सर्वाधिक पढ़ी गईं

Pulwama: मुठभेड़ में जैश के 2 आतंकी भी ढेर, मेजर समेत 4 जवान शहीद

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सोमवार को आतंकवादियों के साथ हुई एक मुठभेड़ में एक सैन्य अधिकारी सहित चार जवान शहीद हो गए.

Updated: Feb 18, 2019 12:23 PM
Pulwama encounter between terrorists and security forces, Army personnel, Major, 55 Rashtriya Rifles, Jammu and Kashmir, India Army, Indiaजम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सोमवार को आतंकवादियों के साथ हुई एक मुठभेड़ में एक सैन्य अधिकारी सहित चार जवान शहीद हो गए. (Image : ANI)

Pulwama Encounter : जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सोमवार को आतंकवादियों के साथ हुई एक मुठभेड़ में एक सैन्य अधिकारी सहित चार जवान शहीद हो गए. रक्षा मुठभेड़ के दौरान जवानों ने जैश के दो आतंकियों को भी ढेर कर दिया. सूत्रों ने यह जानकारी दी. इस दौरान एक आम नागरिक की भी मौत हुई है.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने रात में दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में पिंगलान इलाके की घेराबंदी की और तलाश अभियान शुरू किया.

उन्होंने बताया कि सेना के तलाश अभियान के दौरान आतंकवादियों ने उन पर गोलीबारी शुरू कर दी, जिससे मुठभेड़ शुरू हो गई. रक्षा सूत्रों ने बताया कि मुठभेड़ में मेजर रैंक के एक अधिकारी सहित चार जवान शहीद हो गए. बताया जा रहा है कि गोलीबारी में एक आम नागरिक की भी मौत हुई है. इलाके में अब भी अभियान जारी है.

जानकारी के मुताबिक सुरक्षाबलों को पुलवामा के पिंगलिना इलाके में दो से तीन आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिली थी. 55 राष्ट्रीय राइफल्स ने इसके बाद ऑपरेशन शुरू कर दिया. देर रात करीब 12 बजे से सुरक्षाबलों और आतंकियों में मुठभेड़ शुरू हुई, जो सुबह तक चलती रही. इसमें मेजर समेत चार जवान गंभीर रूप से घायल हो गए. बाद में चारों जवानों ने दम तोड़ दिया. शहीदों में मेजर वीएस डॉन्डियाल, हवलदार सेवराम, सिपाही अजय कुमार और सिपाही हरि सिंह थे. सभी शहीद जवान 55 राष्ट्रीय राइफल्स के थे.

सरकार ने 6 अलगाववादी नेताओं से वापस ली सुरक्षा

इससे पहले 14 फरवरी को पुलवामा जिले में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे. इसके बाद सरकार ने कई सख्त कदम उठाए हैं. इनमें से एक कदम 6 अलगाववादी नेताओं को मिली सुरक्षा वापस लेना भी शामिल है. जिनकी सुरक्षा वापस ली गई है उनमें ऑल पार्टीज हुर्रियत कॉन्फ्रेंस (APHC) के चेयरमैन मीरवाइज उमर फारूक, शब्बीर शाह, हाशिम कुरैशी, बिलाल लोन, फजल हक कुरैशी और अब्दुल गनी बट शामिल हैं. अधिकारियों ने रविवार को बताया कि इन 6 नेताओं और दूसरे अलगाववादियों को किसी भी तरह से सुरक्षा कवर नहीं दिया जाएगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Pulwama: मुठभेड़ में जैश के 2 आतंकी भी ढेर, मेजर समेत 4 जवान शहीद

Go to Top