सर्वाधिक पढ़ी गईं

गुजरात में बंद हो गई 107 साल पुरानी ट्रेन सेवा! 5 कोच और 15 रु किराया

कोविड19 महामारी के आने के बाद इस छोटी लाइन ट्रेन सेवा को नुकसान हुआ है.

Updated: Dec 13, 2020 6:09 PM

दक्षिण गुजरात में रेलवे की एक छोटी लाइन ट्रेन सेवा पिछले 107 सालों से चल रही थी. लेकिन अब संभावना है कि वह ट्रेन सेवा बंद हो गई हो. यह लाइन बिलीमोरा-वाघई का हेरिटेज रेलवे रूट है. यह रूट वेस्टर्न रेलवे जोन की उन 11 ब्रांच रेल लाइन्स और छोटी लाइन वाले सेक्शंस में से एक है, जिन्हें रेल मंत्रालय अलाभकर मानता है. रेल मंत्रालय ने हाल ही में इन्हें हमेशा के लिए बंद करने का आदेश दिया है.

बिलीमोरा-वाघई छोटी लाइन ट्रेन सेवा को अंग्रेजों ने 1913 में शुरू किया था. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, इसका इस्तेमाल ज्यादातर आदिवासी करते थे. कोविड19 महामारी के आने के बाद इस छोटी लाइन ट्रेन सेवा को नुकसान हुआ है.

गायकवाड़ डायनैस्टिी की निशानी

वेस्टर्न रेलवे जोन में चीफ पब्लिक रिलेशन अधिकारी सुमित ठाकुर के हवाले से रिपोर्ट में कहा गया है कि 11 लाइन्स में से कुछ पर ट्रेन सेवा बंद हो चुकी है. बिलीमोरा-वाघई हेरिटेज रेलवे सर्विस गायकवाड़ डायनैस्टिी की निशानी थी, जो पहले बड़ौदा रियासत पर शासन करते थे. बिलीमोरा-वाघई ट्रेन सेवा गुजरात के वलसाड जिले में बिलीमोरा जंक्शन को डांग जिले के वाघई जंक्शन से जोड़ती है और 63 किमी की दूरी कवर करती है. इसके रूट में ऐसे इलाके भी कवर होते हैं, जहां रेल कनेक्टिविटी की कमी है या फिर परिवहन के अन्य साधन नहीं हैं.

5 कोच और 15 रु किराया

बिलीमोरा-वाघई ट्रेन में 5 कोच हैं और इसका किराया 15 रुपये है. इस छोटी लाइन ट्रेन सर्विस के ज्यादातर यात्री आदिवासी हैं, जो अपनी सब्जियां खेतों से बिलीमोरा में बेचने के लिए लेकर जाते हैं. इस ट्रेन सर्विस का इस्तेमाल डांग के श्रमिक भी करते हैं, जो बिलीमोरा में आम और ​चीकू के बागों में काम करते हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. गुजरात में बंद हो गई 107 साल पुरानी ट्रेन सेवा! 5 कोच और 15 रु किराया

Go to Top