India@75: आजादी के 75 साल में भारतीयों की बढ़ी है कमाई, जानिए कितने इंडियन्स की आय है एक करोड़ रुपये से अधिक

India@75: भारतीय आजादी के 75 साल में भारतीयों का आय में शानदार सुधार रही है और एक करोड़ रुपये से अधिक आय वाले भारतीयों की संख्या में भी इजाफा हुआ है.

India@75: आजादी के 75 साल में भारतीयों की बढ़ी है कमाई, जानिए कितने इंडियन्स की आय है एक करोड़ रुपये से अधिक
एसेसमेंट वर्ष 2021-22 में एक करोड़ रुपये से अधिक आय वाले सिर्फ 1,31,390 इंडिविजुअल्स रहे.

India@75: भारत अपनी आजादी के 75वें वर्ष में है. इन 75 वर्षों में भारत ने लंबा सफर तय किया है और इसकी अर्थव्यवस्था दुनिया के सबसे तेजी से बढ़ने वाले और भरोसेमेंद देशों में शुमार है. इंडिविजुअल इनकम की भी बात करें तो इसमें भी शानदार ग्रोथ रही और भारतीयों की मासिक आय में शानदार उछाल रही है. सरकार आधिकारिक तौर पर भारतीय परिवारों की आय का डेटा नहीं तैयार करती है लेकिन राजस्व विभाग के आंकड़ों के मुताबिक एसेसमेट वर्ष 2021-22 में 76 लाख से अधिक इंडिविजुअल की आय 10 लाख से लेकर एक करोड़ रुपये के बीच रही. उससे पूर्व एसेसमेंट वर्ष 2020-21 में 72 लाख से अधिक लोगों की आय 10 लाख-1 करोड़ रुपये थी.

तिरंगा के आर्किटेक्ट पिंगली वैंकेया की कहानी, आजादी के 75वें वर्ष में उनके गांव में कैसा है माहौल?

10 लाख से अधिक आय वाले भारतीयों की संख्या

  • भारत में अधिक करोड़पति नहीं हैं. ऑफिशियल डेटा के मुताबिक एसेसमेंट वर्ष 2021-22 में एक करोड़ रुपये से अधिक आय वाले सिर्फ 1,31,390 इंडिविजुअल्स रहे. हालांकि इनकी संख्या में बढ़ोतरी हुई है. एसेसमेंट वर्ष 2020-21 में एक करोड़ रुपये से अधिक आय वाले इंडिविजुल्स की संख्या 1,31,390 थी.
  • डिपार्टमेंट ऑफ रेवेन्यू के आंकड़ों के मुताबिक एसेसमेंट वर्ष 2021-22 में 10 लाख रुपये से एक करोड़ रुपये की आय वाले 76,90,979 इंडिविजुअल्स रहे जबकि एसेसमेंट वर्ष 2020-21 में यह संख्या 72,66,392 थी.

Independence Day 2022 : स्वतंत्रता दिवस पर ऐसे तैयार करें बच्चों की स्पीच, काफी काम आएंगे ये आसान टिप्स

ITR Filing से लगा सकते हैं बढ़ती आय का अंदाजा

भारतीयों की बढ़ती आय का अंदाजा आईटीआर से फाइलिंग की बढ़ती संख्या से लगा सकते हैं. एसेसमेंट वर्ष 2022-23 के लिए 31 जुलाई 2022 तक 5.8 करोड़ से अधिक रिटर्न फाइल हुए. हालांकि जब इसकी देश की जनसंख्या से तुलना की जाए तो अभी भी यह संख्या बहुत कम है. सरकार विभिन्न स्ट्रेटजी के जरिए अधिक से अधिक लोगों को टैक्स नेट में लाने की कोशिश कर रही है.

5g Smartphone under 15k: 15 हजार रुपये से कम में 5जी स्मार्टफोन, चेक करें फीचर्स और चुनें सस्ते में बेस्ट

गरीबी-असमानता भगाने के लिए सरकार ने उठाए अहम कदम

केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने हाल ही में संसद में एक सवाल के लिखित जवाब में कहा था कि सरकार ने गरीबी और असमानता को दूर करने और महामारी का आम लोगों पर असर कम करने के लिए अहम कदम उठाए हैं. वित्त वर्ष 2020-21 में सरकार ने आत्मनिर्भर भारत के तहत 29.87 लाख करोड़ रुपये के विशेष आर्थिक पैकेज का ऐलान किया था. इसके अलावा महामारी से जूझ रही इकॉनमी ग्रोथ को पटरी पर लाने और रोजगार को बढ़ावा देने के लिए पीएम गरीब कल्याण योजना का भी ऐलान किया था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News