मुख्य समाचार:

Vizag Gas Leak: रेफ्रिजरेशन यूनिट में तकनीकी खामी से हुआ हादसा, प्लांट मैनेजमेंट के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज

गैस लीक की घटना विशाखापट्टनम के गोपालपत्तनम क्षेत्र स्थित LG Polymer plant से गुरुवार तड़के हुई.

May 7, 2020 9:39 PM
Visakhapatnam Gas Leakगैस लीक की घटना विशाखापट्टनम के गोपालापत्तनम क्षेत्र स्थित LG Polymer plant से गुरुवार तड़के हुई. (Image AP)

Vizag Gas Leak: आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में एक केमिकल प्लांट इकाई में गैस रिसाव से बड़ा हादसा हो गया है. इस घटना में अबतक की जानकारी के मुताबिक 8 साल के एक बच्चे समेत 11 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 20-25 लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है. 100 से ज्यादा लोग अस्पताल पहुंच चुके हैं. गैस लीक के चलते प्लांट के पांच किलोमीटर के दायरे में आने वाले गांव और 1000 लोग प्रभावित हुए है.

आंध्र प्रदेश के हाईकोर्ट ने इस मामले में राज्य व केन्द्र सरकार को नोटिस जारी किया है. कोर्ट ने यह देखते हुए नोटिस जारी किया कि मानवीय निवास के बीच इस प्लांट को परिचालन करने की अनुमति कैसे दी गई. अपने स्तर पर कोर्ट ने आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट बार एसोसिएशन प्रेसिडेंट को इस मामले में निष्पक्ष सलाहकार नियुक्त किया है. सुनवाई अगले सप्ताह होगी. वहीं गोपालपटनम पुलिस ने LG Polymers Ltd के मैनेजमेंट के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है.

प्राथमिक रिपोर्ट का हवाला देते हुए एक वरिष्ठ डिस्ट्रिक्ट अधिकारी ने कहा कि रेफ्रिजरेशन यूनिट में तकनीकी खराबी इस हादसे की वजह बनी. एक केमिकल प्लांट में यह यूनिट दो स्टाइरीन टैंकों से अटैच थी. वहीं केन्द्र सरकार ने केमिकल मैन्युफैक्चरर्स को प्लांट्स दोबारा शुरू करने से पहले सावधानी बरतने को कहा है.

मरने वालों के परिवार को 1-1 करोड़ रु का मुआवजा

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई.एस. जगनमोहन रेड्डी ने घटना में मरने वालों के परिवार को 1-1 करोड़ रुपये का मुआवजा और वेंटिलेटर पर रहने वालों को 10 लाख रुपये की धनराशि मुआवजे के रूप में देने का एलान किया है. केंद्र सरकार का कहना है कि करीब 1000 लोग इस लीक से प्रभावित हुए हैं.

पीएम नरेंद्र मोदी ने आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) की बैठक की. पीएम ने आंध्र प्रदेश के सीएम वाईएस जगन मोहन रेड्डी से भी बात की है. उन्होंने राज्य सरकार को हर प्रकार की मदद का आश्वासन दिया है. विशाखापट्टनम के बाहरी इलाके के RR वेंकटपुरम गांव के गोपालापत्तनम क्षेत्र स्थित LG Polymer plant से  घटना गुरुवार तड़के करीब 2:30 बजे Styrene गैस लीक हुई है. इस हादसे में अबतक 8 लोगों की मौत हो गई है. इनमें 2 व्यक्तियों की भागने के दौरान कुंए में गिरने से मौत हो गई.  मौके पर NDRF और SDRF की टीमें मौके पर तैनात हैं.

आंध्र प्रदेश के उद्योग मंत्री एमजी रेड्डी ने बताया कि LG Polymers की यूनिट लॉकडाउन के बाद संभवत: गुरुवार को खुलने वाली थी. उन्होंने कहा, हम कंपनी (South Korean) के टॉप मैनेजमेंट से संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं. हमारी शीर्ष प्राथमिकता लीक को रोकने और प्रभावित लोगों को चिकित्सकीय सहायता पहुंचाना है.  एमजी रेड्डी ने बताया कि कंपनी इस हादसे के लिए जिम्मेदार है. उसे सामने आकर पूरी डिटेल देनी होगी कि क्या प्लांट शुरू करने के दौरान सभी प्रोटोकॉल का पालन किया गया या नहीं, उसके आधार पर कंपनी के खिलाफ आपराधिक कार्रवाई की जाएगी.

PM की ओर से हरसंभव मदद का भरोसा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विजाग गैस लीक मामलो पर हालात का जायजा लिया. उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी को सभी संभव मदद का भरोसा दिया है. पीएमओ के अनुसार, प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के साथ 11 बजे बैठक कर स्थिति की जानकारी ली. प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया कि उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्रालय और राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अथारिटी के अधिकारियों से इस संबंध में बातचीत की. स्थिति पर गंभीरता से निगरानी की जा रही है. उन्होंने ट्वीट किया, ”मैं विशाखापट्टनम में प्रत्येक की सुरक्षा और कल्याण की प्रार्थना करता हूं”

गृह मंत्रालय की भी नजर

विजाग गैस लीक हादसे पर गृह मंत्रालय की भी नजर बनी हुई है. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि विशाखापत्तनम में हुई घटना परेशान करने वाली है. NDMA के अधिकारियों और संबंधित अधिकारियों से बात की. हम स्थिति पर लगातार और बारीकी से नजर रख रहे हैं और घटना की मॉनिटरिंग कर रहे हैं. उन्होंने कहा, मैं विशाखापत्तनम के लोगों के अच्छे होने की प्रार्थना करता हूं.

CM ने कहा: पूरी मदद करेंगे

आंध्र प्रदेश के मुख्य मंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने गैस लीक की घटना पर दुख जताते हुए इसकी जांच कराने की बात कही है. उन्होंने कहा कि घटना के बाद स्थानीय प्रशासन से प्रभावित लोगों की हर संभव मदद देने को कहा है. उनका कहना है कि हमारी पूरी कोशिश है कि स्थिति पूरी तरह से कंट्रोल हो और लोगों की जान बचे. मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी भी कुछ देर में घटनास्थल पर पहुंचने वाले हैं.

गैस रिसाव पर काबू

स्थानीय प्रशासन के मुताबिक, फिलहाल गैस रिसाव पर काबू पा लिया गया है. गैस रिसाव का अधिकतम प्रभाव लगभग एक से डेढ़ किमी था.  डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर वी विनय चंद के मुताबिक अस्पताल में भर्ती कुछ लोगों की स्थिति गंभीर बनी हुई है. घटनास्थल पर एनडीआरएफ की टीमें तैनात हैं और रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है. घटनास्थल पर पुलिस के साथ-साथ फायर टेंडर और एंबुलेंस मौजूद हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Vizag Gas Leak: रेफ्रिजरेशन यूनिट में तकनीकी खामी से हुआ हादसा, प्लांट मैनेजमेंट के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज

Go to Top