सर्वाधिक पढ़ी गईं

7 प्रोजेक्ट जो बदल देंगे Indian Railways की तस्वीर, आम आदमी को होगा फायदा

अगले छह से आठ महीनों में, भारतीय रेलवे देश भर के 6,000 रेलवे स्टेशन को WiFi से लैस और हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्टिविटी दे सकेगी.

September 3, 2018 2:14 PM
indian railways, piyush goyal, railway upcoming projects, indian railways future projects, भारतीय रेलवे, पीयूष गोयल, business news in hindiअगले छह से आठ महीनों में, भारतीय रेलवे देश भर के 6,000 रेलवे स्टेशन को WiFi से लैस और हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्टिविटी दे सकेगी.

भारतीय रेलवे लगातार यात्रियों की सुविधा के लिए कदम उठा रही है. हाल ही में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने यात्री सुविधाओं को और बेहतर करने के लिए स्मार्ट प्रोजेक्ट को लेकर बातें बताई थी. गोयल ने कहा था कि भारतीय रेलवे, हालत और जरूरतों को देखते हुए उपायों पर काम कर रही है. गोयल ने कहा था कि यह भारतीय रेलवे की जिम्मेदारी है कि यात्रियों को मॉडर्न टेक्नोलॉजी के साथ बेहतरीन सुविधा दे सके. आइये भारतीय रेलवे के ऐसे ही 7 प्रोजेक्ट के बारे में जानते हैं जिसके बारे में पीयूष गोयल ने बताया था.

  • सभी ट्रेन समय पर चलें और इसकी पंच्यूलिटी में और बेहतरी हो, इसके लिए रेलवे काम कर रही है. 1 अप्रैल 2018 से अब तक हमनें 73-74 फीसदी ट्रेन की पंच्यूलिटी हासिल की है. नियत समय से ट्रेन चले तो स्टेशन मास्टर को डेटा जमा करने की जरुरत नहीं रह जाएगी.
  • भारतीय रेलवे हरेक लोकोमोटिव में जीपीएस लगा रही है. इसके जरिए ट्रेन की रियल टाइम रनिंग स्टेटस लोगों तक पहुंच पाएगी और यात्री मोबाइल फोन पर भी ट्रेन की एक्जक्ट लोकेशन का पता कर सकेंगे.
  • भारतीय रेलवे का कहना है कि विद्युतीकरण से हर साल भारतीय रेलवे 2 बिलियन डॉलर बचा सकता है. गोयल के अनुसार, डीजल इंजन को ओवरहाल करने की लागत, समान या इससे कम रकम उन्हें इलेक्ट्रिक में बदलने के लिए खर्च की जाएगी. ऐसे में बिना कुछ अतिरिक्त खर्च किए बिना, भारतीय रेलवे के पास एक नया इंजन हो सकता है. इलेक्ट्रिक इंजन, देश में कार्बन खपत पर असरदार साबित होगा.
  • गोयल ने यह भी बताया कि भारतीय रेलवे एफिशिएंसी में सुधार के लिए, जल्द ही समय सारिणी में बदलाव कर सकती है.
  • भारतीय रेलवे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) से जुड़ने की योजनाओं की समीक्षा कर रहा है. गोयल के अनुसार, अनुमानित रखरखाव, बेहतर निगरानी के साथ-साथ बेहतर यात्री सेवा के साथ उपयोग किए जाने वाले डेटा के साथ बहुत कुछ किया जा सकता है. इस मामले में, भारतीय रेलवे ने हाल ही में अपना पहला स्मार्ट कोच शुरू किया है जो कोच और ट्रैक के हालात को जांचने के लिए सेंसर आधारित प्रणाली का उपयोग करता है.
  • स्मार्ट सिग्नलिंग लागू हो जाने के बाद, भारतीय रेलवे का ध्यान स्थायी स्पीड प्रतिबंधों को हटाने और 150000 पुलों के सुधार पर रहेगा.
  • अगले छह से आठ महीनों में, भारतीय रेलवे देश भर के 6,000 रेलवे स्टेशन को WiFi से लैस और हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्टिविटी दे सकेगी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. 7 प्रोजेक्ट जो बदल देंगे Indian Railways की तस्वीर, आम आदमी को होगा फायदा

Go to Top