MSME Udyam पोर्टल से 35 हजार से अधिक एंटरप्राइजेज ने वापस लिया रजिस्ट्रेशन, सरकारी आंकड़ों से हुआ खुलासा

Ease of Doing Business for MSMEs: आंकड़ों के मुताबिक, MSME रजिस्ट्रेशन पोर्टल Udyam पर रजिस्टर्ड 35,501 एंटरप्राइजेज ने अब तक अलग-अलग कारण बताते हुए रजिस्ट्रेशन वापस ले लिए हैं.

MSME Udyam पोर्टल से 35 हजार से अधिक एंटरप्राइजेज ने वापस लिया रजिस्ट्रेशन, सरकारी आंकड़ों से हुआ खुलासा
सरकारी आंकड़ों के अनुसार 1 जुलाई, 2020 को पोर्टल की शुरुआत के बाद से अब तक बड़ी संख्या में एंटरप्राइजेज ने अपना रजिस्ट्रेशन वापस ले लिया है.

Ease of Doing Business for MSMEs: केंद्र सरकार ने थोक व खुदरा व्यापारियों को MSME (माइक्रो, स्माल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज) के दायरे में लाने के लिए Udyam पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन की शुरुआत की थी. लेकिन, सरकारी आंकड़ों के अनुसार 1 जुलाई, 2020 को पोर्टल की शुरुआत के बाद से अब तक बड़ी संख्या में एंटरप्राइजेज ने अपना रजिस्ट्रेशन वापस ले लिया है. आंकड़ों के मुताबिक, MSME रजिस्ट्रेशन पोर्टल Udyam पर रजिस्टर्ड 35,501 एंटरप्राइजेज ने अब तक अलग-अलग कारण बताते हुए रजिस्ट्रेशन वापस ले लिए हैं.

15 जुलाई, 2022 तक के आंकड़ों के अनुसार, इनमें से 67 फीसदी या 24,075 रजिस्ट्रेशन पिछले वित्तीय वर्ष 2021-22 में वापस लिए गए हैं. वहीं, वित्त वर्ष 2021 में 931 पंजीकरण वापस लिए गए. मौजूदा वित्त वर्ष की बात करें दो इस साल 10,495 एंटरप्राइजेज ने अपने उद्यम लाइसेंस वापस लिए हैं.

देश में लगातार दूसरे साल ज्यादा रहेगी बिजली की डिमांड, प्रीकोविड लेवल के भी जा सकती है पार: CRISIL

रजिस्ट्रेशन वापस लेने की क्या है वजह?

MSME राज्य मंत्री भानु प्रताप सिंह वर्मा ने लोकसभा में गुरुवार को रजिस्ट्रेशन वापस लिए जाने के प्रमुख कारणों के बारे में बताया है. उन्होंने कहा कि 9,141 एंटरप्राइजेज ने (1 जुलाई, 2020 से 15 जुलाई, 2022 तक) ऑपरेशन बंद होने के चलते रजिस्ट्रेशन वापस ले लिया. इसके अलावा, 5,510 एंटरप्राइजेज ने अपना रजिस्ट्रेशन इसलिए वापस ले लिया क्योंकि उन्हें इसकी और जरूरत नहीं थी. वहीं, बिजनेस में मालिक बदलने के चलते 3,911 रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिए गए. इसके साथ ही, 15,597 एंटरप्राइजेज ने ‘अन्य’ कारणों का हवाला देते हुए लाइसेंस रद्द कर दिया.

मौजूदा वित्त वर्ष में रजिस्ट्रेशन वापस लेने वालों में से 2,744 एंटरप्राइजेज ने पहले ही व्यापार बंद होने के कारण अपने लाइसेंस रद्द कर दिए हैं. वहीं, बिजनेस में मालिक बदलने के चलते 1,138 रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिए गए. अन्य 1,607 एंटरप्राइजेज ने कहा कि उन्हें अब पंजीकरण की आवश्यकता नहीं है.

सोनिया गांधी से ED दफ्तर में 2 घंटे तक पूछताछ, विपक्ष ने केंद्र सरकार पर लगाया एजेंसियों के दुरुपयोग का आरोप

रजिस्ट्रेशन वापस लेने वालों की संख्या बड़ी बात नहीं: अशोक सहगल

हालांकि, रजिस्ट्रेशन वापस लेने वालों की कुल संख्या अब तक पोर्टल पर 97 लाख से अधिक रजिस्ट्रेशन का केवल 0.36 प्रतिशत है. फ्रंटियर टेक्नोलॉजीज के एमडी और CII नेशनल एमएसएमई काउंसिल के को-चेयरमैन अशोक सहगल ने फाइनेंशियल एक्सप्रेस ऑनलाइन को बताया, “अगर हम कुल रजिस्ट्रेशन काउंट को देखें तो रजिस्ट्रेशन वापस लेने वालों की संख्या बड़ी बात नहीं है.”

(Article: Sandeep Soni)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News