मुख्य समाचार:

Q1 में 5% वृद्धि दर हैरान करने वाली, सरकार के कदमों से सुधार की उम्मीद: शक्तिकांत दास

पिछले कुछ महीने से अर्थव्यवस्था में सुस्ती दिखाई दे रही है.

September 16, 2019 8:20 PM

5% Q1 growth surprise; economy will look up with measures taken: RBI governor Shaktikanta Das

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने सोमवार को कहा कि आर्थिक वृद्धि दर कम होकर 5 प्रतिशत रहना हैरत में डालने वाला है. हालांकि उन्होंने भरोसा जताया कि सरकार द्वारा हाल में उठाए गए कदमों से अर्थव्यवस्था में सुधार आएगा. दास ने कहा कि पिछले कुछ महीने से अर्थव्यवस्था में सुस्ती दिखाई दे रही है, उसमें तेजी लाने के लिए केंद्रीय बैंक नीतिगत दरों में कटौती कर रहा है.

उल्लेखनीय है कि RBI जनवरी 2019 से अब तक नीतिगत दर में चार बार कटौती कर चुका है. केंद्रीय बैंक इस साल अब तक रेपो रेट में कुल मिलाकर 1.10 प्रतिशत की कटौती कर चुका है. रेपो रेट वह है, जिस पर कमर्शियल बैंक RBI से अल्पकालीन कर्ज लेते हैं. दास ने कहा, ‘‘…सही कदम उठाए गए हैं, चीजों में सुधार आना चाहिए. यह एक सकारात्मक प्रवृत्ति है कि सरकार मसलों के समाधान को लेकर तेजी से कदम उठा रही है…’’

इन उपायों की हुई है घोषणा

उल्लेखनीय है कि सरकार ने अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए हाल में कई उपायों की घोषणा की है. इसमें रियल एस्टेट के लिए अलग से व्यवस्था, निर्यात प्रोत्साहन, बैंकों का मर्जर और एमएसएमई (सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यमों) व वाहन क्षेत्र के लिए प्रोत्साहन शामिल हैं. संरचनात्मक सुधारों के संदर्भ में उन्होंने कहा कि आरबीआई सालाना रिपोर्ट में इसका जिक्र कर चुका है.

दास ने आगे कहा, ‘‘मेरे हिसाब से एक महत्वपूर्ण चीज है एग्री मार्केटिंग. निश्चित रूप से मैं सरकार की तरफ से एग्री मार्केटिंग के क्षेत्र में सुधारों के संदर्भ में कुछ कदमों की अपेक्षा कर रहा हूं.’’

सिर्फ ब्याज दर घटाने से दूर नहीं होगी आर्थिक सुस्ती, ग्रामीण मांग बढ़ाने की जरूरत: SBI रिसर्च

ग्रोथ रेट का आंकड़ा निश्चित तौर पर अच्छा नहीं

चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में GDP (सकल घरेलू उत्पाद) आंकड़े को लेकर चिंता जताते हुए RBI गवर्नर ने कहा कि आंकड़ा निश्चित रूप से अच्छा नहीं है. आरबीआई ने वृद्धि दर 5.8 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया था. उन्होंने कहा, ‘‘हर किसी ने आर्थिक वृद्धि का जो अनुमान जताया था, वह 5.5 प्रतिशत से कम नहीं था. इसीलिए 5 प्रतिशत वृद्धि दर हैरान करने वाली है.’’

दास ने यह भी कहा कि सभी विकसित अर्थव्यवस्थाओं में दूसरी तिमाही में वृद्धि दर पहली तिमाही से कम है. यानी वृद्धि दर में गिरावट आ रही है. आगे कहा, ‘‘लेकिन मैं वैश्विक नरमी की आड़ में घरेलू आर्थिक वृद्धि दर में कमी को उचित नहीं ठहरा रहा. हालांकि वैश्विक नरमी का वृद्धि पर प्रभाव पड़ता है. इसके अलावा घरेलू मुद्दे भी हैं.’’

नरमी कब दूर होगी, इसका अनुमान लगाना कठिन

यह पूछे जाने पर कि अर्थव्यवस्था में नरमी कब दूर होगी, दास ने कहा कि अनुमान लगाना कठिन है, कई चीजें हैं जो इसे प्रभावित कर रही हैं. जैसे सऊदी अरब में तेल संकट. इसकी कोई उम्मीद नहीं थी. दुनिया की दो बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच व्यापार मसले. कुछ बयान आते हैं, जिससे लगता है कि मामला सुलझ जाएगा लेकिन वे फिर कदम वापस ले लेते हैं… काफी अनिश्चितता है.’’ दास ने कहा कि दूसरी तिमाही में चीजें कैसे आगे बढ़ती हैं, RBI उसका विश्लेषण करेगा और आकलन करेगा.

 

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Q1 में 5% वृद्धि दर हैरान करने वाली, सरकार के कदमों से सुधार की उम्मीद: शक्तिकांत दास

Go to Top