मुख्य समाचार:

Air India Express flight crash: बेहद खतरनाक है टेबलटॉप रनवे, 2010 के बाद दूसरा बड़ा विमान हादसा

Dubai-Kozhikode Air India flight crash: एयर इंडिया द्वारा संचालित बोइंग 737-800 विमान काझिकोड एयपोर्ट के रनवे को पार कर गया जो मेंगलुरू की तरह एक टेबलटॉप रनवे है.

Updated: Aug 08, 2020 1:04 PM
Air India Express flight crash tabletop runway is dangerous cause 2010 mengaluru accident alsoएयर इंडिया द्वारा संचालित बोइंग 737-800 विमान काझिकोड एयपोर्ट के रनवे को पार कर गया जो मेंगलुरू की तरह एक टेबलटॉप रनवे है.

Kerala Air India plane crash on Karipur runway, What is tabletop runway: केरल के काझिकोड में शुक्रवार को हुए विमान हादसे में अब तक 18 लोगों की मौत हो चुकी है और 22 लोग गंभीर रूप से जख्मी हैं. यह मेंगलुरू एयरपोर्ट पर साल 2010 में हुए विमान क्रैश के बाद पहला सबसे बड़ा विमान हादसा है. एयर इंडिया द्वारा संचालित बोइंग 737-800 विमान काझिकोड एयपोर्ट के रनवे को पार कर गया जो मेंगलुरू की तरह एक टेबलटॉप रनवे है. इसके बाद विमान ढलान से 35 फीट नीचे गिर गया जिससे वह दो हिस्सों में बंट गया. टेबलटॉप रनवे को सामान्य तौर पर पहाड़ी के टॉप को काटकर बनाया जाता है. इसे अक्सर लैंडिंग के लिए मुश्किल माना जाता है क्योंकि इनमें रनवे को ओवरशूट या पार करने के बाद कोई मार्जिन नहीं है.

लैंडिंग करना बेहद मुश्किल

वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों के मुताबिक, काझिकोड में एयर इंडिया एक्सप्रेस के विमान में क्रैश होने पर आग नहीं लगी जिससे जान बची हैं. डायरेक्टरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) के एक अधिकारी ने कहा कि ऐसा लगता है कि विमान सामान्य स्पीड से ज्यादा के साथ जमीन पर नीचे आया जिससे पायलटों को रनवे पर उसे रोकने में कम समय मिला क्योंकि वह रनवे आम के मुकाबले छोटा था.

काझिकोड और मेंगलुरू के अलावा मिजोरम में Lengpui एयरपोर्ट, सिक्किम में Pakyong एयरपोर्ट और हिमाचल प्रदेश में शिमला और कुल्लू एयरपोर्ट टेबलटॉप पर बने हुए हैं. भारत के बाहर बने दूसरे टेबलटॉप एयरपोर्ट में भूटान का Paro और नेपाल में काठमांडू एयरपोर्ट शामिल है.

Air India Express flight crash: केरल विमान हादसे में दोनों पायलट समेत 18 की मौत, 149 घायल अस्पताल में भर्ती, 22 लोगों की हालत गंभीर

पहले भी कई हादसे

साल 2010 में एयर इंडिया एक्सप्रेस का एक विमान कर्नाटक के मेंगलुरू एयरपोर्ट पर रनवे को पार कर गया था और घाटी में क्रैश हुआ था जिससे उसमें आग लग गई. इस हादसे में 158 लोगों की मौत हो गई. पिछले साल दुबई से आ रहा एयर इंडिया एक्सप्रेस का एक दूसरा विमान मेंगलुरू में झटका खाया और सॉफ्ट ग्राउंड पर रूक गया जिससे उसमें सवार 181 मुसाफिरों को खौफ का सामना करना पड़ा.

पायलटों के मुताबिक, टेबलटॉर रनवे पर लैंडिंग करना हमेशा मुश्किल रहता है. इसके लिए बिल्कुल सटीकता के साथ काम करना होता है जिसमें किसी तरह की गलती या लापरवाही के लिए कोई जगह नहीं है. 2010 में मेंगलुरू की दुर्घटना के बाद DGCA ने चौड़ी बॉडी वाले विमानों की काझिकोड एयपोर्ट पर लैंडिंग को बैन कर दिया था जिन्हें अपने ज्यादा पेलोड के कारण धीमे होने के लिए ज्यादा लंबी दूसरी की जरूरत होती है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Air India Express flight crash: बेहद खतरनाक है टेबलटॉप रनवे, 2010 के बाद दूसरा बड़ा विमान हादसा

Go to Top