scorecardresearch

Zomato का शेयर दे सकता है 127% रिटर्न, IPO प्राइस से भी 42% डिस्काउंट पर निवेश का मौका

इस साल अबतक Zomato के शेयर में 69 फीसदी गिरावट रही है. जबकि आईपीओ प्राइस से 42 फीसदी कमजोरी शेयर में आ चुकी है.

आज Zomato का शेयर 6 फीसदी से ज्यादा टूटकर 44 रुपये के लेवल पर आ गया. (fime)

Zomato Shares Fall to Record Low: ऑनलाइन फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म जोमैटो (Zomato) के शेयरों में आज भी भारी गिरावट देखने को मिल रही है. आज Zomato का शेयर 6 फीसदी से ज्यादा टूटकर 44 रुपये के लेवल पर आ गया. यह अबतक का सबसे निचला लेवल है. 2 दिनों में शेयर में 18 फीसदी गिरावट रही है. 613 करोड़ शेयरों या करीब 78 फीसदी शेयरों का लॉक-इन पीरियड खत्म होने के बाद शेयर में भारी बिकवाली देखने को मिल रही है. असल में इस यरोयर पर इस साल के शुरू से ही दबाव बना हुआ है, जिससे लॉक-इन पीरियड के बाद यह बिकवाली आई है. शेयर अपने रिकॉर्ड हाई से 74 फीसदी टूट चुका है. हालांकि ग्लोबल ब्रोकरेज हाउस जेफरीज ने इसे खरीदारी का मौका बताया है.

127 फीसदी रिटर्न संभव

ब्रोकरेज हाउस जेफरीज ने Zomato के शेयरों में निवेश की सलाह दी है और टारगेट प्राइस 100 रुपए तय किया है. आज के लो 44 रुपये से देखें तो इस शेयर में 127 फीसदी रिटर्न संभव है. ब्रोकरेज का कहना है कि शेयर इस साल के शुरू से ही दबाव में है और इसमें करीब 70 फीसदी के गिरावट आ चुकी है. जेफरीज को उम्मीद है कि इस सेगमेंट की प्रॉफिटेबिलिटी सुधरेगी, इंडस्ट्री का स्ट्रक्चर पहले से ज्यादा बेहतर होगा और आने वाले दिनों में कंपनी कैश बचा पाएगी. अभी रेट हाइक साइकिल और महंगाई के चलते पूरा सेक्टर ही दबाव का सामना कर रहा है. ब्रोकरेज का मानना है कि बुल केस में शेयर का भाव 160 रुपये जा सकता है. जबकि बियर केस में यह 40 रुपये तक कमजोर हो सकता है.

Axis Bank के साथ 44% रिटर्न पाने का मौका, लंबे समय से दायरे में फंसा है स्टॉक, अब बना सकता है रिकॉर्ड हाई

Blinkit के अधिग्रहण का फायदा

ब्रोकरेज हाउस का कहना है कि Zomato को क्विक कॉमर्स कंपनी Blinkit के अधिग्रहण का फायदा होगा. हाल ही में कंपनी मैनेजमेंट ने ब्लिंक कॉमर्स के 33,018 इक्विटी शेयरों के अधिग्रहण को मंजूरी दी थी. इस अधिग्रहण से मुनाफा बेहतर होगा. Zomato के ग्रॉस आर्डर वैल्यू में 20 फीसदी इजाफा इसकी वजह से संभव है. Blinkit का कामकाज 15 शहरों में फैला है. कंपनी का एवरेज डिलीवरी टाइम 15 मिनट से कम है. एवरेज ऑर्डर वैल्यू जोमैटो के मुकाबले ज्यादा है. मई में Blinkit ने करीब 79 लाख ऑर्डर दर्ज किए थे और एवरेज ऑर्डर वैल्यू 509 रुपये थी. ऐसे में जोमेटो को अपने डिलीवरी फ्लीट का बेहतर उपयोग करने में भी मदद मिलेगी.

रिकॉर्ड हाई से 74 फीसदी टूटा शेयर

Zomato का शेयर पिछले साल 23 जुलाई 2021 को शेयर बाजार में लिस्ट हुआ था. कंपनी का आईपीओ प्राइस 76 रुपये था. जबकि कंपनी का शेयर बीएसई पर 51 फीसद प्रीमियम के साथ 115 रुपये पर लिस्ट हुआ था. वहीं लिस्ट होने के बाद से शेयर 169 रुपये के भाव तक पहुंच गया जो रिकॉर्ड हाई है. अब यह 44 रुपये पर आ गया है. यानी रिकॉर्ड हाई से इसमें 74 फीसदी की गिरावट आ चुकी है. इस साल अबतक शेयर में 69 फीसदी गिरावट रही है. जबकि आईपीओ प्राइस से 42 फीसदी कमजोरी शेयर में आई है. बता दें कि लॉक इन पीरियड का नियम उन कंपनियों पर लागू होता है, जिनके प्रमोटर्स नहीं होते हैं. Zomato में प्रमोटर्स की होल्डिंग जीरो है.

(Disclaimer: स्टॉक में निवेश की सलाह ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई है. यह फाइनेंशियल एक्सप्रेस के निजी विचार नहीं हैं. बाजार में जोखिम होते हैं, इसलिए निवेश के पहले एक्सपर्ट की राय लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News