सर्वाधिक पढ़ी गईं

India-US 2+2 Dialogue: चीन से तनाव के बीच भारत-अमेरिका में ‘BECA’ डील, दोनों के बीच रक्षा संबंध होंगे और मजबूत

इस समझौते के तहत भारत और अमेरिका एक दूसरे से संवदेनशील सूचनाओं को साझा करेंगे.

Updated: Oct 27, 2020 3:47 PM
2+2 India-US Ministerial Dialogue, India and the United States have signed the Basic Exchange and Cooperation Agreement, BECAImage: @MEAIndia

India-US 2+2 Ministerial Dialogue: लद्दाख में सीमा पर चीन और भारत के बीच चल रहे तनाव के बीच भारत ने अमेरिका के साथ रक्षा संबंध और मजबूत करने की दिशा में एक और कदम आगे बढ़ाया है. भारत और अमेरिका के बीच मंगलवार को हुए 2+2 मंत्रीस्तरीय संवाद में दोनों देशों ने बेसिक एक्सचेंज एंड कोऑपरेशन एग्रीमेंट (BECA) पर हस्ताक्षर कर दिए. इस समझौते के तहत भारत और अमेरिका एक दूसरे से संवदेनशील सूचनाओं को साझा करेंगे. इससे दोनों देशों के बीच रक्षा संबंध और मजबूत होंगे.

भारत की ओर से समझौते पर रक्षा मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव जीवेश नंदन ने हस्ताक्षर किए. 2+2 मंत्रीस्तरीय संवाद के लिए अमेरिका के रक्षा सचिव मार्क एस्पर और यूएस स्टेट सेक्रेटरी माइक पॉम्पियो सोमवार को भारत पहुंचे.

दोनों देशों की मिलिट्री का सहयोग अच्छे से बढ़ रहा आगे

डील के बाद दोनों देशों की ओर से संयुक्त बयान जारी किया गया. इस मौके पर भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि दोनों देशों की मिलिट्री का सहयोग काफी अच्छे से आगे बढ़ रहा है. दो दिन की बैठक में हमने पड़ोसी देशों व अन्य थर्ड कंट्रीज में संभावित क्षमता निर्माण और अन्य संयुक्त सहयोग गतिविधियों का भी पता लगाया. दोनों देश इस बात पर भी सहमत हुए हैं कि अंतरराष्ट्रीय सागर में नेविगेशन के कानून और आजादी के नियम की इज्जत करने वाले नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय आदेश कायम रखना और सभी राज्यों में क्षेत्रीय अखंडता व संप्रभुता बनाए रखना जरूरी है.

हर तरह के खतरे के खिलाफ बढ़ा रहे आपसी सहयोग

यूएस स्टेट सेक्रेटरी माइक पॉम्पियो ने कहा कि अमेरिका और भारत न केवल चाइनीज कम्युनिस्ट पार्टी की ओर से पैदा किए गए खतरे, बल्कि हर तरह के खतरे के खिलाफ आपसी सहयोग को मजबूत बनाने के लिए कदम उठा रहे हैं. पॉम्पियो ने यह भी कहा कि हमारे नेता और नागरिक स्पष्ट रूप से देख रहे हैं कि चाइनीज कम्युनिस्ट पार्टी लोकतंत्र, कानून, पारदर्शिता की देास्त नहीं है. पिछले साल हमने साइबर मामलों पर सहयोग को विस्तार दिया था. हमारी नेवी ने भारतीय समुद्र में ज्वॉइंट एक्सरसाइज की है. आगे कहा कि अमेरिका भारत को एक बहुपक्षीय साझेदार मानता है. फिर चाहे वह अफगान में शांति वार्ता को सफल बनाना हो या यूएन सिक्योरिटी काउंसिल पर भारत के आगामी टर्म को लेकर साथ काम करना हो, हम भारत की UNSC की स्थाीय सदस्यता को समर्थन देते रहेंगे.

कंधे से कंधा मिलाकर हैं खड़े

अमेरिकी रक्षा सचिव मार्क एस्पर ने कहा कि चूंकि दुनिया वैश्विक महामारी और सुरक्षा को लेकर बढ़ती चुनौतियों से जूझ रही है, ऐसे में भारत-अमेरिका की पार्टनरशिप क्षेत्र व विश्व की सुरक्षा, स्थिरता और संपन्नता सुनिश्चित करने के लिए पहले से कहीं ज्यादा महत्वपूर्ण हो जाती है. हमारे साझा मूल्यों और कॉमन इंट्रेस्ट के आधार पर हम सभी के लिए मुक्त और खुले इंडो पैसि​फिक के समर्थन में कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं. विशेषकर तब जब चीन की ओर से आक्रामक और अस्थिरता वाली गतिविधियां बढ़ रही हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. India-US 2+2 Dialogue: चीन से तनाव के बीच भारत-अमेरिका में ‘BECA’ डील, दोनों के बीच रक्षा संबंध होंगे और मजबूत

Go to Top