scorecardresearch

अप्रैल में 13% घटा वेजिटेबल ऑयल इंपोर्ट, इंडोनेशिया ने पाबंदी नहीं हटाई तो बढ़ेगी मुश्किल : SEA

सॉल्वेंट एक्सट्रैक्टर्स एसोसिएशन (SEA) ने कहा है कि अगर इंडोनेशिया ने मई के अंत तक पाम ऑयल एक्सपोर्ट से रोक नहीं हटाई तो हालात काफी बिगड़ जाएंगे.

Vegetable oil imports fall 13 per cent
SEA के मुताबिक अप्रैल 2022 में देश में वनस्पति तेलों का इंपोर्ट 13 फीसदी घटकर 9,11,846 टन रह गया, जबकि अप्रैल 2021 में यह 10,53,347 टन रहा था.

अप्रैल के महीने में देश में वेजिटेबल ऑयल यानी वनस्पति तेलों का आयात तेजी से घटा है. इसमें खाद्य और गैर-खाद्य, दोनों ही तरह के वेजिटेबल ऑयल शामिल हैं. यह जानकारी देश में तेल उत्पादकों के संगठन सॉल्वेंट एक्सट्रैक्टर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (SEA) की तरफ से शुक्रवार को जारी एक बयान में दी गई है. इसके साथ ही एसोसिएशन ने यह भी कहा है कि अगर इंडोनेशिया ने पाम ऑयल के एक्सपोर्ट पर लगी पाबंदी मई के अंत तक नहीं हटाई, तो देश में खाने के तेल की उपलब्धता और कीमतों के लिहाज से हालात काफी मुश्किल हो जाएंगे.

SEA के मुताबिक अप्रैल 2022 में देश में वनस्पति तेलों का इंपोर्ट 13 फीसदी घटकर 9,11,846 टन रह गया, जबकि अप्रैल 2021 में यह आयात 10,53,347 टन रहा था. इसमें खाने के तेल के अलावा अखाद्य तेल भी शामिल हैं. वेजिटेबल ऑयल की दोनों कैटगरीज को अलग-अलग करके देखें तो अप्रैल 2021 में खाद्य तेलों का आयात 10,29,912 टन था, जो अप्रैल 2022 में घटकर 9,00,085 टन रह गया. जबकि इसी दौरान अखाद्य तेलों का आयात 23,435 टन से घटकर 11,761 टन रह गया.

नवंबर 2021 से अप्रैल 2022 के दौरान 4% बढ़ा इंपोर्ट

वेजिटेबल ऑयल का कारोबारी साल नवंबर से अक्टूबर तक माना जाता है. इस ऑयल मार्केटिंग इयर की पहली छमाही यानी नवंबर 2021 से अप्रैल 2022 के दौरान वेजिटेबल ऑयल के इंपोर्ट में 4 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई. इस दौरान देश में 67,07,574 टन वनस्पति तेलों का आयात किया गया, जबकि नवंबर 2020 से अप्रैल 2021 के दौरान इंपोर्ट का यह आंकड़ा 64,28,350 टन रहा था.

इंडोनेशिया के एक्सपोर्ट बैन से बढ़ी मुश्किल

SEA ने कहा कि इंडोनेशिया ने 28 अप्रैल 2022 से पाम ऑयल का एक्सपोर्ट बंद कर दिया है, जिससे दुनिया भर के कंज्यूमर्स के लिए हालात बेहद मुश्किल हो गए हैं. एसोसिएशन के मुताबिक वे उम्मीद कर रहे हैं कि इंडोनेशिया यह पाबंदी मई के अंत तक हटा लेगा. लेकिन अगर उसने ऐसा नहीं किया तो स्थिति बहुत खराब हो जाएगी. समस्या इसलिए बेहद गंभीर है, क्योंकि दूसरे देशों से पाम ऑयल की पर्याप्त सप्लाई उपलब्ध नहीं है. भारत हर महीने दूसरे देशों से 6 से 6.5 लाख टन पाम ऑयल खरीदता है. इसमें करीब 3 लाख टन पाम ऑयल इंडोनेशिया से और करीब इतना ही मलेशिया से आता है, जबकि बाकी 10 फीसदी तेल थाईलैंड समेत अन्य देशों से आता है.

देश में खाद्य तेलों के भाव

इस बीच, विदेशी बाजारों में तेजी के कारण शुक्रवार को घरेलू बाजार में भी खाद्य तेलों और तिलहनों के भावों में तेजी का रुख रहा. दिल्ली के तेल-तिलहन बाजार में शुक्रवार को सोयाबीन डीगम, बिनौला, सीपीओ और पामोलिन तेल में तेजी देखने को मिली. जबकि सरसों और मूंगफली तेल तिलहन और सोयाबीन दाना के भाव पहले के स्तर पर ही बंद हुए. महंगे होने के कारण सीपीओ, सोयाबीन डीगम और पामोलिन में कोई खास कारोबार नहीं हो रहा है, फिर भी विदेशों में तेजी के कारण इन तेलों में तेजी बनी रही. इस बीच, सहकारी संस्था हाफेड ने 5,000 टन सरसों दाने की खरीद करने के लिए टेंडर मंगाए हैं. जानकारों के मुताबिक यह खरीद आगे जाकर दीवाली के दौरान मददगार साबित होगी.

दिल्ली में शुक्रवार को तेल-तिलहनों के भाव :

सरसों तिलहन – 7,615-7,665 रुपये प्रति क्विंटल (42 प्रतिशत कंडीशन)
मूंगफली – 6,885 – 7,020 रुपये प्रति क्विंटल
मूंगफली तेल मिल डिलिवरी (गुजरात) – 15,850 रुपये प्रति क्विंटल
मूंगफली सॉल्वेंट रिफाइंड तेल 2,650 – 2,840 रुपये प्रति टिन
सरसों तेल दादरी- 15,300 रुपये प्रति क्विंटल
सरसों पक्की घानी- 2,405-2,485 रुपये प्रति टिन
सरसों कच्ची घानी- 2,445-2,555 रुपये प्रति टिन
तिल तेल मिल डिलिवरी – 17,000-18,500 रुपये प्रति क्विंटल
सोयाबीन तेल मिल डिलिवरी दिल्ली- 17,050 रुपये प्रति क्विंटल
सोयाबीन मिल डिलिवरी इंदौर- 16,450 रुपये प्रति क्विंटल
सोयाबीन तेल डीगम, कांडला- 15,550 रुपये प्रति क्विंटल
सीपीओ एक्स-कांडला- 15,350 रुपये प्रति क्विंटल
बिनौला मिल डिलिवरी (हरियाणा)- 15,650 रुपये प्रति क्विंटल
पामोलिन आरबीडी, दिल्ली- 16,950 रुपये प्रति क्विंटल
पामोलिन एक्स- कांडला- 15,720 रुपये प्रति क्विंटल (बिना जीएसटी)
सोयाबीन दाना – 7,000-7,100 रुपये प्रति क्विंटल
सोयाबीन लूज 6,700- 6,800 रुपये प्रति क्विंटल

इंदौर में तेल-तिलहन के भाव

तिलहन सरसों (निमाड़ी) 6500 से 6600
नया रायड़ा 6300 से 6400 रुपये प्रति क्विंटल
मूंगफली तेल इंदौर 1620 से 1630,
सोयाबीन रिफाइंड इंदौर 1580 से 1585,
सोयाबीन साल्वेंट 1555 से 1560,
पाम तेल 1665 से 1670 रुपये प्रति 10 किलोग्राम

(इनपुट – पीटीआई)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News