scorecardresearch

इंडस्ट्रियल वर्कर्स को पिछले महीने महंगाई से मिली राहत, लेकिन सालाना आधार पर बढ़ गया खर्च, सरकारी आंकड़ों से खुलासा

खाने-पीने की कुछ चीजों और पेट्रोल के सस्ता होने के चलते इंडस्ट्रियल वर्कर्स को पिछले महीने महंगाई से थोड़ी राहत मिली. हालांकि सालाना आधार पर महंगाई दर बढ़ गई.

इंडस्ट्रियल वर्कर्स को पिछले महीने महंगाई से मिली राहत, लेकिन सालाना आधार पर बढ़ गया खर्च, सरकारी आंकड़ों से खुलासा
जून 2022 में इंडस्ट्रियल वर्कर्स के लिए खुदरा महंगाई दर गिरकर 6.16 फीसदी पर आ गई. मई 2022 में यह आंकड़ा 6.97 फीसदी पर था. हालांकि सालाना आधार पर बात करें तो महंगाई बढ़ने की दर में इजाफा हुआ.

खाने-पीने की कुछ चीजों और पेट्रोल के सस्ता होने के चलते इंडस्ट्रियल वर्कर्स को पिछले महीने महंगाई से थोड़ी राहत मिली. लेबर मिनिस्ट्री द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक जून 2022 में इंडस्ट्रियल वर्कर्स के लिए खुदरा महंगाई दर गिरकर 6.16 फीसदी पर आ गई. मई 2022 में यह आंकड़ा 6.97 फीसदी पर था. हालांकि सालाना आधार पर बात करें तो महंगाई बढ़ने की दर में इजाफा हुआ. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल जून 2021 में यह आंकड़ा 5.57 फीसदी था.

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक फूड इंफ्लेशन जून 2022 में 6.73 पर था जो मई 2022 में 7.92 फीसदी और जून 2021 में 5.61 फीसदी पर था. जून 2022 में ऑल इंडिया सीपीआई-आईडब्ल्यू (कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स फॉर इंडस्ट्रियल वर्कर्स) में 0.2 फीसदी की बढ़ोतरी हुई और यह 129.2 प्वाइंट्स पर पहुंच गया. मई में यह 1129 पर था. श्रम व रोजगार मंत्रालय का लेबर ब्यूरो सीबीआई-आईडब्ल्यू को हर महीने देश भर के औद्योगिक रूप से महत्वपूर्ण 88 केंद्रों के 317 बाजार से कलेक्ट किए गए खुदरा भाव पर तैयार करती है.

बिना गुजराती-राजस्थानी के मुंबई में हो जाएगी पैसों की किल्लत, राज्यपाल कोश्यारी के इस बयान पर राजनीतिक घमासान

इन वजहों से इंडेक्स में तेजी और इनके चलते गिरावट

मौजूदा इंडेक्स पर सबसे अधिक दबाव फूड व बेवरेज ग्रुप से पड़ा और इंडेक्स में जो बढ़ोतरी हुई है, उसमें 0.20 फीसदी की वजह ये ही रहे. आलू, प्याज, टमाटर, गोभी, सेब, केला, धनिया, सूखी मिर्च, ताजा मछली, पॉल्ट्री चिकन, वड़ा, इडली डोसा, पका हुए खाना, रसोई गैस, किरोसीन ऑयल और घरेलू बिजली इत्यादि ने इंडेक्स को ऊपर बढ़ाया. हालांकि सरकारी आंकड़ों के मुताबिक गाड़ियों के पेट्रोल, चावल, आम, हरी मिर्च, नींबू, भिंडी, परवल, अनन्नास, सोयाबीन तेल और सूरजमुखी तेल इत्यादि ने इस पर नीचे आने के लिए दबाव बनाया.

Stock Tips: 70% कमाई कराएगा Tata Group का यह शेयर, अभी मिल रहे हैं भारी डिस्काउंट पर

सबसे अधिक तेजी पुडुचेरी, अमृतसर और त्रिपुरा में

इस इंडेक्स को देश भर के 88 केंद्रो पर कंपाइल कर तैयार किया जाता है और इसे अगले महीने के आखिरी वर्किंग डे पर रिलीज किया जाता है. सबसे अधिक तेजी पुडुचेरी में 2.6 प्वाइंट्स, इसके बाद अमृतसर में 2.2 प्वाइंट्स और त्रिपुरा में 2 प्वाइंट्स की रही. 15 केंद्रों में 1-1.9 प्वाइंट्स की बढ़ोतरी दर्ज की गई तो 33 केंद्रों पर 0.1-0.9 प्वाइंट्स की. वहीं दूसरी तरफ सबसे अधिक 2.4 प्वाइंट्स की गिरावट संगरूर में दर्ज की गई. पांच केंद्रों पर 1-1.9 प्वाइंट्स की गिरावट और 25 केंद्रों पर 0.1-0.9 प्वाइंट्स की गिरावट दर्ज की गई जबकि 6 केंद्रों पर कोई बदलाव नहीं दिखा.
(Input: PTI)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News