मुख्य समाचार:

आगरा में फाइनेंस कंपनी ने सीज की थी बस, ड्राइवर, यात्री सुरक्षित: यूपी सरकार

Bus incident in Agra: उत्तर प्रदेश सरकार के अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) अविनाश अवस्थी ने बताया कि फाइनेंस कंपनी ने कथित रूप से बस सीज की थी. ड्राइवर और यात्री सुरक्षित हैं.

Updated: Aug 19, 2020 11:36 AM
Bus Hijack in Agra, member of finance company, loan EMI, driver and conductor filed a complained, agra police investigating, bus travelling from Gurgaon to Panna, bus hijack with 34 passengersबस का ड्राइवर और यात्री सुरक्षित हैं. आगरा पुलिस इस मामले में केस दर्ज जांच कर रही है.

Bus incident in Agra: गुरुग्राम से पन्ना जा रही एक बस के आगरा में हाईजैक होने की खबर से सनसनी फैल गई है. हालांकि बाद में यह पता चला किया बस को फाइनेंस कंपनी के कर्मचारियों ने सीज किया था. बस का ड्राइवर और यात्री सुरक्षित हैं. आगरा पुलिस इस मामले में केस दर्ज जांच कर रही है.

उत्तर प्रदेश सरकार के अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) अविनाश अवस्थी ने बताया कि फाइनेंस कंपनी ने कथित रूप से बस सीज की थी. ड्राइवर और यात्री सुरक्षित हैं. बस मालिक की मंगलवार को मौत हुई थी.

आगरा के एसएसपी बबलू सिंह का कहना है कि ग्वालियर से तीन लोगों ने बुधवार को एक शिकायत दर्ज कराई कि जिस बस में वे गुड़गांव से पन्न, मध्य प्रदेश जा रहे थे, उसे एक फाइनेंस कंपनी के सदस्यों ने ओवरटेक किया और सीज कर दिया. बस को इस कंपनी ने फाइनेंस किया था. इस मामले में केस दर्ज कर लिया गया है और मामले की जांच की जा रही है.

गुरुग्राम से मप्र जा रही थी बस

खबरों के अनुसार, यह बस गुरुग्राम से मप्र के पन्ना में अमानगंज को चली थी. रात में ही दक्षिणी बाइपास के रायभा टोल प्लाजा के पास 2 कार में सवार कुछ युवक मिले, जिन्होंने खुद को फाइनेंसकर्मी बताकर बस को रोक लिया. जब चालक बस से नीचे नहीं उतरा तो उन्होंने आगे तक बस का पीछा किया. मलपुरा क्षेत्र में न्यू दक्षिणी बाइपास पर ही उन्होंने बस को ओवरटेक कर रोक लिया. चालक और परिचालक को बस उतारकर खुद ही बस लेकर आगे बढ़ गए. वे बस को ग्वालियर रोड पर उतारकर सैंया ले गए. परिचालक से सवारियों के रुपये वापस कराकर सवारियों समेत बस लेकर चले गए.

फाइनेंस का मामला तो नहीं

ड्राइवर और कंडक्टर ने इसकी सूचना पुलिस को दी है. हालांकि बस की कोई सूचना नहीं मिल पाई है. इस घटना में यह भी शंका है कि एक फाइनेंस कंपनी के लोगों ने यह काम किया है. क्योंकि उन्होंने कहा था कि बस मालिक किस्त नहीं दे रहा है, इसलिए बस लेकर जा रहे हैं. जानकारी के मुताबिक, बस को हाईजैक करने वालों ने ड्राइवर और कंडक्‍टर को ढाबे पर खाना भी खिलाया था. सवारियों के साथ भी उनका व्यवहार अच्छा था. लेकिन फिर भी पूरे मामले में अबतक कुछ साफ नहीं हुआ है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. आगरा में फाइनेंस कंपनी ने सीज की थी बस, ड्राइवर, यात्री सुरक्षित: यूपी सरकार

Go to Top