मुख्य समाचार:
  1. राजस्थान के बाद आंध्र प्रदेश ने पेट्रोल-डीजल पर घटाया VAT, मोदी सरकार का एक्साइज ड्यूटी कम करने से फिलहाल इंकार

राजस्थान के बाद आंध्र प्रदेश ने पेट्रोल-डीजल पर घटाया VAT, मोदी सरकार का एक्साइज ड्यूटी कम करने से फिलहाल इंकार

राजस्थान सरकार रविवार को पेट्रोल और डीजल पर वैट में 4 फीसदी की कटौती का एलान कर चुकी है.

September 10, 2018 7:38 PM
Andhra CM Chandrababu Naidu announces VAT cut on petrol diesel, Modi government rules out excise duty cut, fuel राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 80.73 रुपये और डीजल 72.83 रुपये प्रति लीटर हो गया है. (Reuters)

पेट्रोल-डीजल के मोर्चे पर आम जनता को राहत देने के लिए राज्य आगे आने लगे हैं. राजस्थान के बाद अब आंध्र प्रदेश ने पेट्रोल-डीजल पर वैल्यु एडेड टैक्स (VAT) दो रुपये घटाने की घोषणा की है. यह एलान मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने किया. वहीं केन्द्र सरकार फिलहाल फ्यूल पर एक्साइज ड्यूटी कम करने के मूड में नहीं है.

बता दें कि इस वक्त पेट्रोल-डीजल की कीमतें आसमान छू रही हैं. राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 80.73 रुपये और डीजल 72.83 रुपये प्रति लीटर हो गया है. वहीं मुंबई में पेट्रोल के दाम 88.12 रुपये और डीजल के 77.32 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गए हैं. आंध्र प्रदेश से पहले राजस्थान सरकार रविवार को पेट्रोल और डीजल पर वैट में 4 फीसदी की कटौती का एलान कर चुकी है.

एक्साइज ड्यूटी घटने से वित्तीय घाटा होगा प्रभावित

केन्द्र की ओर से एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी घटने से वित्तीय घाटा प्रभावित होगा. ऐसे में सरकार को विकास पर होने वाले खर्च में कटौती करनी होगी. साथ ही इस वक्त बिहार, केरल और पंजाब जैसे राज्य वैट कम करने की स्थिति में नहीं हैं. इसलिए एक्साइज ड्यूटी नहीं घटेगी.

आने वाले दिनों में कीमतें संयमित होने का अनुमान

फ्यूल की कीमतों के रिकॉर्ड हाई स्तर पर जाने की वजह तेल की अंतर्राष्ट्रीय कीमतों में आ रही तेजी और रुपये में आ रही गिरावट है. सरकार का अनुमान है कि आने वाले दिनों में फ्यूल की कीमतें संयमित हो जाएंगी.

1 रु/लीटर की कटौती से होगा 30,000 करोड़ का नुकसान

अधिकारी ने आगे कहा कि टैक्स में 1 रुपये प्रति लीटर की कटौती से सालाना आधार पर रेवुन्यु को 30,000 करोड़ रुपये का नुकसान होगा. सरकार इस मोर्चे पर तभी राहत दे सकती है, जब वह वित्तीय मोर्चे पर मजबूत हो. यह मजबूती इनकम टैक्स और जीएसटी अनुपालन से आएगी.

अगस्त मध्य से पेट्रोल 3.65 रु और डीजल 4.06 रु/प्रति लीटर हो चुका है महंगा

फ्यूल की कीमतों में अगस्त मध्य से तेजी आना शुरू हुई है और यह हर रोज बढ़ रही हैं. तब से अभी तक पेट्रोल 3.65 रुपये और डीजल 4.06 रुपये प्रति लीटर महंगा हो चुका है. यह बढ़ोत्तरी पिछले साल मध्य जून के बाद दैनिक आधार पर पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बदलाव का नियम लागू होने के बाद से अब तक किसी भी माह में फ्यूल कीमतों में हुई सबसे ज्यादा बढ़ोत्तरी है.

Go to Top