scorecardresearch

Zomato Outlook: जोमैटो में तेज गिरावट निवेश का गोल्डेन चांस, मार्केट एक्सपर्ट्स ने पैसे लगाने को लेकर दी ये सलाह

Zomato Outlook: जोमैटो के भाव इस साल अब तक करीब 34 फीसदी तक टूट चुके हैं. हालांकि अब मार्केट एनालिस्ट्स का मानना है कि इसमें तेज उछाल दिख सकता है.

Zomato share price falls 34 percent this year 2022 know about what should investors do suggest brokerage firm
कोटक सिक्योरिटीज ने जोमैटो में निवेश के लिए 170 रुपये प्रति शेयर का फेयर वैल्यू तय किया है.

Zomato Outlook: ऑनलाइन फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म जोमैटो के शेयरों में आज बिकवाली के बाद फिर तेजी दिखी. आज (25 जनवरी) इसके भाव 84.1 रुपये के निचले स्तर तक फिसल गए थे जो 52 हफ्ते का रिकॉर्ड निचला स्तर है. हालांकि फिर यह संभल गया और इसमें अब करीब चार फीसदी की तेजी दिख रही है. इस साल अब तक इसके भाव करीब 34 फीसदी तक टूट चुके हैं. हालांकि अब ब्रोकरेज फर्म कोटक सिक्योरिटीज का मानना है कि इसमें तेज उछाल दिख सकता है.

एनालिस्ट्स ने जोमैटो के भाव में तेज गिरावट का निवेशकों को फायदा उठाने की सलाह दी है और इसकी खरीदारी की रेटिंग को बरकरार रखा है. ब्रोकरेज फर्म के मुताबिक वैश्विक तकनीकी स्टॉक्स में गिरावट के चलते ही इसमें बिकवाली का दबाव दिख रहा है. कोटक सिक्योरिटीज ने इसमें निवेश के लिए 170 रुपये प्रति शेयर का फेयर वैल्यू तय किया है.

Budget 2022: बजट से पहले आता है इकोनॉमिक सर्वे, क्यों है यह इतना जरूरी डॉक्यूमेंट? यहां जानिए डिटेल्स से

वैश्विक तकनीकी शेयरों में बिकवाली से बिगड़ा सेंटिमेंट

जोमैटो के शेयर पिछले साल जुलाई में लिस्ट हुए थे. इसने निवेशकों को काफी आकर्षित किया और अभी भी यह 72-76 रुपये प्रति शेयर के इश्यू प्राइस से ऊपर है. कोटक सिक्योरिटीज का मानना है कि अभी जो इसमें गिरावट दिख रही है, उसके पीछे वैश्विक तकनीकी कंपनियों की कमजोरी है. अमेरिकी नास्डाक जिसमें सबसे अधिक हिस्सा तकनीकी कंपनियों का है, में 15.7 फीसदी की गिरावट आ चुकी है. सैन फ्रांसिस्को की ऑनलाइन फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म DoorDash भी 24.9 फीसदी टूट चुका है. डिलीवरी हीरो 30.3 फीसदी और डिलीवरू 24.1 फीसदी टूटा है. इनके चलते जोमैटो को लेकर भी निवेशकों का सेंटिमेंट निगेटिव हुआ.

Zomato को लेकर मार्केट एनालिस्ट्स पॉजिटिव

  • कोटक सिक्योरिटीज के मुताबिक जोमैटो का कारोबार बहुत मजबूत है. भारतीय बाजार में इसकी मुख्य प्रतिद्वंद्वी स्विगी (Swiggy) का पिछले साल 2021 की पहली छमाही में ग्रॉस मार्केट वैल्यू (GMV) 95.4 लाख करोड़ डॉलर (7128.67 करोड़ रुपये) का था जबकि जोमैटो का फूड डिलीवरी जीएमवी समान अवधि में 105 करोड़ डॉलर (7846.02 करोड़ रुपये) रहा. ब्रोकरेज फर्म के मुताबिक किसी नए प्लेयर के इस सेग्मेंट में प्रवेश की संभावना नहीं दिख रही है तो जोमैटो की मजबूत स्थिति बनी हुई है.

Zomato और Nykaa समेत इन कंपनियों के शेयर लुढ़के, क्या आपको करना चाहिए निवेश, जानें एक्सपर्ट्स की राय

  • जोमैटो अपने कारोबार का विस्तार कर रही है और इसने ब्लिंकिट (पूर्व नाम ग्रोफर्स) की 9 फीसदी हिस्सेदारी 10 करोड़ डॉलर (747.10 करोड़ रुपये) में खरीदी है.कोटक सिक्योरिटीज का अनुमान है कि जोमैटो ब्लिंकिट में अपनी हिस्सेदारी बढ़ा सकती है या अगले 6-12 महीने में हाइपरलोकल ग्रॉसरी डिलीवरी स्पेस में अपनी स्थिति मजबूत करने के लिए निवेश बढ़ा सकती है. जोमैटो ने ब्लिंकिट के अलावा मैगिकपिन और शिपरॉकेट में भी निवेश किया है. सितंबर 2021 तिमाही के उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक कंपनी के पास करीब 190 करोड़ डॉलर (14.2 हजार करोड़ रुपये) की नगदी है तो ऐसे में कोटक सिक्योरिटीज का मानना है कि कंपनी अपने नुकसान की भरपाई करने में सक्षम है और ग्रोफर्स में नया निवेश कर सकती है.
  • कोटक सिक्योरिटीज के एनालिस्ट्स के मुताबिक लांग टर्म में कंपनी की ग्रोथ बेहतर दिख रही है. एनालिस्ट्स ने इसमें निवेश के लिए 170 रुपये प्रति शेयर का फेयर वैल्यू तय किया है जो मौजूदा भाव से 100 फीसदी अधिक है.

(आर्टिकल: क्षितिज भार्गव)

(स्टोरी में दिए गए स्टॉक रिकमंडेशन संबंधित रिसर्च एनालिस्ट व ब्रोकरेज फर्म के हैं. फाइनेंशियल एक्सप्रेस ऑनलाइन इनकी कोई जिम्मेदारी नहीं लेता. पूंजी बाजार में निवेश जोखिमों के अधीन हैं. निवेश से पहले अपने सलाहकार से जरूर परामर्श कर लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News