मुख्य समाचार:

FPO शेयर लिस्टिंग से Yes बैंक​ में लोअर सर्किट, फ्लोर प्राइस जारी होने के बाद से 59% गिरावट

Yes Bank Share Price: यस बैंक के शेयरों में सोमवार को लोअर सर्किट लगा है.

Updated: Jul 27, 2020 3:15 PM
Yes Bank, yes bank FPO, lower circuit in Yes Bank, floor price, yes bank stock tank up to 10% in Monday trading, private bank Yes Bank, yes bank market cap, यस बैंक, यस बैंक का फॉलो ऑन पब्लिक ऑफर, यस बैंक का एफपीओ, यस बैंक में लोअर सर्किटYes Bank Share Price: यस बैंक के शेयरों में सोमवार को लोअर सर्किट लगा है.

Yes Bank Share Price: यस बैंक के शेयरों में सोमवार को 10 फीसदी का लोअर सर्किट लगा है. बीएसई पर शेयर करीब 10 फीसदी टूटकर 12.30 रुपये के भाव पर आ गया. यस बैंक का फॉलो ऑन पब्लिक ऑफर (एफपीओ) का शेयर आज स्टॉक मार्केट में लिस्ट हुआ है. एफपीओ में कारोबार शुरू होने के बाद यस बैंक में 10 फीसदी गिरावट आ गई. बता दें कि यस बैंक के फॉलो ऑन ऑफर (FPO) का फ्लोर प्राइस घोषित करने के बाद से ही बैंक के शेयरों में लगातार गिरावट जारी है. गुरूवार को भी इसमें 20 फीसदी का लोअर सर्किट लगा था.

फ्लोर प्राइस जारी होने के बाद से बड़ी गिरावट

बैंक के FPO का फ्लोर प्राइस 12 रुपए प्रति शेयर तय किए गए थे जो 9 जून के मार्केट प्राइस के मुकाबले 60 फीसदी डिस्काउंट पर था. फ्लोर प्राइस तय होने से लेकर अब तक यस बैंक के शेयरों में करीब 59 फीसदी की गिरावट आ चुकी है. यस बैंक का फॉलो ऑन पब्लिक ऑफर (एफपीओ) देश का अब तक का सबसे बड़ा एफपीओ रहा है. 15,000 करोड़ रुपए के इस इश्यू को 95 फीसदी से ज्यादा यानी 14,267 करोड़ रुपए का सब्सक्रिप्शन मिला. इसका मतलब यह है कि बैंक ने इस ऑफर के जरिये बाजार से 14,267 करोड़ रुपए की नई शेयर पूंजी जुटाई है.

इसी साल रेस्क्यू प्लान को मंजूरी

इस साल 13 मार्च को सरकार ने SBI के सपोर्ट से येस बैंक के रेसक्यू प्लान को मंजूरी दी थी. इस प्लान के तहत SBI, HDFC, ICICI बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, बंधन बैंक, फेडरल बैंक और IDFC बैंक ने येस बैंक में 10,000 करोड़ रुपए निवेश किए थे. SBI ने 6050 करोड़ रुपए के निवेश से येस बैंक में 48.3 फीसदी हिस्सेदारी ली थी. रेसक्यू प्रोसेस के तहत मार्च में यस बैंक का 8415 करोड़ रुपए का AT1 बॉन्ड बैलेंस शीट से हटा दिया गया था.

रिकॉर्ड हाई से 97% टूटा शेयर

यस बैंक के शेयर ने 20 अगस्त 2018 को अपना ऑलटाइम हाई बनाया और शेयर 404 रुपये के भाव पर पहुंच गया. लेकिन 20 अगस्त के बाद से अबतक शेयर में लगातार गिरावट आई है. 27 जुलाई 2020 को शेयर 12.30 रुपये के भाव पर आ गया. यानी रिकॉर्ड हाई से करीब 97 फीसदी गिरावट आ गई.

बैंक को लेकर रहे हैं कुछ इश्यू

यस बैंक के साथ पिछले कुछ महीनों से कई इश्यू रहे हैं. बैंक को सबसे ज्यादा नुकसान मैनेजमेंट को लेकर अनिश्चितता की वजह से हुई. वहीं, बैंक का एक्सपोजर कुछ ऐसी कंपनियों में हैं, जिनके साथ अभी फाइनेंशियल फ्रॉड के मामले सामने आए हैं. वहीं, पिछले दिनों बैंक के तिमाही नतीजों को लेकर भी कुछ सवाल उठे थे.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. FPO शेयर लिस्टिंग से Yes बैंक​ में लोअर सर्किट, फ्लोर प्राइस जारी होने के बाद से 59% गिरावट

Go to Top