मुख्य समाचार:

लद्दाख में भारत-चीन सीमा पर हिंसक झड़प: भारतीय सेना के कुल 20 जवान शहीद, चीन को भी नुकसान

इस घटना के बाद दोनों देशों के वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों के बीच लद्दाख में हालात सामान्य करने के लिए मीटिंग चल रही है.

Updated: Jun 16, 2020 11:18 PM
An Indian Army officer and two soldiers were killed in Galwan Valley in eastern Ladakh on Monday night during a violent face off with the Chinese troopsगलवां घाटी में पिछले 5 हफ्तों से काफी तनाव के हालात हैं.

China-India Ladakh Standoff: भारत-चीन सीमा पर तनाव बढ़ गया है. भारतीय सेना ने कहा कि भारतीय और चीनी सैनिक गलवां क्षेत्र में अब अलग हो गए हैं जहां उनका 15-16 जून की रात को टकराव हुआ था. 17 भारतीय सैनिक जो लाइन ऑफ ड्यूटी पर स्टैंड ऑफ की लोकेशन पर गंभीर रूप से जख्मी हुए थे और ज्यादा ऊंचाई वाले इलाकों में सब जीरो तापमान में उनकी चोटों से मौत हो गई, जिससे कुल मरने वालों की संख्या 20 हो गई है. सेना ने कहा कि वह देश की क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता की रक्षा करने के लिए प्रतिबद्ध है.

ग्लोबल टाइम्स के एडिटर इन चीफ के ट्वीट के अनुसार, इस झड़प में चीन पक्ष को भी नुकसान हुआ है. इस घटना के बाद दोनों देशों के वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों के बीच लद्दाख में हालात सामान्य करने के लिए मीटिंग चल रही है.

पूर्वी लद्दाख में हुई घटना को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर और कुछ सैन्य अधिकारियों के साथ बैक टू बैक दो मीटिंग कीं. बैठकों के बाद विदेश मंत्रालय ने कहा कि सोमवार रात को पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के सैनिकों के बीच झड़प होने का कारण चीन द्वारा स्थिति में बदलाव का एकतरफा प्रयास है. हम इस बात को मानते हैं बॉर्डर एरियाज में शांति बरकरार रखने की जरूरत है. इसलिए मतभेदों को बातचीत से सुलझाया जाएगा. हम इस बात को लेकर भी प्रतिबद्ध हैं कि भारत की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता को सुनिश्चित किया जाए.

मंत्रालय ने यह भी कहा कि बॉर्डर मैनेजमेंट को लेकर अपनी ​जिम्मेदारी भरी अप्रोच के चलते भारत इस बारे में काफी स्पष्ट है कि इसकी सभी एक्टिविटी हमेशा लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल के अंदर भारत में ही घटित हों. हम चीन की ओर से भी यही आशा करते हैं.

गलवां घाटी में पिछले 5 हफ्तों से काफी तनाव के हालात

इंडियन आर्मी ने एक बयान में कहा कि गलवां घाटी में डी-एस्केलेशन की प्रक्रिया चल रही है, इसी बीच दोनों देशों की सेनाओं के बीच सोमवार रात को एक हिंसक झड़प हो गई. इसमें भारतीय सेना के एक अधिकारी और दो जवान शहीद हो गए. सेना ने यह भी कहा है कि चीन की सेना को भी नुकसान पहुंचा है. बता दें कि गलवां घाटी में पिछले 5 हफ्तों से काफी तनाव के हालात हैं. बड़ी संख्या में भारतीय और चीनी सेना आमने-सामने है. हाल ही में इंडियन आर्मी के चीफ जनरल एमएम नरवाने ने कहा था कि गलवां घाटी में दोनों ओर से सेना को कम किया जाना शुरू हो चुका है. ऐसे में अब यह घटना सामने आ गई है.

चीन का भारत पर बॉर्डर क्रॉस करने का आरोप

इस घटना को लेकर चीन ने भारतीय सेना पर बॉर्डर क्रॉस करने का आरोप लगाया है. चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने वहां के विदेश मंत्री के हवाले से कहा है कि सोमवार को भारतीय सेना अवैध रूप से दो बार बॉर्डर क्रॉस किया और चीन के सिपाहियों पर उकसाने वाला हमला किया. इसके फलस्वरूप गंभीर ​झड़प हुई. चीन ने भारत से बॉर्डर पर तैनात अपने सैनिकों को बॉर्डर क्रॉस करने या सीमा के हालात को जटिल बना सकने वाली किसी भी एकतरफा कार्रवाई से रोकने की अपील की है. ग्लोबल टाइम्स में चीन के विदेश मंत्री के हवाले से यह भी कहा गया है कि दोनों देश द्विपक्षीय मुद्दों को बातचीत से सुलझाने के लिए तैयार हैं ताकि बॉर्डर पर हालात सामान्य हो सकें और शांति बरकरार रह सके.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. लद्दाख में भारत-चीन सीमा पर हिंसक झड़प: भारतीय सेना के कुल 20 जवान शहीद, चीन को भी नुकसान

Go to Top