scorecardresearch

GST Collection: जून में जीएसटी कलेक्शन 56% बढ़ा, सरकार को मिले 1.44 लाख करोड़ रुपये

जून 2022 में ग्रॉस GST कलेक्शन सालाना आधार पर 56 फीसदी बढ़ गया है. सरकार को जून में GST से कुल 1.44 लाख करोड़ का रेवेन्यू हासिल हुआ है.

गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) के मोर्चे पर राहत की खबर है. (File)

GST Collection in June 2022: गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) के मोर्चे पर राहत की खबर है. जून 2022 में ग्रॉस GST कलेक्शन सालाना आधार पर 56 फीसदी बढ़ गया है. सरकार को जून में GST से कुल 1.44 लाख करोड़ का रेवेन्यू हासिल हुआ है. ट्विटर पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने यह जानकारी दी है. यह कलेक्शन के मामले में दूसरा सबसे अच्छा महीना है. इसके पहले मई 2022 में GST से 1.41 लाख करोड़ रेवेन्यू आया था. मार्च 2022 के बाद से ही कलेक्शन 1.40 लाख करोड़ से ज्यादा बना हुआ है. अप्रैल 2022 में 1.68 लाख करोड़ रेवेन्यू हासिल हुआ था, जो अबतक सबसे ज्यादा है.

जून में लो कलेक्शन का ट्रेंड टूटा

GST के 5 साल पर वित्त मंत्री ने कहा कि इससे हासिल होने वाला रेवेन्यू लगातार 1.40 लाख करोड़ के वार बना हुआ है. जून 2022, अप्रैल 2022 के बाद सबसे ज्यादा रेवेन्यू हासिल करने वाला दूसरा महीना है. इसके पहले जून महीने में कलेक्शन कमजोर रहता था, लेकिन इस बार यह ट्रेंड भी टूट गया. आर्थिक सुधार के साथ, एंटी इवेशन एक्टिविटीज खासतौर से फेक बिल देने वालों के खिलाफ एक्शन का फायदा मिला है. इस महीने में ग्रॉस सेस कलेक्शन GST लागू होने के बाद से सबसे अधिक है.

CGST रेवेन्यू 25,306 करोड़ रुपये

जून के लिए, CGST रेवेन्यू 25,306 करोड़ रुपये, SGST रेवेन्यू 32,406 करोड़ रुपये, IGST 75,887 करोड़ रुपये और GST कंपेंनसेशन सेस 11,018 करोड़ रुपये रहा. सरकार ने IGST से 29,588 करोड़ रुपये CGST और 24,235 करोड़ रुपये SGST में तय किए. इसके अलावा, केंद्र ने केंद्र और राज्यों के बीच 50:50 के रेश्यो में एड-हॉक बेसिस पर IGST के 27,000 करोड़ रुपये का निपटान भी किया. रेगुलर और एड-हॉक सेटलमेंट के बाद जून में केंद्र और राज्यों का कुल राजस्व CGST के लिए 68,394 करोड़ रुपये और SGST के लिए 70,141 करोड़ रुपये रहा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News