कर्मचारियों की सैलरी में 10.4% का इजाफा कर सकती हैं कंपनियां, सर्वे रिपोर्ट | The Financial Express

Employee Salary Hike : देश में 10.4% तक बढ़ सकती है कर्मचारियों की सैलरी, सर्वे रिपोर्ट में दावा

Aon PLC ने अपनी सर्वे रिपोर्ट में दावा किया है कि साल 2022 की पहली छमाही में नौकरी छोड़ने वालो की दर 20.3% थी, जिसकी वजह से कंपनियों पर सैलरी में इजाफा किये जाने का भारी दवाब है.

Employee Salary Hike : देश में 10.4% तक बढ़ सकती है कर्मचारियों की सैलरी, सर्वे रिपोर्ट में दावा
Aon PLC ने अपने सर्वे रिपोर्ट में दावा किया है कि FY23 में भारतीय कंपनियां अपने कर्मचारियों के वेतन में 10.4 फीसदी का इजाफा कर सकती हैं.

Employee Salary Hike : अगर आप प्राइवेट सेक्टर की किसी कंपनी में काम करते हैं, तो यह खबर आप के लिए किसी खुशखबरी से कम नहीं होने वाली. आने वाले समय में कंपनियां अपने कर्मचारियों की सैलरी में दस फीसदी से ज्यादा का इजाफा करने वाली हैं. यह दावा किया है एक मल्टीनेशनल फाइनेंशियल सर्विस एजेंसी Aon PLC ने. इसलिए अगर आप सैलरी की वजह से नौकरी बदलने या छोड़ने का फैसला कर चुके हैं तो एक बार फिर से अपने फैसले पर विचार जरूर करें.

ग्लोबल रेटिंग एजेंसी S&P ने घटाया भारत की ग्रोथ का अनुमान, FY23 में 7.3%  रह सकती है GDP

Aon PLC ने अपनी ताजा सर्वे रिपोर्ट में दावा किया है कि भारत की कई कंपनियां कारोबार में मजबूत प्रदर्शन के साथ ही अपने कर्मचारियों के वेतन में दस फीसदी से ज्यादा का इजाफा करने की तैयारी कर रही हैं. ब्रिटिश-अमेरिकन मल्टीनेशनल फाइनेंशियल सर्विस Aon PLC ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि अलग-अलग सेक्टर की कई कंपनियां अपने कारोबार में मजबूत प्रदर्शन की उम्मीद कर रही हैं. साथ ही ये कंपनियां FY23 में अपने कर्मचारियों के वेतन में 10.4% की बढोतरी कर सकती है. ताजा सर्वे रिपोर्ट का यह आंकड़ा फरवरी के वेतन में 9.9 फीसदी के इजाफे के अनुमान से ज्यादा है. जबकि साल 2022 के दौरान वेतन में 10.6 प्रतिशत का इजाफा होने की बात कही गई थी.

Apple जल्द लाएगी मेड इन इंडिया iPhone 14, दुनिया भर में होगा एक्‍सपोर्ट

Aon PLC ने अपने सर्वे में देश में अलग-अलग सेक्टर्स की 1,300 कंपनियों को शामिल किया है. एजेंसी ने बताया कि साल 2022 की पहली छमाही में नौकरी छोड़ने की दर 20.3 प्रतिशत के सबसे ऊंचे स्तर पर रही है. जिसकी वजह से कंपनियों पर सैलरी में इजाफा किये जाने का भारी दवाब है. हालांकि नौकरी छोड़ने वालों की यह संख्या साल 2021 के मुकाबले में 21 फीसदी कम है. रिपोर्ट के अनुसार यह प्रवृत्ति अगले कुछ महीनों तक ऐसे ही जारी रहने की संभावना है.

भारत में एओन के ह्यूमन कैपिटल सॉल्यूशंस के पार्टनर रूपंक चौधरी ने बताया कि वैश्विक मंदी की आशंका और भारतीय बाजार में जारी अस्थिर मुद्रास्फीति के बावजूद फाइनेंशियल ईयर 2023 में देश की अनुमानित सैलरी इंक्रीमेंट डबल डिजिट में रहने की उम्मीद है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News