मुख्य समाचार:

SBI में बंपर जॉब! इस साल 14,000 नियुक्तियां करेगा बैंक, क्या है प्लानिंग

SBI अपने परिचालनों को बढ़ा रहा है, जिसके लिए उसे लोगों की जरूरत है.

Updated: Sep 07, 2020 8:08 PM
SBI has plans of recruiting more than 14,000 employees this year, state bank of india, SBI clarification on VRSयह बात SBI ने एक बयान के जरिए स्पष्ट की है. Image: Reuters

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने एक ओर 30000 से अधिक कर्मचारियों को कवर करने वाली वॉलंटरी रिटायरमेंट स्कीम (VRS) तैयार की है, तो वहीं दूसरी ओर वह इस साल 14000 से अधिक लोगों को नियुक्त करने वाला है. जी हां, ये दोनों बातें एक दूसरे के उलट हैं लेकिन सही हैं. दरअसल VRS स्कीम को लाने के पीछे वजह लागत का बोझ घटाना नहीं बल्कि उन मौजूदा SBI कर्मचारियों को फायदा देना है, जिन्होंने अपने करियर में स्ट्रेटेजिक ​शिफ्ट की इच्छा जताई है. यानी आसान शब्दों में जो बैंक में आगे सेवा नहीं देना चाहते हैं. यह बात SBI ने एक बयान के जरिए स्पष्ट की है.

बयान में SBI के प्रवक्ता ने कहा कि बैंक द्वारा लागू किए जाने के लिए प्रस्तावित “On Tap VRS” (‘Second Innings Tap VRS-2020’) स्कीम को लेकर मीडिया में जो रिपोर्ट आईं, उनमें इस स्कीम को वर्कफोर्स घटाने और लागत का बोझ कम करने का कदम बताया गया. SBI की मौजूदा वर्कफोर्स 2.50 लाख है और बैंक अपने कर्मचारियों की जरूरतों को पूरा करने और जिंदगी के सफर में उन्हें मदद करने के लिए साधन ​तैयार करने में आगे रहता है. ऐसे में यह सोचा गया कि जो कर्मचारी प्रोफेशनल ग्रोथ लिमिटेशंस, मोबिलिटी इश्यू, फिजिकल हेल्थ कंडीशंस या पारिवारिक हालात के चलते अपने करियर में स्ट्रेटेजिक शिफ्ट चाहते हैं, उन्हें एक अनुकूल समाधान उपलब्ध कराया जाए. इसलिए वॉलंटरी रिटायरमेंट स्कीम तैयार की गई.

इंप्लॉई फ्रेंडली है बैंक

प्रवक्ता ने कहा कि SBI इंप्लॉई फ्रेंडली है और अपने परिचालनों को बढ़ा रहा है, जिसके लिए उसे लोगों की जरूरत है. इस बात की पुष्टि इस तथ्य से होती है कि SBI ने इस साल 14000 से अधिक लोगों को नियुक्त करने की योजना बनाई है. बयान में कहा गया कि बैंक देश के बेरोजगार युवाओं को स्किल्ड बनाने की गहरी इच्छा रखता है. SBI देश में अकेला ऐसा बैंक है, जिसने भारत सरकार की नेशनल अप्रेंटिसशिप स्कीम के तहत प्रशि​क्षुओं को रखा है.

NEP: ये सरकार नहीं, देश की शिक्षा नीति है, पढ़ने के बजाय सीखने पर फोकस- PM मोदी

क्या है SBI की VRS

SBI की स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (VRS) के लिए लगभग 30190 कर्मचारी पात्र हैं. SBI की VRS स्कीम ऐसे सभी स्थायी अधिकारियों और स्टाफ के लिए खुली होगी, जिन्होंने निर्धारित तारीख तक बैंक को 25 साल की सेवा दी होगी या 55 साल की उम्र पूरी कर चुके होंगे. स्कीम 1 दिसंबर से फरवरी आखिर तक खुली रहेगी. इसी अवधि में VRS के लिए आवेदन स्वीकार किए जाएंगे. प्रस्तावित एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया के मुताबिक, कुल 11565 अधिकारी और 18625 स्टाफ मेंबर्स वीआरएस स्कीम के लिए पात्र होंगे.

जिन स्टाफ मेंबर्स की VRS के तहत रिटायरमेंट की अपील मानी जाएगी, उन्हें वास्तविक रिटायरमेंट डेट तक बची हुई सेवा अवधि के लिए सैलरी का 50 फीसदी एक्स ग्रेशिया के रूप में मिलेगा. अन्य फायदे जैसे ग्रेच्युटी, पेंशन, प्रोविडेंट फंड और मेडिकल बेनिफिट्स भी VRS लेने वाले इंप्लॉइज को मिलेंगे. स्कीम के तहत रिटायर होने वाले स्टाफ मेंबर रिटायरमेंट की तारीख से लेकर 2 साल तक की निश्चित समयावधि के बाद बैंक के साथ दोबारा जुड़ने के योग्य होंगे.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. करियर
  3. SBI में बंपर जॉब! इस साल 14,000 नियुक्तियां करेगा बैंक, क्या है प्लानिंग

Go to Top