सर्वाधिक पढ़ी गईं

YES BANK SCAM: CBI ने मुंबई में 7 जगहों पर की छापेमारी, FIR में राणा कपूर के परिवार को बनाया आरोपी

राणा कपूर के अलावा CBI ने उनकी पत्नी बिंदु, बेटी रोशिनी, राखी और राधा पर मुकदमा किया है. 

March 9, 2020 4:51 PM
Yes Bank scam CBI searches 7 locations in Mumbai bank founder Rana Kapoor's family named as accused in FIRराणा कपूर के अलावा CBI ने उनकी पत्नी बिंदु, बेटी रोशिनी, राखी और राधा पर मुकदमा किया है.  (PTI)

YES BANK Crisis: यस बैंक मामले में केंद्रीय जांच एजेंसी CBI ने सोमवार को घोटालों से ग्रसित DHFL की ओर से यस बैंक के फाउंडर राणा कपूर के परिवार को कथित रूप से 600 करोड़ रुपये की रिश्वत देने के मामले में सात स्थानों पर छापे मारे. सीबीआई ने अपनी प्राथिमिकी (FIR) में पांच कंपनियों, कपूर की पत्नी और तीन बेटियों सहित सात व्यक्तियों और अन्य अज्ञात लोगों को नामजद किया है. राणा कपूर के अलावा एजेंसी ने उनकी पत्नी बिंदु, बेटी रोशिनी, राखी और राधा पर मुकदमा किया है.

अधिकारियों ने बताया कि दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड (DHFL) के प्रमोटर कपिल वाधवन और डीएचएफएल से संबंधित कंपनी आरकेडब्ल्यू डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक धीरज राजेश कुमार वाधवन को भी आरोपी बनाया गया है. इसके अलावा डीएचएफएल, आरकेडब्ल्यू डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड, कपूर परिवार के नियंत्रण वाली डीओआईटी अर्बन वेंचर्स, आरएबी एंटरप्राइजेज (लिंडिया) प्राइवेट लिमिटेड (जिसमें बिंदु राणा कपूर निदेशक थीं) और मॉर्गन क्रेडिट्स प्राइवेट लिमिटेड (जिसमें राणा कपूर की बेटियां निदेशक थीं) को भी आरोपी बनाया गया है.

YES BANK कस्टमर्स अलर्ट! इस हफ्ते हट सकती है 50 हजार की निकासी लिमिट, SBI में नहीं होगा विलय

आरोपियों के घर-दफ्तर पर छापेमारी

अधिकारियों ने बताया कि सीबीआई अधिकारियों के दल मुंबई में आरोपियों के आवास और आधिकारिक परिसरों में तलाशी ले रहे हैं. एजेंसी का आरोप है कि कपूर ने डीएचएफएल के प्रमोटर कपिल वाधवन के साथ आपराधिक षड्यंत्र कर यस बैंक के माध्यम से डीएचएफएल को वित्तीय सहायता मुहैया कराई और उसके बदले राणा के परिवार के सदस्यों को अनुचित लाभ मिला.

अप्रैल-जून, 2018 के बीच शुरू हुआ घोटाला

CBI की प्राथमिकी के अनुसार घोटाला अप्रैल और जून, 2018 के बीच शुरू हुआ, जब यस बैंक ने दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड (DHFL) के शार्ट टर्म डिबेंचर्स में 3,700 करोड़ रुपये का निवेश किया था. उन्होंने कहा कि इसके बदले वाधवन ने कथित रूप से कपूर और उनके परिवार के सदस्यों को 600 करोड़ रुपये का फायदा पहुंचाया. उन्होंने कहा कि यह लाभ डीओआईटी अर्बन वेंचर्स (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड को कर्ज के रूप में दिया गया.

YES BANK खाताधारकों को मिलेगी बड़ी राहत

बता दें, बीते 6 मार्च को रिजर्व बैंक ने यस बैंक के बोर्ड को भंग कर एसबीआई के पूर्व सीएफओ प्रशांत कुमार को बैंक का एडमिनिस्ट्रेटर नियुक्त कर दिया. साथ ही खाताधारकों के लिए निकासी की सीमा 50,000 रुपये कर रखी है. जोकि 3 अप्रैल तक है. इस बीच, रिजर्व बैंक ने यस बैंक का रिवाइवल प्लान जारी कर दिया है. जिसके मुताबिक एसबीआई ने यस बैंक में 49 फीसदी हिस्सेदारी 2450 करोड़ रुपये में खरीदने की इच्छा जताई है. सोमवार को यस बैंक के एडमिनिस्ट्रेटर प्रशांत कुमार ने एक टीवी इंटरव्यू में बताया कि खाताधारकों के हितों को प्राथमिकता दी जाएगी. इस हफ्ते निकासी लिमिट हट सकती है.

 

Input: PTI

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. YES BANK SCAM: CBI ने मुंबई में 7 जगहों पर की छापेमारी, FIR में राणा कपूर के परिवार को बनाया आरोपी

Go to Top