मुख्य समाचार:
  1. IAS प्रतियोगियों के लिए खुशखबरी! जनरल कैटेगरी के उम्मीदवारों को सिविल सर्विस परीक्षा के लिए मिल सकते हैं ज्यादा मौके

IAS प्रतियोगियों के लिए खुशखबरी! जनरल कैटेगरी के उम्मीदवारों को सिविल सर्विस परीक्षा के लिए मिल सकते हैं ज्यादा मौके

OBC कैटेगरी के उम्मीदवारों को भी फायदा मिल सकता है.

January 11, 2019 6:31 PM
Good news for IAS aspirants, General category candidates, civil services exam, Reservation Bill, job aspirants from general category, OBC candidates, IAS exam latest updates, UPSC Exam latest updates, SC/ST candidates, Age limit for UPSC examOBC कैटेगरी के उम्मीदवारों को भी फायदा मिल सकता है.

Good news for IAS aspirants : जनरल कैटेगरी (सामान्य वर्ग) में कमजोर वित्तीय स्थिति वालों को 10 फीसदी आरक्षण की बड़ी राहत देने के बाद केंद्र सरकार सामान्य वर्ग के लोगों को एक और बड़ी सौगात देने की तैयारी कर रही है. इसके तहत सरकारी नौकरी के लिए तैयारी कर रहे सामान्य वर्ग के लोगों के लिए अधिकतम उम्र सीमा बढ़ाई जा सकती है. इसके अलावा, देश की सबसे प्रतिष्ठित सेवा में जाने के लिए होने वाली सिविल परीक्षा यूपीएससी में बैठने के लिए अवसर बढ़ाए जाएंगे.  इसकी जानकारी राज्यसभा में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के एक वरिष्ठ नेता ने FE online को दी. उन्होंने कहा कि इससे जुड़े विधेयक को सरकार जल्द ही पेश करेगी.

इससे पहले केंद्र सरकार ने 7 जनवरी को सामान्य वर्ग में कमजोर वित्तीय स्थिति वालों को 10 फीसदी आरक्षण देने से संबंधित विधेयक पेश किया था. इसके तहत 8 लाख रुपये से कम आय वाले परिवार के बच्चों को जो सामान्य वर्ग में आते हैं, उन्हे अब आरक्षण देने का प्रावधान किया गया है. यह स्थिति ठीक उसी प्रकार है जैसे ओबीसी वर्ग में क्रीमी लेयर की व्यवस्था है. क्रीमी लेयर व्यवस्था के तहत एक निश्चित सालाना आय के लोगों को आर्थिक रूप से संपन्न मान लिया जाता है और यह समझा जाता है कि उन्हें आरक्षण देने की आवश्यकता खत्म हो गई है.

अभी यह है नियम

प्रस्तावित विधेयक के पारित होने के बाद सिर्फ सामान्य वर्ग के लोगों को ही नहीं, पिछड़े वर्ग (OBC) के लोगों को भी फायदा मिलेगा। वर्तमान नियमों के मुताबिक सामान्य वर्ग के लोगों को 32 साल की उम्र तक UPSC पास करने के लिए सिर्फ छह अवसर मिलते हैं और OBC वर्ग के लोगों को 35 वर्ष की उम्र तक सिर्फ 9 अवसर मिलते हैं. SC और ST वर्ग के लोगों को 37 वर्ष की उम्र पूरी होने तक UPSC परीक्षा में बैठने की अनुमति मिलती है और अवसरों की कोई बाध्यता नहीं है.

(स्टोरी: कृष्णानंद त्रिपाठी)

Also read in English : Good news for IAS aspirants: General category candidates set to get more chances to crack civil services exam

 

Go to Top