मुख्य समाचार:

2012 दिल्ली गैंगरेप और मर्डर केस: सभी 4 दोषियों को तिहाड़ जेल में सुबह 5:30 बजे फांसी

2012 दिल्ली गैंगरेप और मर्डर केस में सभी 4 दोषियों को तिहाड़ जेल में फांसी

March 20, 2020 12:14 PM
2012 delhi gangrape and murder case, all 4 convicts hanged today 20 march in tihar jail, Tihar Jail, Delhi gangrape case, all 4 convicts hanged, 2012 दिल्ली गैंगरेप और मर्डर केस, सभी 4 दोषियों को तिहाड़ जेल में फांसी2012 दिल्ली गैंगरेप और मर्डर केस में सभी 4 दोषियों को तिहाड़ जेल में फांसी

2012 Delhi Gangrape & Murder Case: 2012 दिल्ली गैंगरेप और मर्डर केस में 20 मार्च यानी आज की सुबह इंसाफ की सुबह बन गई है. इस मामले में सभी 4 दोषियो को आज सुबह 5:30 बजे फांसी दे दी गई है. उन्हें हैंगमैन पवन जल्लाद ने फांसी पर लटकाया. इस दौरान तिहाड़ जेल में सुरक्षा के भारी इंतजाम किए गए थे. इसके पहले सुप्रीम कोर्ट ने तड़के तक एक दोषी की अर्जी पर सुनवाई की और उसकी आखिरी अर्जी भी खारिज कर दी. शवों को पोस्टमार्टम के लिए दिल्ली के डीडीयू अस्पताल ले जाया गया है.

तिहाड़ जेल के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है, जब एक ही अपराध में 4 दोषियों को एक ही साथ फांसी हुई हो. बता दें कि तिहाड़ साउथ एशिया की सबसे बड़ी जेल है. तिहाड़ जेल के डायरेक्टर जनरल संदीप गोयल ने खुद 5:30 बजे चारों दोषियों को फांसी होने की जानकारी दी.

7 साल बाद इंसाफ

फांसी के बाद पीड़ित की मां ने न्यायपालिका और सरकारों के प्रति आभार जताया है. उन्होंने कहा कि इस मामले में हमने लंबी लड़ाई लड़ी, लेकिन आखिरकार इंसाफ मिल गया. बता दें कि 2012 दिल्ली गैंगरेप और मर्डर केस में 7 साल बाद पीड़ित को इंसाफ मिला. इसके पहले लंबी कानूनी लड़ाई चली जो फांसी के कुछ घंटों पहले तक चलती रही.

सुबह तक कानूनी लड़ाई

इस केस के दोषियों की फांसी से पहले तड़के साढ़े तीन बजे तक कानूनी दांव पेच भी चलता रहा. सुबह 3:30 बजे सुप्रीम कोर्ट ने एक दोषी का आखिरी याचिका भी खारिज कर दी. याचिका पर 45 मिनट तक सुनवाई चली. उससे पहले दिल्ली हाई कोर्ट ने भी उसके वकील की दलीलों को आधारहीन बताते हुए याचिका खारिज कर दी थी. वहीं, मामले में सभी 4 दोषियों की पूरी रात मॉनिटरिंग की गई. ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि जेल अधिकारी नहीं चाहते थे कि ये चारों खुद को नुकसान पहुंचाएं.

दोषी पूरी रात रहे बेचैन

बताया जा रहा है कि फांसी के पहले चारों दोषी पूरी रात बेचैन रहे. एक दोषी फांसी के लिए आगे नहीं जा रहा था, फिर फांसी घर में मौजूद लोग उसे जबरन आगे लेकर गए. इससे पहले 2 दोषियों ने अपने हाथ बंधवाने से भी इनकार किया था. पुलिसवालों की मदद से उनके हाथ बांधे गए थे. ये भी खबर है कि जेल में किसी तरह की अव्यवस्था न हो, इसके लिए तमिलनाडु पुलिस ने वहां सुबह फ्लैगमार्च भी किया.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. 2012 दिल्ली गैंगरेप और मर्डर केस: सभी 4 दोषियों को तिहाड़ जेल में सुबह 5:30 बजे फांसी

Go to Top