिम चतुर्भुज परियोजना भारत की सबसे बड़ी और दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी राजमार्ग परियोजना है.
  • 2001 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने इसकी शुरुआत की थी और यह परियोजना 2012 में पूर्ण हुई.
  • स्वर्णिम चतुर्भुज परियोजना पर करीब 60,000 करोड़ रूपये खर्च हुए.
  • स्वर्णिम चतुर्भुज की कुल लंबाई 5,846 किलोमीटर है और यह भारत के 13 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से होकर गुजरती है.
  • स्वर्णिम चतुर्भुज देश के चार सबसे बड़े शहर नई दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, कोलकाता को एक दूसरे से जोड़ दिया.
  • स्वर्णिम चतुर्भुज ने अहमदाबाद, बेंगलुरु, कटक, जयपुर, कानपुर, पुणे, सूरत, विजयवाड़ा, अजमेर, विशाखापत्तनम, बोध गया, बनारस, आगरा, धनबाद, गांधीनगर, उदयपुर जैसे शहरों को जोड़ा.
  • स्वर्णिम चतुर्भुज को चार भागों में बांटा गया है – पहला दिल्ली से कोलकाता 1454 किलोमीटर, दूसरा कोलकाता से चेन्नई 1684 किलोमीटर, तीसरा भाग 1290 किलोमीटर और चौथा भाग 1419 किलोमीटर का है.
  • स्वर्णिम चतुर्भुज योजना के तहत आंध्र प्रदेश में सबसे अधिक 1014 किलोमीटर की सड़क बनाई गई. इसके साथ उत्तर प्रदेश में 756, राजस्थान में 725, कर्णाटक में 623, महाराष्ट्र में 487, गुजरात में 485, ओडिशा में 440, पश्चिम बंगाल में 406, तमिलनाडु में 342, बिहार में 204, झारखंड में 192, हरियाणा में 152 और दिल्ली में 25 किलोमीटर सड़क बनाई गई.

स्वर्णिम चतुर्भुज योजना के अलावा वाजपेयी सरकार ने प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना की शुरुआत भी की थी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. अटल बिहारी वाजपेयी की वह योजना जिसने पूरे भारत को जोड़ दिया

Go to Top