मुख्य समाचार:
  1. 1500 लोगों को जॉब देगी Nissan, चेक कर लें अपनी प्रोफाइल

1500 लोगों को जॉब देगी Nissan, चेक कर लें अपनी प्रोफाइल

Nissan भारत में अपने को रिवाइव करने के लिए निसान और डैटसन ब्रांड की अलग-अलग डीलरशिप नेटवर्क खड़ा करेगी. देश के छोटे शहरों में इस प्लान को लेकर अधिक फोकस होगा.

September 6, 2018 6:37 PM
Nissan hiring, Nissan R&D and global digital hub, Jobs in Auto sector, Nissan latest plan for india, Indian automobile industry, Jobs in india, SIAMNissan भारत में अपने को रिवाइव करने के लिए निसान और डैटसन ब्रांड की अलग-अलग डीलरशिप नेटवर्क खड़ा करेगी. देश के छोटे शहरों में इस प्लान को लेकर अधिक फोकस होगा. (Reuters)

जापानी आॅटो कंपनी निसान भारत में 1500 लोगों की नियुक्ति करने की तैयारी में है. कंपनी का कहना है कि वह R&D और ग्लोबल डिजिटल हब को मजबूत करने के लिए यह नियुक्तियां करेगी. कंपनी का यह भी कहना है कि वह अपने चेन्नई मैन्युफैक्चरिंग यूनिट का ‘वॉलेंटरी सेपरेशन’ करेगी.

कंपनी भारत में अपने को रिवाइव करने के लिए निसान और डैटसन ब्रांड की अलग-अलग डीलरशिप नेटवर्क खड़ा करेगी. देश के छोटे शहरों में इस प्लान को लेकर अधिक फोकस होगा.

प्रीमियम मार्केट के लिए Nissan की ब्रांडिंग

निसान के चेयरमैन अफ्रीका, मिडिल ईस्ट और इंडिया, पेमन कारगर का कहना है कि स्ट्रैटजी के तहत, कंपनी निसान ब्रांड को अपर-एंड यानी प्रीमियम मार्केट के लिहाज से डेवलप करेगी. जबकि, डैटसन ब्रांड मास मार्केट की डिमांड के अनुसार काम करेगा.

2019 में लाएगी SUV

सिआम के सालाना कन्वेंशन के इतर उन्होंने बताया कि निसान भारतीय बाजार में नए प्रोडक्ट ला रही है. 2019 में SUV के साथ इसकी शुरुआत होगी. उन्होंने बताया कि कंपनी ने चेन्नई के पास अपने आरएंडडी सेंटर के लिए करीब 7000 लोगों को नियुक्त किया है. इस साल आरएंडडी सेंटर के लिए 1000 और अन्य 500 लोगों को नए स्थापित डिजिटल हब के लिए किया जाएगा.

क्यों हुई है ​नियुक्ति?

कंपनी ने भारत में व्हीकल डेवलप करने और रेनो के साथ भागीदारी में इंजीनियरिंग गतिविधियों को संभालने के लिए यह नियुक्तियां की हैं. आने वाले सालों में भारत में वर्कफोर्स को और बढ़ाया जाएगा जोकि बेहद स्किल्ड जॉब होगी. खासकर य​ह नियुक्तियां भारतीय आॅटो इंडस्ट्री में आने वाले तकनीकी बदलावों की अगुवाई के लिए होंगी.

मैन्युफैक्चरिंग प्लांट में कम होगी वर्कफोर्स

दूसरी ओर, पेमन कारगर ने बताया कि मैन्युफैक्चरिंग से अधिक वर्कफोर्स को कम किया जाएगा. उन्होंने बताया कि हम जहां हमें जरूरत नहीं है, वहां स्टॉफ के लिए वॉलेटरी डिपॉर्चर भी आॅफर करेंगे. हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि कितने कर्मचारियों की छंटनी होगी.

Go to Top